--Advertisement--

बेटी को परेशान करता था, रोका तो पति-पत्नी का गला काट डाला

पुलिस ने संदिग्ध आरोपी की तलाश के साथ घटना के अन्य पहलुओं पर जांच शुरू कर दी है।

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 05:57 AM IST

भिवाड़ी (अलवर). काली खोली धाम परिक्रमा मार्ग पर दंपती की बुधवार देर रात धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। दुकानदार का शव दुकान में और पत्नी का शव दुकान से करीब 20 मीटर की दूरी पर सड़क पर मिला। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर भिवाड़ी सीएचसी की मोर्चरी में रखवाया। मृतक की 15 वर्षीय बेटी ने बताया कि एक युवक परिवार को काफी दिनों से परेशान कर रहा था। उसने जान से मारने की धमकी भी दी थी। पुलिस ने संदिग्ध आरोपी की तलाश के साथ घटना के अन्य पहलुओं पर जांच शुरू कर दी है।

गुरुवार तड़के काली खोली धाम मंदिर पर दर्शन करने जा रहे लोगों सड़क पर महिला का खून से लथपथ शव पड़ा होने की सूचना दी। मौके पर परिक्रमा मार्ग पर लगी प्रसादी की दुकानों के सामने शव पड़ा था। जांच करने पर समीप ही एक अस्थाई दुकान में उसके पति का शव भी मिला। उनकी पहचान उत्तरप्रदेश के आजमगढ़ निवासी रामेश्वर (40) व उसकी पत्नी उत्तम देवी (38) के रूप में हुई। वे कई साल से यहां अस्थाई दुकान चला रहे थे। एक माह से उन्होंने दुकान में ही सोना शुरु किया था। दंपती की 15 व 8 साल की दो बेटियां भी हैं। परिवार मंदिर के पास कॉलोनी में किराए के कमरे में रहता था। दंपती बुधवार रात रोज की तरह दुकान पर सोए और बेटियां कमरे पर थीं। इसी दौरान उनकी हत्या कर दी गई।

बेटी बोली- वो परेशान कर रहा था, दी थी मारने की धमकी
मौका ए वारदात पर पूछताछ के बाद पुलिस मृतकों के कमरे पर पहुंची। जहां उसकी 15 व 8 साल की बेटियां मिलीं। पुलिस उन्हें लेकर मौके पर पहुंची तो दोनों मां-बाप की हालत देख बदहवास हो गईं। बड़ी बेटी ला लमनी ने रोते हुए पुलिस को बताया कि ‘वो काफी दिन से परेशान कर रहा था, मां-बाप ने विरोध किया तो उसने जान से मारने की धमकी भी दी थी।’ ला लमनी के बयान के आधार पर पुलिस ने संदिग्ध युवक के
घर दबिश दी, लेकिन वह नहीं मिला। दंपती की तीन बेटियां है। एक की शादी हो चुकी है।


पड़ोस में रहता है संदिग्ध युवक
जानकारी के मुताबिक संदिग्ध आरोपी उनके पड़ोस में रहता है। वह काफी दिन से मृतक की बड़ी बेटी को परेशान कर रहा था। युवक का चालचलन भी ठीक नहीं था। पुलिस इस तथ्य से जुड़े सभी बिन्दुओं के आधार पर वारदात की जांच कर रही है। पुलिस की एफएसएल टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए हैं। डॉग स्क्वायड की मदद भी ली गई। मौके पर खून से सने जूते के निशान मिले हैं।