Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Constable Commit Suicide With Wife And Son Daughter In Nagaur

सुसाइड नोट Whatsapp पर वायरल किया, पड़ोसी ने पढ़ा तब तक सभी मर चुके थे

आरोपी एएसआई सस्पैंड, दो अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 22, 2018, 05:11 AM IST

  • सुसाइड नोट Whatsapp पर वायरल किया, पड़ोसी ने पढ़ा तब तक सभी मर चुके थे
    +5और स्लाइड देखें
    नागौर में कांस्टेबल की खुदकुशी का मामला | सुसाइड नोट में 3 पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप।

    नागौर(राजस्थान) .जिले के बाघरासर गांव में रविवार तड़के डीडवाना एएसपी कार्यालय के ड्राइवर कॉन्स्टेबल गेनाराम मेघवाल ने पत्नी और बेटे-बेटी के साथ पहले जहर पीया, फिर फांसी लगाकर जान दे दी। चारों के साइन वाला सुसाइड नोट भी छोड़ा।

    - आरोप लगाया कि एएसआई राधाकिशन सैनी ने 2012 में पूरे परिवार को चोरी के आरोप में फंसाया। जांच करने वाले दो अन्य पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर प्रताड़ित किया।

    - मामले में पुलिस जांच के बाद दो बार एफआर लग गई। अब तीसरी बार मामला खुलवाया गया है। राधाकिशन धमकी देता है। पूरा परिवार तनाव में हैं इसलिए जान दे रहे हैं।

    - पुलिस ने गेनाराम मेघवाल, पत्नी संतोष, बेटी सुमित्रा और बेटा गणपत के शव का पोस्टमार्टम कराया, लेकिन परिजनों ने लेने से इनकार कर दिया।

    - अजमेर रेंज आईजी मालिनी अग्रवाल ने बताया कि खुदकुशी मामले में एएसआई राधाकिशन को सस्पैंड कर दिया गया है। रिटायर्ड एएसआई भंवरू खां और रतनाराम के खिलाफ जांच होगी।

    सुसाइड नोट पर चारों परिजनों के साइन, सोशल मीडिया पर वायरल भी किया
    - गेनाराम ने खुदकुशी से पहले सुसाइड नोट तड़के 4 बजे सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। पोस्ट देखकर पड़ोसी ने खिड़की से देखा तो चारों के शव फंदे से झूल रहे थे। पुलिस को सूचना दी गई।

    -सुसाइड नोट में आरोप है कि चोरी का जुर्म प्रमाणित नहीं होने के बाद भी दुराचरण रिपोर्ट भेजी गई।

    - एसपी ऑफिस में क्राइम बैठक में राधाकिशन ने धमकाया। सीओ ने तलबी लेटर जारी किया। राजीनामे के लिए दबाव बना रहे थे।

    वे मुद्‌दे, जो सुसाइड नोट में उठाए

    - चोरी का सारा सामान मिल जाना और एफएसएल भी नहीं उठाना घटना का बनावटी होना जाहिर करता है।
    - तांत्रिक के कहने के आधार पर जांच शुरू की गई।
    - जांच अधिकारी के सामने राधाकिशन द्वारा गणपतसिंह के साथ मारपीट की गई। इस मामले में गवाह होने के बाद भी एफआर लगा दी गई।
    - पुत्र के साथ मारपीट और बिना वारंट थाने में रखना सच्चाई पर कुठाराघात है।
    - पुत्र अपराधी था तो उसे थाने में रख कर उसे छोड़ा क्यों गया।
    - अनुसंधान अधिकारी राजीनामे का दबाव बनाने में जुटे थे। मामला इसी के चलते पेंडिंग रखा गया।
    - जांच में पहले पुत्र और फिर पूरे परिवार पर आरोप लगाना संदेह उत्पन्न करता है।

  • सुसाइड नोट Whatsapp पर वायरल किया, पड़ोसी ने पढ़ा तब तक सभी मर चुके थे
    +5और स्लाइड देखें

    - भाई पुरखाराम ने एसपी के नाम सौंपे ज्ञापन में एएसआई राधाकिशन, भंवरू खां और रतनाराम को गिरफ्तार करने, संबंधित मामले से जुड़े पुलिस कर्मियों को हटाने और पूरे मामले की सीआईडी सीबी से जांच करवाने की मांग की है।

    - जिले में पिछले 4 दिन में 3 पुलिसकर्मियों की मौत हो चुकी है। इनमें से दो की मौत तबीयत बिगड़ने से हुई है।

    - गुरुवार को जायल थाने के हैडकांस्टेबल रामनारायण विश्नोई की दिल का दौरा पड़ने तथा शुक्रवार को कुचेरा थाने के एएसआई बंशीलाल डूकिया की तबीयत बिगड़ने से मौत हुई।

  • सुसाइड नोट Whatsapp पर वायरल किया, पड़ोसी ने पढ़ा तब तक सभी मर चुके थे
    +5और स्लाइड देखें
    फंदा लगाने से पहले सुसाइड नोट सोशल मीडिया पर पोस्ट किया, पड़ोसी ने पढ़ा तब हुआ खुलासा

    - सुसाइड नोट में गेनाराम सहित परिवार के चारों सदस्यों के साइन हैं। इसे तड़के 4 बजे सोशल मीडिया पर भी पोस्ट किया गया। इसमें तीन पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं।

    - सोशल मीडिया पर उसकी पोस्ट देखकर पड़ोस में रहने वाले एक शिक्षक ने उसके घर की तरफ देखा तो लाइट जल रही थी। उसने दीवार पर चढ़कर खिड़की से देखा तो चारों के शव कमरे में फंदे से झूल रहे थे। उसने परिजनों और ग्रामीणों को सूचना दी।

  • सुसाइड नोट Whatsapp पर वायरल किया, पड़ोसी ने पढ़ा तब तक सभी मर चुके थे
    +5और स्लाइड देखें

    वे मुद्‌दे, जो सुसाइड नोट में उठाए

    - चोरी का सारा सामान मिल जाना और एफएसएल भी नहीं उठाना घटना का बनावटी होना जाहिर करता है।
    - तांत्रिक के कहने के आधार पर जांच शुरू की गई।
    - जांच अधिकारी के सामने राधाकिशन द्वारा गणपतसिंह के साथ मारपीट की गई। इस मामले में गवाह होने के बाद भी एफआर लगा दी गई।
    - पुत्र के साथ मारपीट और बिना वारंट थाने में रखना सच्चाई पर कुठाराघात है।
    - पुत्र अपराधी था तो उसे थाने में रख कर उसे छोड़ा क्यों गया।
    - अनुसंधान अधिकारी राजीनामे का दबाव बनाने में जुटे थे। मामला इसी के चलते पेंडिंग रखा गया।
    - जांच में पहले पुत्र और फिर पूरे परिवार पर आरोप लगाना संदेह उत्पन्न करता है।

  • सुसाइड नोट Whatsapp पर वायरल किया, पड़ोसी ने पढ़ा तब तक सभी मर चुके थे
    +5और स्लाइड देखें
    कॉन्स्टेबल का सुसाइड नोट।
  • सुसाइड नोट Whatsapp पर वायरल किया, पड़ोसी ने पढ़ा तब तक सभी मर चुके थे
    +5और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Constable Commit Suicide With Wife And Son Daughter In Nagaur
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×