--Advertisement--

उपचुनाव: BJP ने उतारे दो नए चेहरे, कांग्रेस का पुरानों पर दांव

17 विधानसभा सीटों के नतीजे तय करेंगे तीन उपचुनाव, भाजपा ने दो नए चेहरे उतारे, कांग्रेस का दिग्गजों पर दांव

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 04:09 AM IST

जयपुर. लोकसभा की दो और विधानसभा की एक सीट पर उपचुनाव में कांग्रेस ने तीनों स्थानों के लिए दिग्गज और वरिष्ठ नेताओं पर दाव खेला है। वहीं बीजेपी ने तीन में से दो नए चेहरे मैदान में उतारे हैं।
कांग्रेस ने अलवर से कर्णसिंह यादव, अजमेर से रघु शर्मा और मांडलगढ़ से विवेक धाकड़ को मैदान में उतारा है। वहीं बीजेपी ने अलवर से वर्तमान सरकार में मंत्री जसवंत यादव को उतारा है।


अजमेर से नए केंडिडेट रामस्वरूप लांबा और मांडलगढ़ से शक्तिसिंह पर दाव खेला है। लेकिन तीनों सीटों के मुकाबले अगले विधानसभा चुनाव का एक तरह से सेमीफाइनल साबित होंगे। नतीजे सरकार के काम-काज को रिफ्लेक्ट करेंगे।


मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के लिए भी यह चुनाव करो या मरो की स्थिति वाले होंगे। असल में यह उपचुनाव सिर्फ तीन सीटों पर नहीं बल्कि, विधानसभा की 17 सीटों पर लड़े जाएंगे। मांडलगढ़ विधानसभा और अलवर एवं अजमेर लोकसभा की आठ-आठ विधानसभा और एक मांडलगढ़ विधानसभा सीट।

अभी उपचुनाव वाली तीनों सीटें भाजपा के कब्जे में हैं। दोनों लोकसभा क्षेत्रों की 16 विधानसभा सीटों में से 14 पर भाजपा के विधायकों को कब्जा है। इसके इतर कांग्रेस सिर्फ एक सीट पर ही काबिज है, जबकि एक विधायक राजपा का है।

डॉ. जसवंत यादव : उम्र 55 साल। 1996 में कांग्रेस जिलाध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुए पर लोस चुनाव हारे। 1998 में लोस चुनाव हार के बाद इसी साल मंडावर विधायक बने। 2008 व 2013 में बहरोड़ से विधायक बने। मौजूदा सरकार में कैबिनेट मंत्री।

शिक्षा: बीएएमएस।

रामस्वरूप लांबा रामस्वरूप लांबा

रामस्वरूप लांबा: उम्र 30 साल। शैक्षणिक योग्यता साइकोलॉजी में ग्रेजुएशन।

 

व्यवसाय:  कोई व्यवसाय नहीं। राजनैतिक कैरियर- पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं।

 

अजमेर में हॉकी एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष हैं। अजमेर के पूर्व सांसद सांवरलाल जाट के बेटे हैं। 

डा.करण सिंह यादव डा.करण सिंह यादव

डा.करण सिंह यादव : आयु 72 वर्ष। अलवर के बहरोड़ से दो बार विधायक। पहली बार 1998 व दूसरी बार 2003 में विधायक बने। 2004 में अलवर से सांसद बने। 2008 विस चुनाव में हारे। 2009 लोस चुनाव में टिकट कट गया। 2011-2013 के बीच बीस सूत्रीय कार्यक्रम समिति के अध्यक्ष रहे।

पेशा : डॉक्टर

शक्ति सिंह हाड़ा शक्ति सिंह हाड़ा

उम्र 31 साल। शैक्षणिक योग्यता बीकॉम। व्यवसाय:  खनन। राजनैतिक कैरियर:   फरवरी, 2015 में जिला परिषद सदस्य का चुनाव लड़ा। इसके बाद दिसंबर 2015 में जिला प्रमुख का चुनाव लड़े और जीते। यह उनका पहला विधानसभा चुनाव है।

विवेक धाकड़ विवेक धाकड़

विवेक धाकड़ : आयु 40 साल। पिछले विधानसभा चुनाव में पहली बार मांडलगढ़ से चुनावी मैदान उतरे पर हार गए। दूसरी बार कांग्रेस ने प्रत्याशी बनाया है। पिता कन्हैया लाल धाकड़ भाजपा से भीलवाड़ा के जिला प्रमुख रह चुके। चार साल पहले ही वह कांग्रेस में शामिल हुए थे।

शिक्षा : बीए, एलएलबी, एमबीए।

डाॅ. रघु शर्मा डाॅ. रघु शर्मा

डाॅ. रघु शर्मा : आयु 58 साल। अजमेर के केकड़ी से 2008 में विधायक व गहलोत सरकार में मुख्य सचेतक रहे। 2013 विस चुनाव हारे। युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व राजस्थान विवि में छात्रसंघ अध्यक्ष भी रहे। जयपुर लोस क्षेत्र से चुनाव हारे।

शिक्षा: मैनेजमेंट में पीएचडी।

पेशा : करोबारी