जयपुर

--Advertisement--

8 यात्रियों को लेकर जयपुर से जोधपुर उड़ा विमान, स्टाफ की कमी बता बीच रास्ते से लौटाया

एटीसी ने सूचना दी कि जोधपुर में ग्राउंड स्टाफ नहीं है, इसलिए विमान को वापस जयपुर ले जाएं।

Danik Bhaskar

Dec 16, 2017, 04:40 AM IST
सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।

जयपुर/जोधपुर. एयरपोर्ट मैनेजमेंट और एयरलाइंस के आपसी मतभेदों के कारण शुक्रवार को 8 यात्री न केवल अपनी मंजिल तक पहुंच पाए, बल्कि उनकी जान भी सांसत में फंसी रही।
दरअसल, सुप्रीम एयरलाइंस का विमान 8 यात्रियों और दो पायलट को लेकर जयपुर से शुक्रवार शाम करीब पौने पांच बजे जोधपुर के लिए उड़ा। विमान आधे रास्ते में ही पहुंचा था कि एटीसी ने सूचना दी कि जोधपुर में ग्राउंड स्टाफ नहीं है, इसलिए विमान को वापस जयपुर ले जाएं।

- जब पायलट ने यात्रियों को यह सूचना दी कि विमान जोधपुर नहीं, अब वापस जयपुर जाएगा तो हंगामा मच गया। बाद में विमान को जयपुर लाया गया।

- इस कारण ये आठ यात्री तो वापस जयपुर आ ही गए, वे नौ यात्री भी अटक गए जो इस विमान में जोधपुर से जयपुर आने वाले थे।

- उधर, सुप्रीम एयरलाइंस ने इस मामले की शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू, सिविल एविएशन सचिव राजीव चौबे व सीआईएसएफ डीजी ओपी सिंह को भेजी है।

- उधर, जोधपुर एयरपोर्ट निदेशक जीके खरे ने कहा कि सुप्रीम एयरलाइंस का विमान एक घंटे लेट था। इस पर सीआईएसएफ ने सुरक्षा के लिए स्टाफ देने से मना कर दिया तो हमने एयरलाइंस को जोधपुर नहीं आने को कहा। इसके बावजूद जयपुर से पौने पांच बजे विमान टैक ऑफ हो गया।

- इस बीच पायलट को जयपुर एटीसी ने जोधपुर में लैंडिंग नहीं होने की सूचना दी।

सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।
Click to listen..