• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Jahajpur News
  • कथा| कथावाचक जिया ने कहा कि नरसी मेहता गरीब जरूर थे पर भक्ति के मामले में अमीर थे
--Advertisement--

कथा| कथावाचक जिया ने कहा कि नरसी मेहता गरीब जरूर थे पर भक्ति के मामले में अमीर थे

कस्बे के बस स्टैंड के पास किशन वाटिका में चल रही नानी बाई रो मायरो कथा के दूसरे दिन रविवार को कथा वाचक जिया ने कहा कि...

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 03:50 AM IST
कस्बे के बस स्टैंड के पास किशन वाटिका में चल रही नानी बाई रो मायरो कथा के दूसरे दिन रविवार को कथा वाचक जिया ने कहा कि नरसी मेहता गरीब जरूर थे पर भक्ति के मामले में वह अमीर थे। उनके पास भगवान का आशीर्वाद था।

कुछ नहीं होते हुए भी वह टूटी बैलगाड़ी में अपने सामान भरकर मायरा भरने गए। जहां भगवान स्वयं रूप बदल कर वहां आए। उनके टूटे-फूटे सामान को सोना-चांदी व महंगे कपड़ों में तब्दील कर दिया। इसे देखकर भक्त नरसी मेहता गदगद हो गए। जिया ने कहा कि भक्तों के संकट के समय भगवान मदद करते हैं। भक्त की भावना भगवान के प्रति अटूट होनी चाहिए। कथा में विभिन्न झांकियां सजाई गई। शाम को हनुमान चरित्र कथा का वाचन चंद्रमोहन पंचारिया ने किया। सोमवार को कथा का समापन होगा। कथा सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक हो रही है। शाम 7 बजे से रात 10 बजे तक हनुमंत चरित्र कथा का आयोजन हो रहा है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..