• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Jahajpur News
  • एक साल पहले हुई थी फौजी से मारपीट, 11 दिन पहले छुट्टी पर आया और युवक को खंजर से मार डाला, गिरफ्तार
--Advertisement--

एक साल पहले हुई थी फौजी से मारपीट, 11 दिन पहले छुट्टी पर आया और युवक को खंजर से मार डाला, गिरफ्तार

जालमपुरा गांव में शनिवार रात छुट्टी पर आए फौजी ने एक घर में घुसकर अकेले साे रहे युवक संतोष मीणा (32) पर खंजर से वार कर...

Dainik Bhaskar

Jul 30, 2018, 04:00 AM IST
एक साल पहले हुई थी फौजी से मारपीट, 11 दिन पहले छुट्टी पर आया और युवक को खंजर से मार डाला, गिरफ्तार
जालमपुरा गांव में शनिवार रात छुट्टी पर आए फौजी ने एक घर में घुसकर अकेले साे रहे युवक संतोष मीणा (32) पर खंजर से वार कर हत्या कर दी। पुलिस ने वारदात के 12 घंटे बाद आरोपी फौजी निर्मलकुमार मीणा को गिरफ्तार कर लिया। उसका साथी मुकेश उर्फ मनराज फरार है। पुलिस ने 18 अन्य लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। हत्या का कारण पिछले साल हुई मारपीट की रंजिश बताया गया है। आरोपी निर्मल कुमार 12 राष्ट्रीय राइफल्स में जम्मू कश्मीर के बनीपाल में तैनात है। उसने पुलिस को बताया कि पिछले साल 4 जुलाई को संतोष व उसके साथी उम्मेद ने उसके व साथी मनीष के साथ मारपीट की थी। उसी दिन उसने संतोष की हत्या करने की ठान ली थी। 17 जुलाई को निर्मल छुट्टी पर गांव आया। शनिवार शाम उसने मनीष के भाई मुकेश के साथ संतोष की हत्या की योजना बनाई।

निर्मल कुमार

संतोष कुमार

िनगेटिव न्यूज | 17 को छुट्टी पर आया था फौजी, साथी के साथ रची साजिश, साथी फरार

आक्रोशित लोगों ने संतोष के घर पर ताला लगा 4 घंटे देवली मार्ग पर जाम लगाया, पुलिस ने खदेड़ा... आक्रोशित ग्रामीणों ने संतोष के मकान पर ताला लगा दिया। जालमपुरा चौराहे पर भीलवाड़ा-देवली मार्ग पर जाम भी लगाया। 4 घंटे बाद पुलिस ने लाठियां भांजकर लोगों को खदेड़ते हुए जाम खुलवाया।

रैकी भी की थी... ग्रामीणों ने कहा कि फौजी निर्मल व उसका साथी कुछ दिनों से संतोष के घर के आसपास दिखाई देते थे। दोनों रैकी कर रहे थे। शनिवार रात 12 बजे संतोष को घर में अकेला सोता देखा और मौका पाकर दोनों नं उसके घर में घुसकर खंजर घोंप दिया। रविवार सुबह एसपी डॉ. रामेश्वर सिंह, डीवाईएसपी रामेश्वर लाल परिहार, थानाप्रभारी पन्नालाल जांगिड़ जाब्ते के साथ पहुंचे। एसपी सिंह ने बताया कि संतोष ट्रेलर चालक था, लेकिन एक महीने से घर पर ही था। आरोपी निर्मल की निशानदेही पर पुलिस ने घर में छुपाकर रखा हत्या में प्रयुक्त खंजर व खून सने कपड़े बरामद कर लिए।

ग्रामीणों का आरोप-चरागाह पर बनी होटल पर अपराधियों का जमावड़ा, प्रशासन ने जेसीबी से ध्वस्त की

