--Advertisement--

चीखते हुए चली गई 5 जानें, ना पाइप खोल पाए ना सीढ़ी लगा पाई फायर ब्रिग्रेड टीम

शॉर्ट सर्किट से लगी आग ने घर में चार युवा और एक वृद्ध की जान ले ली।

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2018, 05:12 AM IST
हादसे में जान गंवाने वाली (C)अपूर्वा-अर्पिता, बेटे अनिमेश अपनी मां(R) और पिता(L) के साथ।     -फाइल। हादसे में जान गंवाने वाली (C)अपूर्वा-अर्पिता, बेटे अनिमेश अपनी मां(R) और पिता(L) के साथ। -फाइल।

जयपुर. मकर संक्रांति से ठीक एक दिन पहले शनिवार तड़के चार बजे हुए दर्दनाक हादसे ने पूरे शहर को झकझोर दिया। शॉर्ट सर्किट से लगी आग में दादा, पोते, दो पोतियों समेत पांच लोग जिंदा जल गए। वो भी आंखों के ठीक सामने। कोई कुछ न कर सका। बचाने के लिए आए फायर ब्रिगेडकर्मी तो पाइप का नोजल तक फिट नहीं कर पाए। सीढ़ी तक नहीं लगा पा रहे थे। आग बुझाने आए भी तो चप्पल पहनकर, बिना मास्क के।

मदद के लिए चीखते हुए चली गई 5 जानें

- हादसा विद्याधर नगर सेक्टर नौ में रहने वाले संजीव गर्ग के मकान में हुआ। दुर्घटना में उनके पिता महेन्द्र गर्ग, बेटी अपूर्वा-अर्पिता, बेटे अनिमेश और साले के बेटे शौर्य की मौत हो गई। शौर्य मकर संक्रांति मनाने के लिए दो दिन पहले ही जयपुर आया था। संजीव गर्ग पत्नी के साथ आगरा गए थे। संजीव की रींगस में वायर फैक्ट्री है।

- प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार करीब पांच से सात मिनट तक दादा और पोतियां मदद के लिए चिल्लाते रहे लेकिन लोग आग की विकरालता के कारण समय रहते मदद नहीं कर सके।

- पड़ोसियों के अनुसार समय रहते अगर रेस्क्यू किया जाता तो अनिमेश और शौर्य की जान बचाई जा सकती थी। दोनों तक तो आग पहुंची भी नहीं, उनकी तो दम घुटने से ही मौत हो गई।

- आग सुबह करीब साढ़े तीन बजे ग्राउंड फ्लोर पर वायर या हीटर में शार्ट सर्किट से लगी। आग तेजी से भड़की। आग लगने के 20 मिनट बाद घर में पीछे की ओर जोर के धमाके के साथ सिलेंडर भी फट गया।

- आग खत्म होने के बाद लोगों ने फर्स्ट फ्लोर के कमरे से अनिमेश और शाैर्य को रस्सी से नीचे उतारा। अस्पताल पहुंचाया, जहां उनकी मौत हो गई।

फायर ब्रिगेड ने 300 मीटर अाने में घंटाभर लगा दिया

1. पुलिस को तड़के 4.43 बजे सूचना मिली। विद्याधर नगर थाने की चेतक चार मिनट बाद ही एक किलोमीटर की दूरी तय करके पहुंच गई। पुलिस फायर ब्रिगेड कर्मियों को फोन करती रही, लेकिन फायर ब्रिगेड की गाड़ी ने आने में करीब एक घंटा लगा दिया।

2.वीकेआई फायर स्टेशन के तीनों फायरमैन हरफूल बराला, हेमेन्द्र सिंह और अनूप सिंह जाजोरिया आग बुझाने गए। लेकिन वे ना तो फायर ब्रिगेड की सीढ़ी लगा पाए और न पाइप का नोजल लगाकर पानी फेंक पाए।

3.45 मिनट में पांच फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंचीं, लेकिन आग नहीं बुझा पाईं। जो कर्मचारी मौके पर पहुंचे उनके पास दरवाजे-खिडकियां तोड़ने के लिए सरिए, भारी हथौड़े तक नहीं थे।

4. कलेक्ट्रेट के कंट्रोल रूम का फोन महज 750 रुपए का बिल न भरे जाने की वजह से दो दिन पहले ही कटा था। ऐसे में प्रशासन को हादसे की जानकारी हीं नहीं मिल पाई। आपदा प्रबंधन विभाग तक बेखबर रहा।

तीन फायर ब्रिगेड कर्मी सस्पेंड

हादसे के बाद मेयर अशोक लाहोटी और आयुक्त रवि जैन ने फायरमैन हरफूल बराला, हेमेन्द्र सिंह और अनूप सिंह जाजोरिया को निलंबित करने के आदेश दिए हैं। सहायक अग्निशमन अधिकारी राजेन्द्र नागर और कार्यवाहक मुख्य अग्निशमन अधिकारी जलज घसिया के विरुद्ध 17 सीसीए नियमों के अंतर्गत विभागीय अनुशासनात्मक कार्यवाही के आदेश दिए गए।

