--Advertisement--

सामने बच्चे खेल रहे थे, पति से फोन पर लड़ते-लड़ते फंदे पर झूल गई महिला

मकान का अंदर से फाटक बंद होने और बच्चों के रोने की आवाज सुनकर लोगों की भीड़ हो गई।

Danik Bhaskar | Jan 28, 2018, 04:53 AM IST

भरतपुर/जयपुर. यहां एसटीसी हाउसिंग बोर्ड कालोनी में अपने दो मासूम बच्चों की नजरों के सामने ही मां मौत के फंदे पर झूल गई। मौत से पहले फोन पर पति से कहासुनी हुई थी। बच्चे फंदे पर लटकी मां को देख रोते रहे। पति ने फोन काटकर पड़ोसी को फोन पर पत्‍‌नी की हालत जानने के लिए भेजा। मकान का अंदर से फाटक बंद होने और बच्चों के रोने की आवाज सुनकर लोगों की भीड़ हो गई।

- नगला दौलत चिकसाना हाल एसटीसी हाउसिंग बोर्ड में रहने वाला विनोद यादव हरियाणा की एक कम्पनी में सिक्यूरिटी की नौकरी करता है। वह करीब 3-4 दिन पूर्व ही भरतपुर होकर गया था।

- मकान में उसकी पत्नी 26 साल की वर्षा और उसके दो मासूम बच्चे ढाई साल की बिटिया गुनगुन और डेढ़ साल का बेटा डूग्गू रहते हैं।

- शनिवार दोपहर को वर्षा व उसके पति के बीच फोन पर कुछ ऐसी कहासुनी हुई कि बच्चों की भी नहीं सोची। उसने आनन फानन में चुन्नी कमरे के दरवाजे के ऊपर लगे रोशनदान की सरिया से बांधकर फांसी पर लटक गई।

बच्चों के सामने हुआ सबकुछ

- पूरा घटनाक्रम मासूम बच्चों की नजरों के सामने उसी कमरे में हुआ। बच्चे फंदे पर लटकी मां को देख रोते रहे, लेकिन वह नहीं समझ पाए कि मां बोल क्यों नहीं रही। बाद में पति ने फोन काटकर पड़ोसी को फोन पर पत्नी की हालत जानने के लिए भेजा।

- उन्होंने धक्का देकर दरवाजा खोलकर देखा तो वह अंदर फांसी पर लटकी थी और बच्चे रो रहे थे। सूचना मिलने पर मथुरागेट थाना के एसएचओ राजेश पाठक व एएसआई नाहर सिंह मय जाप्ता के पहुंचे।

- सीओ सिटी आबड़दान रत्नू ने बताया कि विवाहिता के फांसी लगाने के मामले की अभी किसी ने रिपोर्ट नहीं दी है। उसके पति और पीहर पक्ष को सूचना दे दी है। उनके आने के बाद ही रविवार को पोस्टमार्टम होगा।

पति ने पड़ोसी को भेजा घर पर हालात देखने
- आशंका है कि वर्षा ने पति से फोन से बात करते हुए फांसी लगाई, क्योंकि फोन जमीन पर गिरा पड़ा मिला। जिसमें उसके पति का अंतिम कॉल का नंबर था।

- वहीं, दूसरी ओर पति ने घटना का अंदेशा होने पर कॉल बंद करके पड़ोसी को फोन किया, जिससे कहा कि वर्षा के सांस की बीमारी से पीड़ित है उसे जाकर देखना।

- पड़ोसी ने देखकर कहा कि घर बंद है और बच्चे रो रहे हैं। इस पर कहा कि दरवाजा तोड़कर घुस जाओ, सांस के रोग से कहीं बेहोश तो नहीं हो गई। उसके बाद मोहल्ले के लोगों को बुलाकर धक्का देकर मेनगेट खोला। तब उन्होंने कहा कि वह फांसी पर लटकी है।

4 साल पहले हुई शादी
- वर्षा गोपाल का नगला जलेश्वर जिला एटा यूपी की रहने वाली है, शादी 4 साल पूर्व हुई थी। पड़ोसियों ने बताया कि वह बात-बात में गुस्सा करती थी। पूर्व में भी छत से कूदने व फांसी लगाने का प्रयास कर चुकी थी।

- वहीं, अबोध बिटिया गुनगुन का कहना था कि पापा ने मम्मी को कहा कि छत पर नहीं जाना। दूसरी ओर बेटा डुग्गू तो ठीक से न तो बोलता है और न ही चलता है। पति विनोद व उसके पीहर पक्ष के लोग शाम तक भरतपुर नहीं पहुंचे थे।