Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Central Haj Committee Changes Rules

70 साल के दो बुजुर्ग आवेदक हैं तो दो अटेंडेंट साथ जा सकेंगे हजयात्रा पर

केंद्रीय हज कमेटी ने बदले नियम- हज कमेटी जल्द केंद्रीय कमेटी से बात करेगी

Bhaskar News | Last Modified - Dec 31, 2017, 03:32 AM IST

70 साल के दो बुजुर्ग आवेदक हैं तो दो अटेंडेंट साथ जा सकेंगे हजयात्रा पर

जयपुर. कई दिनों से चल रहा बुजुर्ग हज यात्रियों के अटेंडेंड पर असमंजस खत्म हो गया। केंद्रीय हज कमेटी ने घोषणा की है कि एक ही ग्रुप में यदि 70 साल या ज्यादा उम्र के दो बुजुर्ग लोग आवेदन कर रहे हैं तो उनके साथ रिजर्व कैटेगरी में दो अटेंडेंट हज पर जा सकेंगे। पहले जहां एक ही अटेंडेंट की स्वीकृति दी गई थी और ग्रुप में सदस्यों की संख्या 3 सीमित की गई थी, अब वह संख्या भी बढ़कर चार हो सकेगी।

उधर चूंकि हज आवेदन की आखिरी तारीख 22 दिसंबर थी, कई लोग एक ही अटेंडेंड की स्वीकृति के कारण हज आवेदन नहीं कर सके। ऐसे में राजस्थान स्टेट हज कमेटी ने सोमवार तक केंद्रीय कमेटी से मार्गदर्शन लेकर पेंडिंग मामलों को निपटाने का आश्वासन दिया है।

उधर राजस्थान हज वेलफेयर सोसायटी के महासचिव हाजी निजामुद्दीन ने बताया कि सोसायटी ने इस असमंजस को लेकर राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री को पत्र लिखा था और केंद्रीय हज कमेटी के अधिशासी अधिकारी मकसूद अली खान व राजस्थान हज कोर्डिनेटर डॉ. फिरोजा बानो को इस समस्या से आगाह किया था। उन्होंने कहा कि सोसायटी की मेहनत रंग लाई, ऐसे में सोसायटी ने केंद्रीय कमेटी व दोनों पदाधिकारियों का आभार जताया है।

जनवरी के पहले हफ्ते में लॉटरी निकाली जाएगी
इस बारे में स्टेट हज कमेटी चेयरमैन के अमीन पठान ने बताया बिना मेहरम आवेदनकर्ताओं का बिना लॉटरी चयन होगा। दूसरी ओर, सदस्य मुश्ताक अहमद ने बताया कि राजस्थान में 14400 आवेदन हुए हैं जिनमें 72 प्रतिशत अॉनलाइन हैं। रिजर्व कैटेगरी में 695 व सामान्य में 13705 फार्म आए हैं। हज आवेदकों की लॉटरी जनवरी के पहले हफ्ते में खोली जाएगी। हज कमेटी व सरकार ने यात्रियों की समस्या देखकर फैसला लिया है। सोमवार तक केंद्रीय कमेटी से गाइडेंस मिल जाएंगे, उसके अनुसार पेंडिंग मामलों को निपटाया जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×