--Advertisement--

प्रसून जोशी- भावनाओं को ध्यान में रख मंजूर की फिल्म, JLF में नहीं आऊंगा

सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी ने जारी किया बयान।

Danik Bhaskar | Jan 28, 2018, 04:10 AM IST

जयपुर. पद्मावत को प्रदर्शित किए जाने की मंजूरी देकर राजपूत संगठनों के निशाने पर आए केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल से नाम वापस ले लिया है। जोशी ने बयान जारी कर कहा- जेएलएफ में भाग नहीं ले पाने का दुख है, लेकिन मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से कोई असुविधा हो।

-पद्मावत विवाद पर कहा- इस फिल्म के लिए नियमों के तहत सुझावों को जहां तक संभव हो सका, सम्मिलित किया।

- इसके बाद सकारात्मक सोच व भावनाओं का सम्मान करते हुए रिलीज करने की मंजूरी दी गई। जेएलएफ में रविवार को उनका ‘मैं और वो’ विषय पर सत्र था।

सत्य व्यास को द्वारका प्रसाद अग्रवाल अवॉर्ड
- हिंदी साहित्य को देश-विदेश में प्रतिष्ठा दिलाने के लिए प्रदान किए जाने वाला तीसरा द्वारका प्रसाद अग्रवाल अवॉर्ड युवा लेखक सत्य व्यास को दिया गया।

- जेएलएफ के तीसरे दिन शनिवार को मुगल टैंट में दैनिक भास्कर राजस्थान के स्टेट एडिटर लक्ष्मीप्रसाद पंत और वाइस प्रेसिडेंट (ब्रांड) विकास सिंह ने उन्हें एक लाख रु. का चेक, प्रशस्ति पत्र और शॉल भेंट किया। सत्य व्यास को उनकी बेस्ट सेलर बुक ‘बनारस टॉकिज’ के लिए यह अवार्ड दिया गया।