--Advertisement--

चार विधानसभाओं से उपचुनाव में रहा कांटे का मुकाबला, कांग्रेस 11 तो BJP ने 13 सीटें जीती

प्रदेश में 88 विधानसभा उपचुनावों में कांग्रेस ने लगाई हाफ सेंचुरी, भाजपा 21 बार जीती

Danik Bhaskar | Jan 17, 2018, 04:02 AM IST

जयपुर. अजमेर और अलवर में लोकसभा के साथ ही प्रदेश की मांडलगढ़ सीट पर भी उपचुनाव हो रहा है। प्रदेश में अब तक हुए 88 उपचुनावों में से 50 में कांग्रेस जीती और 21 बार भाजपा ने जीत दर्ज कराई है। गौर करने लायक तथ्य यह है कि इमरजेंसी से पहले तक उपचुनावों में कांग्रेस का ही दबदबा रहा। उसे गिने-चुने मौकों पर ही चुनौती मिली जबकि वर्ष 1980में भाजपा के अस्तित्व में आने के बाद कांग्रेस को बराबर का मुकाबला मिला। 1980 के बाद 46 उपचुनावों में कांग्रेस 22 तो भाजपा 21सीटों पर जीती। पिछले बीस साल के रिकॉर्ड से यह भी जाहिर होता है कि उपचुनाव में स्थानीय मुद्दे बड़ा असर दिखाते हैं। इस कारण सत्ताधारी दल या प्रतिपक्षी दल के प्रत्याशियों में से किसी को भी जीत हासिल हो सकती है।

इमरजेंसी से पहले तक कांग्रेस ने 39 में से 28 उपचुनाव जीते
वर्ष 1977 से पहले तक कांग्रेस का ही बोलबाला रहा है। इससे पहले हुए 39 उपचुनावों में भी कांग्रेस ने 28 बार जीत दर्ज कराकर अपना दबदबा जाहिर किया है। इस अवधि में कम्युनिस्ट पार्टी, पीएसपी, स्वतंत्र पार्टी, सीपीआई, सीपीएम, एसएसपी और निर्दलीय एक-एक बार जीते। भारतीय जनसंघ और नेशनल कांग्रेस (जे) दो बार जीती। वहीं,1977 और 1978 में सत्तारूढ़ दल जनता पार्टी ने तीनों उपचुनाव जीते।

पिछली चार विधानसभाओं में भाजपा 13 और कांग्रेस 11 उपचुनाव जीती

1980 से अब तक हुए 46 उपचुनावों में 22 में कांग्रेस, 21 में भाजपा, दो निर्दलीय और एक उपचुनाव में जनता दल जीता। विधानसभा के पिछले चार कार्यकाल में 25 उपचुनाव हुए हैं, इसमें कांग्रेस 11, भाजपा 13 और निर्दलीय एक बार जीते।

- (1998 से 2003) कांग्रेस की गहलोत सरकार के पहले कार्यकाल में 13 उपचुनाव हुए। इसमें गहलोत सहित कांग्रेस के 5, भाजपा के 7 और एक निर्दलीय जीते।
- (2003 से 2008) भाजपा की वसुंधरा राजे सरकार के पहले कार्यकाल में पांच उपचुनाव हुए, इनमें से भाजपा तीन और कांग्रेस दो सीटों पर जीती थी।
- (2008 से 2013) अशोक गहलोत सरकार के दूसरे कार्यकाल में दो उपचुनाव में टोडाभीम सीट भाजपा के रमेश चंद ने जीती तो सलूम्बर कांग्रेस की बसंती ने जीती।
- (2013 से अब तक) राजे के दूसरे कार्यकाल में 5 उपचुनाव हो चुके हैं। इनमें 3 में कांग्रेस और 2 में भाजपा जीती हैं। सूरजगढ़ सीट कांग्रेस के श्रवण कुमार, वैर से कांग्रेस के भजनलाल और नसीराबाद सीट कांग्रेस के राम नारायण ने जीती जबकि कोटा साउथ से भाजपा के संदीप शर्मा और धौलपुर से भाजपा की शोभारानी जीती।