जयपुर

--Advertisement--

85 हजार रुपयों से भरी थैली उठा ले गई गाय, खाने के टिफिन को छुआ तक नहीं

व्यापारी की बाइक की डिक्की से खाने का टिफिन छोड़ Rs.85 हजार भरी थैली ले गई गाय, वापस मिले तो 2100 रुपए गोशाला को दिए

Danik Bhaskar

Jan 18, 2018, 07:16 AM IST
खाने की खुशबू से गाय वहां पहुंची और डिक्की खोलकर रुपए भरी थैली लेकर भाग गई। टिफिन डिक्की में ही पड़ा रहा। खाने की खुशबू से गाय वहां पहुंची और डिक्की खोलकर रुपए भरी थैली लेकर भाग गई। टिफिन डिक्की में ही पड़ा रहा।

भीलवाड़ा. राजस्थान के जहाजपुर में कस्बे में बुधवार दोपहर किराणा व्यापारी 160 रुपए पानी का बिल जमा कराने ई-मित्र पर गए। गाय आई और उनकी बाइक की डिक्की खोलकर 85 हजार रुपए भरी कपड़े की थैली मुंह में लेकर भाग गई। कुछ नोट सड़क पर बिखर गए। थैली से नोट गिरते देख लोगों ने गाय के मुंह से थैली छुड़ाई, लेकिन करीब तीन-चार हजार के खुल्ले नोट वह खा गई। कस्बे में पहली बार हुई ऐसी घटना को देख मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। व्यापारी ने भीड़ देखी तो वे कुछ समझ नहीं पाए। लोगों ने जब उनकी बाइक में रखी नोट की थैली गाय ले जाने की बात बताई तो वे भी हैरान रह गए। यह पूरा घटनाक्रम वहां एक दुकान पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया।

- संतोषनगर निवासी 60 वर्षीय व्यापारी प्रवीण चंद्र जैन ने बताया कि पास के गांव खोहरा कलां में उनकी किराना की दुकान है। परिवार जहाजपुर में रहता है। मंगलवार रात वे परिवार से मिलने यहां आए।

-दोपहर करीब ढाई बजे वे 85 हजार रुपए बाइक की डिक्की में रखकर नल कनेक्शन का बिल जमा कराने ई-मित्र के लिए निकले। दोपहर 2:50 बजे वे बस स्टैंड स्थित ई-मित्र पर पहुंचे। सड़क पर बाइक खड़ी कर गली में ई-मित्र पर गए।

...और व्यापारी भीड़ में खड़ा समझ रहा था एक्सीडेंट, लोग बचाने में लगे थे रुपए
- ई-मित्र से लौटने पर भीड़ देखकर व्यापारी जैन माजरा समझ नहीं पाए। उन्होंने सोचा कि एक्सीडेंट होने से भीड़ लगी है।

- लोगों से पूछा तो पता चला कि उनकी बाइक की डिक्की खोलकर गाय नोट भरी कपड़े की थैली लेकर भाग गई।

उधारी चुकाने के लिए लाया था रुपए

- व्यापारी प्रवीण चंद्र जैन ने बताया कि थैली में 85 हजार रुपए थे। किराणा सामान खरीदने व दुकान की उधारी चुकाने के लिए रुपए लेकर घर से निकला था।

- डिक्की में शाम के लिए खाने के लिए टिफिन भी रखा था। खाने की खुशबू से गाय वहां पहुंची और डिक्की खोलकर रुपए भरी थैली लेकर भाग गई। टिफिन डिक्की में ही पड़ा रहा।

कुछ नोट निगल गई गाय

- नकदी भरी थैली से कुछ नोट गाय खा गई, लेकिन बाकी रुपए मिल जाने पर व्यापारी जैन ने श्री गोपाल गोशाला बनास में 2100 रुपए भेंट किए।

- व्यापारी जैन की पत्नी कैलाश देवी जैन वर्ष 2000 से 2005 तक बिलेठा की सरपंच रह चुकी है।

- उन्होंने बताया कि गोमाता की सेवा के लिए गोशाला में दान दिया गया। इधर, लोगों ने बताया कि वक्त रहते ध्यान पड़ने से व्यापारी के रुपए बच गए।

...और व्यापारी भीड़ में खड़ा समझ रहा था एक्सीडेंट, लोग बचाने में लगे थे रुपए ...और व्यापारी भीड़ में खड़ा समझ रहा था एक्सीडेंट, लोग बचाने में लगे थे रुपए
राहत...इस तरह गाय के मुंह से बचाई रुपए भरी थैली राहत...इस तरह गाय के मुंह से बचाई रुपए भरी थैली
ई-मित्र से लौटने पर भीड़ देखकर व्यापारी जैन माजरा समझ नहीं पाए। उन्होंने सोचा कि एक्सीडेंट होने से भीड़ लगी है। लोगों से पूछा तो पता चला कि उनकी बाइक की डिक्की खोलकर गाय नोट भरी कपड़े की थैली लेकर भाग गई। ई-मित्र से लौटने पर भीड़ देखकर व्यापारी जैन माजरा समझ नहीं पाए। उन्होंने सोचा कि एक्सीडेंट होने से भीड़ लगी है। लोगों से पूछा तो पता चला कि उनकी बाइक की डिक्की खोलकर गाय नोट भरी कपड़े की थैली लेकर भाग गई।
Click to listen..