Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Bought 12cr Worthy Furniture By Department Of Women And Child Development

12 करोड़ रुपए का फर्नीचर खरीदा, एसीबी छापा पड़ा

आंगनबाड़ी केन्द्रों में 12.98 करोड़ रुपए के घटिया क्वालिटी के अलमारी, टेबल व स्टील फर्नीचर सप्लाई कर दिया।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 10, 2018, 02:33 AM IST

12 करोड़ रुपए का फर्नीचर खरीदा, एसीबी छापा पड़ा

जयपुर. महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यालयों व आंगनबाड़ी केन्द्रों में 12.98 करोड़ रुपए के घटिया क्वालिटी के अलमारी, टेबल व स्टील फर्नीचर सप्लाई कर दिया। तीनों आइटम विभाग के अधिकारियों ने राजसिको के मार्फत प्रदेश के 21 सप्लायर्स से खरीदे है। एक शिकायत के बाद एसीबी ने मंगलवार को जयपुर व दौसा में चार जगह छापे मारे।

- एसीबी की चार टीमों ने मैसर्स खंडेलवाल एंटरप्राइजेज के जयपुर पांच बत्ती ऑफिस स्थित कार्यालय,आगरा रोड़ कानोता के पास स्थित फैक्टी और विभाग के दौसा शहर व ग्रामीण कार्यालय में कार्रवाई की है। जहां पर करोड़ों रुपए की अनियमितताएं मिली है।

- जांच में सामने आया खण्डेलवाल एंटरप्राइजेज को कार्यालयों व आंगनबाड़ी केन्द्रों पर 38.4 किलोग्राम वजन की अलमारी सप्लाई करनी थी, लेकिन अलमारी का वजन 21.600 किला ग्राम से 25 किलोग्राम तक ही पाया गया।

- अलमारी की चद्दर की मोटाई .9 एमएम होनी चाहिए थी। जबकि जांच में .6 एमएम ही मिली। यानि टैंडर की शर्तों के मुताबिक सप्लाई ने आधा लोहे की बनी हुई अलमारियां सप्लाई कर दी।

- अलमारियों के लॉक आईएसओ मार्का के नहीं थे। इससे सरकार को करोड़ों रुपए की चपत लगी है। खंडेलवाल एंटरप्राइजेज फर्म की फैक्ट्री में जंग नहीं लगे इस तकनीकी के कोई उपकरण नहीं थे।

राजसिको, महिला बाल विकास विभाग व सप्लायर्स पर होगा मुकदमा दर्ज
- एसीबी आईजी वीके सिंह ने बताया 21 सप्लायर्स ने तीन आइटमों की सप्लाई की है। इनकी गुणवत्ता खराब है। राजसिको, महिला बाल विकास विभाग व सप्लायर्स के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

-दूसरी ओर, पड़ताल में आया कि एसीबी कार्रवाई की भनक खण्डेलवाल फर्म संचालको को लग गई थी। ऐसे में एसीबी के पहुंचने से पहले ग्रामीण कार्यालय में अधिकारियों से मिलीभगत करके 9 दूसरी अलमारियां रखवा दी। ताकि जांच में गड़बड़ी सामने नहीं आए।

- खास बात यह है कि दौसा ग्रामीण व शहर कार्यालय में कार्यरत अधिकारियों को यह जानकारी नहीं है कि अलमारियों का मानक क्या था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |
Web Title: 12 karoड़ rupaye ka frnichr khridaa, esibi chhaapaa pdeaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×