--Advertisement--

बीजेपी सरकार के मंत्री उपलब्धि गिनाते रहे, कांग्रेस उपचुनाव में बाजी मार ले गई

इस साल 4 बार में 76 सीटों पर उपचुनाव, कांग्रेस ने 43 जीती।

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 04:13 AM IST

जयपुर. राजस्थान सरकार के कई मंत्री जिन जिलों में सरकार के चार साल की उपलब्धियों का बखान कर रहे थे कांग्रेस ने उन्हीं जिलों में कराए गए उपचुनावों में भाजपा को पटखनी दे दी। यूं तो उपचुनाव किसी जिले में एक या किसी में दो पंचायत समिति या नगरीय निकाय में कराए गए थे, लेकिन प्रभाव 26 जिलों तक रहा। यानी हर जिले में किसी ने किसी वार्ड में चुनाव कराए गए थे और इनमें भाजपा कांग्रेस से पीछे रह गई।


- गुजरात में भाजपा को कड़ी टक्कर से उत्साहित कांग्रेसियों को उपचुनाव की जीत ने और जोश दिला दिया है। आने वाले दिनों में इसका असर अजमेर एवं अलवर संसदीय सीट और मांडलगढ़ विधानसभा सीट के उपचुनाव में देखने को मिलेगा।

- जनवरी के आखिरी सप्ताह अथवा फरवरी के पहले सप्ताह में उपचुनाव की संभावना है। प्रदेश में इस साल अप्रेल से दिसंबर तक जिला परिषद, पंचायत समिति और शहरी निकायों नगर निगम, नगर परिषद एवं नगरपालिका की 76 सीटों पर उपचुनाव कराए गए हैं।

- यह उपचुनाव प्रदेश के लगभग प्रत्येक हिस्से में हुए हैं। इनमें कांग्रेस ने 43 सीटों पर सफलता हासिल कर बेहद उत्साहित है। भाजपा को सिर्फ 31 सीटों पर संतोष करना पड़ा है।

- यह वजह है कि प्रदेश के कांग्रेस कार्यकर्ता ही नहीं बल्कि, पार्टी नेता भी गदगद हैं। कांग्रेस ने अपनी पूरी टीम को उपचुनाव वाले क्षेत्रों में सक्रिय कर दिया है। ताकि, इन क्षेत्रों में जीत का परचम पहरा सके।

#भाजपा पर यूं भारी पड़ी कांग्रेस

अप्रैल, 2017 उपचुनाव

नगरपालिका राजाखेड़ी और पंचायत समिति के एक-एक वार्ड में कराए गए उपचुनावों में कांग्रेस ने भाजपा को हराया। दोनों स्थान कांग्रेस ने जीते।

सितंबर, 2017 उपचुनाव
प्रतापगढ़ जिला परिषद की दो सीटों के उपचुनाव में कांग्रेस एवं भाजपा को एक-एक सीट मिली। वहीं, पंचायत समिति की 24 सीटों पर कराए गए उपचुनाव में कांग्रेस ने 12 सीटों पर कब्जा किया। भाजपा को 11 सीटें मिली। वहीं, एक सीट पर निर्दलीय ने बाजी मारी।

अक्टूबर, 2017
नगर निकायों की पांच सीटों पर कराए गए उपचुनाव में भाजपा को तीन और कांग्रेस को दो स्थानों पर जीत मिली।

दिसंबर, 2017
प्रदेश के 26 जिलों में नगर निकाय, जिला परिषद एवं पंचायत समितियों को मिलाकर 45 स्थानों पर उपचुनाव कराए गए। इनमें कांग्रेस ने 26 जबकि भाजपा को 17 स्थानों पर जीत मिल सकी। दो स्थानों पर निर्दलीय जीते। इनमें से गंगानगर में जीते निर्दलीय सदस्य ने कांग्रेस ज्वाइन कर ली।