जालमपुरा गांव में युवक की हत्या के बाद ग्रामीणों ने भीलवाड़ा-देवली मार्ग जाम कर दिया। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को ग्रामीणों ने बताया कि जालमपुरा चौराहे के पास चारागाह पर अवैध रूप से होटल व केबिन लगी है। यहां अवैध रूप से शराब बिकती है। अपराधी प्रवृत्ति के लोगों का यहां जमावड़ा लगा रहता है। इस शिकायत पर तहसीलदार किशन मुरारी मीणा, थाना प्रभारी पन्नालाल जांगिड़ ने जहाजपुर नगर पालिका की जेसीबी बुलाई। रावतखेड़ा सरपंच विमला देवी मीणा एवं सचिव को मौके पर बुलाकर जेसीबी से होटल व केबिन को ध्वस्त कर दिया। केबिन ध्वस्त होने पर शराब के पव्वे व 7215 रुपए नकदी निकली। जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया।

घटना स्थल पर ही कराया पोस्टमार्टम... पुलिस ने बताया कि संतोष का पोस्टमार्टम घटनास्थल पर ही किया गया। शाम को उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। संतोष के पिता सीताराम भीलवाड़ा के महात्मा गांधी अस्पताल में कर्मचारी हैं। मां उनके साथ ही रहती हैं। संतोष का 7 साल का बेटा दादा-दादी के साथ रहता है जबकि प|ी नहीं है।

फौजी के पास रुका डॉग स्क्वाड तो हत्या करना कबूल कर लिया... एसपी सिंह ने बताया कि डॉग स्क्वाड फौजी के पास रुक गया। यह देखकर फौजी घबरा गया और उसने हत्या करना कबूल कर लिया। एफएसएल टीम भी सुबह जालमपुरा गांव पहुंची। संतोष के मकान से साक्ष्य जुटाए। फौजी बोला-पिछले साल की मारपीट का बदला लिया... फौजी निर्मल मीणा ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि 4 जुलाई 2017 को संतोष व उम्मेद ने उसके व मुकेश उर्फ मनराज के भाई मनीष से मारपीट की थी। तब से निर्मल कुमार ने रंजिश पाल ली थी। उसने मनराज को भी हत्या की वारदात को अंजाम देने के लिए तैयार किया। 17 जुलाई 2018 को वह अवकाश पर गांव आया था। 15 अगस्त को उसे ड्यूटी पर लौटना था।

विधायक व प्रधान ने परिवार को बंधाया ढांढस... अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अरुण, डीवाईएसपी सुरेश कुमार, दिनेश कुमार, रामेश्वर लाल परिहार, थाना प्रभारी पन्ना लाल जांगिड़ सहित पंडेर, हनुमान नगर व शकरगढ़ पुलिस थाने का जाब्ता तैनात रहा। विधायक धीरज गुर्जर, प्रधान शिवजीराम मीणा, पूर्व कस्टम अधिकारी शिवजीराम मीणा, गोपीचंद मीणा आदि जनप्रतिनिधि भी मौके पर पहुंचे।

ग्रामीणों ने कहा-संतोष को था जान का खतरा, पुलिस से मांगी थी सुरक्षा... ग्रामीणों ने बताया कि युवक संतोष को जान का खतरा था। इस कारण गत दिनों पुलिस को रिपोर्ट देकर सुरक्षा मांगी थी। पुलिस संतोष की रिपोर्ट को गंभीरता से लेती तो यह वारदात नहीं होती।

एक साल पहले हुई थी फौजी से मारपीट, 11 दिन पहले छुट्टी पर आया और युवक को खंजर से मार डाला, गिरफ्तार
एक साल पहले हुई थी फौजी से मारपीट, 11 दिन पहले छुट्टी पर आया और युवक को खंजर से मार डाला, गिरफ्तार
X
एक साल पहले हुई थी फौजी से मारपीट, 11 दिन पहले छुट्टी पर आया और युवक को खंजर से मार डाला, गिरफ्तार
एक साल पहले हुई थी फौजी से मारपीट, 11 दिन पहले छुट्टी पर आया और युवक को खंजर से मार डाला, गिरफ्तार
एक साल पहले हुई थी फौजी से मारपीट, 11 दिन पहले छुट्टी पर आया और युवक को खंजर से मार डाला, गिरफ्तार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..