राजस्थान / गैंगस्टर पपला को भगाने वाले छह बदमाशाें की पहचान, 50-50 हजार रुपए का इनाम घाेषित



आकाश यादव, धर्मवीर गुर्जर व अशोक उर्फ मेजर। आकाश यादव, धर्मवीर गुर्जर व अशोक उर्फ मेजर।
दिनेश गुर्जर व दीक्षांत गुर्जर। दिनेश गुर्जर व दीक्षांत गुर्जर।
X
आकाश यादव, धर्मवीर गुर्जर व अशोक उर्फ मेजर।आकाश यादव, धर्मवीर गुर्जर व अशोक उर्फ मेजर।
दिनेश गुर्जर व दीक्षांत गुर्जर।दिनेश गुर्जर व दीक्षांत गुर्जर।

  • सभी बदमाश हरियाणा के रहने वाले हैं, पपला पर भी एक लाख का इनाम घोषित करने की तैयारी
  • बहराेड़ थाने में घुसकर एके 47 से फायरिंग कर गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर को छुड़ा ले गए थे बदमाश

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 06:23 AM IST

जयपुर/भिवाड़ी. बहराेड़ थाने में घुसकर एके 47 से फायरिंग कर गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर काे हवालात से छुड़ाकर ले जाने वाले छह बदमाशाें की एसओजी ने पहचान कर ली है। सभी बदमाश हरियाणा के रहने वाले हैं। इनमें से पांच बदमाश महेन्द्रगढ़ थाना इलाके के खैराेली तथा खैराेली बैरावास गांव तथा एक रेवाड़ी का रहने वाला है।


एसओजी एडीजी अनिल पालीवाल ने इन छह बदमाशाें पर 50-50 हजार रु. का इनाम घाेषित किया है। इसके अलावा पपला पर भी राजस्थान पुलिस एक लाख का इनाम घाेषित करने की तैयारी में है। हरियाणा पुलिस की ओर से पहले ही उस पर एक लाख का इनाम घाेषित है। एसओजी ने जिन 6 बदमाशाें की पहचान की है, उनमें से अधिकतर पर आपराधिक मामले दर्ज हैं।

 

एसओजी की जांच में सामने आया कि बहराेड़ थाने में पपला गुर्जर काे छुड़ाने के लिए साैदा करने का प्रयास करने वाले बहराेड़ के हिस्ट्रीशीटर विनाेद स्वामी की पपला की गैंग से कई बार बात हुई थी। बहराेड़ सीमा में आते ही इन बदमाशाें ने अपने माेबाइल बंद कर लिए और थाने के सामने मिले। इसके बाद हिस्ट्रीशीटर विनाेद स्वामी की मदद से थाने की रैकी की और फायरिंग कर पपला गुर्जर काे छुड़ा ले गए।

 

पपला को छुड़ाने में रेवाड़ी के झोटा व सीकरा गैंग के गुर्गों ने की थी मदद, 5 हिरासत में
पपला गुर्जर को छुड़ाने में नारनौल-रेवाड़ी की सीआईए टीम ने डॉक्टर गैंग से जुड़ी रेवाड़ी की झोटा गैंग व बावल की प्रदीप उर्फ सीकरा गैंग के पांच गुर्गों को हिरासत में लिया है। नारनौल-रेवाड़ी सीआईए ने इनसे पूछताछ कर रही है। इन बदमाशों की फोन लोकेशन घटना के समय बहरोड़ के आसपास की बताई जा रही है। इनमें पहला नाम झोटा गैंग से जुड़े राहुल का सामने आया है। रेवाड़ी सीआईए व एसओजी के टीम ने इनसे पूछताछ की है।

 

झोटा और डॉक्टर नारनौल जेल में बंद हैं। जेल में इस पूरी वारदात की प्लानिंग की गई थी। बहरोड़ पुलिस के हत्थे चढ़ने से पहले बदमाश विक्रम गुर्जर उर्फ पपला नीमराना की एक हाउसिंग कॉलोनी के फ्लैट में रुका था। फ्लैट का एसी खराब होने के कारण वह रात को गाड़ी लेकर हाईवे पर आ गया था। एटीएस व एसओजी की टीम ने इन फ्लैटों जांच की है। पपला गुर्जर की धरपकड़ के लिए हरियाणा और राजस्थान के पुलिस अधिकारियों सहित एसओजी के करीब 250 अफसर दिन-रात एक किए हुए हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना