विडंबना / प्रदेश में रोज 20 दुष्कर्म; सरकार का अजीब तर्क-अमेरिका और फ्रांस जैसे विकसित देशों से तो कम ही हैं



20 rapes are happening daily in Rajasthan
X
20 rapes are happening daily in Rajasthan

  • इस साल जून तक 3677 मामले दर्ज, पिछले 2 साल की तुलना में 99 फीसदी मामले बढ़े
  • पुलिस रिपोर्ट के अनुसार, जून 2017 तक 1843, जून 2018 तक 2587 सामने आए

Dainik Bhaskar

Sep 14, 2019, 01:13 AM IST

जयपुर. प्रदेश में बच्चियों, युवतियों एवं महिलाओं से दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं के बीच राज्य सरकार ने नया तर्क दिया है। प्रदेश में रोजाना औसतन 20 मामले दुष्कर्म के थानों तक पहुंच रहे हैं। अंदरखाने दबा दिए जाते हैं वह अलग। फिर भी सरकार का तर्क है कि स्वीडन, यूएसए, आइसलैंड, बेल्जियम, पनामा, फ्रांस, फिनलैड़, डेनमार्क, पैराग्वे एवं चिली जैसे देशों की तुलना में राजस्थान में कम ही है। कई विकसित देशों में दुष्कर्म के मामलों की दर एक लाख की आबादी पर 56.7 प्रतिशत जबकि, राजस्थान में एक लाख की आबादी पर दर्ज प्रकरणों की संख्या 10.4 प्रतिशत है। 
 

दुष्कर्म के 42% केस  में एफआर

पुलिस ने इस साल जून तक निस्तारित 2236 मामलों में 42% यानी 959 मामलों में एफआर लगाई। करीब 1277 प्रकरणों में चालान किया। 39% से ज्यादा यानी 1441 मामलों में जांच पेंडिंग। पुलिस ने एफआर मामले को झूठा मानते हुए सबूतों के अभाव में लगाना बताया। 

 

  • प्रदेश में दुष्कर्म के मामलों की संख्या में पिछले दो साल में यकायक बढ़ोतरी दर्ज की गई।
  • 2017 की तुलना में 99% तक दुष्कर्म के मामले बढ़े हैं।
  • पुलिस मुख्यालय के आंकड़े : जून 2017 तक 1843 मामले
  • जून 2018 तक 2587 मामले
  • 42% दुष्कर्म के मामले बढ़े: जून 2019 में 3677 मामले

 

जून तक गत सालों से दोगुने केस

2017 2018 2019
1843 2587 3677

ताज्जुब... सरकार के ये कदम भी लगाम नहीं लगा पा रहे हैं...

 

  • पुलिस मुख्यालय स्तर पर महिला अत्याचार निवारण प्रकोष्ठ।
  • थानों में पीड़ित महिलाओं व बच्चों के लिए महिला एवं बाल डेस्क।
  • सभी जिलों में महिला सलाह एवं सुरक्षा केंद्र कार्यरत हैं। 
  • महिला अत्याचार से जुड़े प्रकरणों का अनुसंधान करने के लिए जिला स्तर पर महिला सेल का गठन।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना