Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News »News» Controversy On Constable Sitaram Caste In Jaipur

सीताराम की जाति पर जंग, कोई मीणा बता रहा, कोई जाट, ब्राह्मण होने का भी दावा

Bhaskar News | Last Modified - Feb 08, 2018, 06:25 AM IST

साहस पर यह कैसा सवाल- जांबाजी से धर्म-जाति का क्या लेना-देना?
  • सीताराम की जाति पर जंग, कोई मीणा बता रहा, कोई जाट, ब्राह्मण होने का भी दावा
    +3और स्लाइड देखें

    जयपुर| शहर में सी स्कीम स्थित एक्सिस बैंक की चेस्ट शाखा से सोमवार रात 926 करोड़ रुपए की डकैती को नाकाम करने को लेकर जहां पुलिस कांस्टेबल सीताराम की प्रशंसा हो रही है, वहीं दूसरी ओर सीताराम को लेकर सोशल मीडिया पर एक नई जंग भी छिड़ गई। यह जंग है सीताराम की जाति को लेकर। कोई उसे मीणा बताकर प्रशंसा कर रहा है तो कोई उसे जाट बताकर श्रेय दे रहा है। इस बीच कोई लिख रहा है कि न यह मीणा है, न जाट यह तो ब्राह्मण है।

    बड़ा सवाल यह है कि किसी जाति, धर्म या समुदाय का सीताराम की जांबाजी का क्या लेना-देना? अगर बदमाशों की गोली उसे लगती तो क्या गोली पूछती कि उसकी जाति कौनसी है, धर्म कौनसा है? यह मौका सीताराम की वीरता को सलाम करने का है, न कि उसे जाति-धर्म या समुदाय जैसे संकीर्ण विचारों के बीच घसीटने का।

    दूसरी ओर, जब सीताराम से ही उसकी जाति पूछी गई तो वह बोले-आमजन की सुरक्षा उसका धर्म है और वर्दी उसकी जाति। सीताराम सीकर जिले के दांतारामगढ़ के पुनियाणा गांव के पास बाबा की बावड़ी के रहने वाले हैं।

    सीताराम बोले- जनता की सुरक्षा करना मेरा धर्म, वर्दी मेरी जाति
    - सोशल मीडिया पर जाति को लेकर छिड़े विवाद के बीच भास्कर ने सीताराम से बात की। उनकी जाति पूछी गई तो वे बोले- न मैं जाट हूं, न मीणा। न ब्राह्मण और न ही सैनी। उसकी जाति केवल वर्दी है और आमजन की जान माल की सुरक्षा करना उसका धर्म।

    पुलिस मुख्यालय का सर्कुलर वर्दी पर केवल नाम लिखें , जाति या सरनेम नहीं
    पुलिस मुख्यालय ने भी इस बारे में सर्कुलर जारी कर रखा है। जिसमें निर्देश दे रखे हैं कि सिपाही से लेकर आरपीएस अफसर तक सभी अफसर व जवान अपनी वर्दी पर केवल नाम लिखेंगे। जाति नहीं लिखेगें। ताकि जवानों पर जातिगत आरोप नहीं लगे। इस सर्कुलर के बाद प्रदेश के सभी थानों, पुलिस लाइन सहित सभी कार्यालयों में अफसर व जवान अपनी नेम प्लेट पर केवल नाम का पहला शब्द लिखते है। नेम प्लेट पर जाति लिखने के बाद उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई का प्रावधान है।

  • सीताराम की जाति पर जंग, कोई मीणा बता रहा, कोई जाट, ब्राह्मण होने का भी दावा
    +3और स्लाइड देखें
  • सीताराम की जाति पर जंग, कोई मीणा बता रहा, कोई जाट, ब्राह्मण होने का भी दावा
    +3और स्लाइड देखें
  • सीताराम की जाति पर जंग, कोई मीणा बता रहा, कोई जाट, ब्राह्मण होने का भी दावा
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Controversy On Constable Sitaram Caste In Jaipur
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×