पांच फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंचीं, लेकिन आग नहीं बुझा पाईं। पांच फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंचीं, लेकिन आग नहीं बुझा पाईं।
आग बुझने के बाद घर की सामने आई ये तस्वीर। आग बुझने के बाद घर की सामने आई ये तस्वीर।
इस तरह चादर में बांधकर ले जाया गया विक्टिम्स को। इस तरह चादर में बांधकर ले जाया गया विक्टिम्स को।
आग इतनी भयंकर थी कि घर का सारा सामान जलकर खाक हो गया। आग इतनी भयंकर थी कि घर का सारा सामान जलकर खाक हो गया।
हादसे के बाद बची राख और बर्बादी। हादसे के बाद बची राख और बर्बादी।
आग में घर का एसी तक जलकर खाक हो गया। आग में घर का एसी तक जलकर खाक हो गया।
अपने तीन बच्चों को खो चुकी मां की हालत काफी खराब थी। अपने तीन बच्चों को खो चुकी मां की हालत काफी खराब थी।
हादसे में 4 बच्चों समेत जान गंवाने वाले महेन्द्र गर्ग।     -फाइल। हादसे में 4 बच्चों समेत जान गंवाने वाले महेन्द्र गर्ग। -फाइल।
अपूर्वा(23), अर्पिता(21), बेटा अनिमेश(17) अपने मां और पिता के साथ।   -फाइल। अपूर्वा(23), अर्पिता(21), बेटा अनिमेश(17) अपने मां और पिता के साथ। -फाइल।
हादसे में जान गंवाने वाले अपूर्वा(23), अर्पिता(21) और अनिमेश(17)। हादसे में जान गंवाने वाले अपूर्वा(23), अर्पिता(21) और अनिमेश(17)।
हादसे में मारा गया 20 साल का शौर्य एक लॉ स्टूडेंट था। हादसे में मारा गया 20 साल का शौर्य एक लॉ स्टूडेंट था।
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
सबूतों को तलाश करती फोरेंसिक टीम। सबूतों को तलाश करती फोरेंसिक टीम।
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
X
हादसे में जान गंवाने वाली (C)अपूर्वा-अर्पिता, बेटे अनिमेश अपनी मां(R) और पिता(L) के साथ।     -फाइल।हादसे में जान गंवाने वाली (C)अपूर्वा-अर्पिता, बेटे अनिमेश अपनी मां(R) और पिता(L) के साथ। -फाइल।
पांच फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंचीं, लेकिन आग नहीं बुझा पाईं।पांच फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंचीं, लेकिन आग नहीं बुझा पाईं।
आग बुझने के बाद घर की सामने आई ये तस्वीर।आग बुझने के बाद घर की सामने आई ये तस्वीर।
इस तरह चादर में बांधकर ले जाया गया विक्टिम्स को।इस तरह चादर में बांधकर ले जाया गया विक्टिम्स को।
आग इतनी भयंकर थी कि घर का सारा सामान जलकर खाक हो गया।आग इतनी भयंकर थी कि घर का सारा सामान जलकर खाक हो गया।
हादसे के बाद बची राख और बर्बादी।हादसे के बाद बची राख और बर्बादी।
आग में घर का एसी तक जलकर खाक हो गया।आग में घर का एसी तक जलकर खाक हो गया।
अपने तीन बच्चों को खो चुकी मां की हालत काफी खराब थी।अपने तीन बच्चों को खो चुकी मां की हालत काफी खराब थी।
हादसे में 4 बच्चों समेत जान गंवाने वाले महेन्द्र गर्ग।     -फाइल।हादसे में 4 बच्चों समेत जान गंवाने वाले महेन्द्र गर्ग। -फाइल।
अपूर्वा(23), अर्पिता(21), बेटा अनिमेश(17) अपने मां और पिता के साथ।   -फाइल।अपूर्वा(23), अर्पिता(21), बेटा अनिमेश(17) अपने मां और पिता के साथ। -फाइल।
हादसे में जान गंवाने वाले अपूर्वा(23), अर्पिता(21) और अनिमेश(17)।हादसे में जान गंवाने वाले अपूर्वा(23), अर्पिता(21) और अनिमेश(17)।
हादसे में मारा गया 20 साल का शौर्य एक लॉ स्टूडेंट था।हादसे में मारा गया 20 साल का शौर्य एक लॉ स्टूडेंट था।
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
सबूतों को तलाश करती फोरेंसिक टीम।सबूतों को तलाश करती फोरेंसिक टीम।
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
fire brigade team negligence causes five death
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..