Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Golden Weekend Of Tourism From Today

आज से टूरिज्म का गोल्डन वीकेंड, ट्रैफिक जाम-पार्किंग प्रॉब्लम... कतारों के लिए रहिए तैयार

जिस शहर के लिए पर्यटन ही कमाई का सबसे बड़ा जरिया हो उसके लिए तो ये साल के सबसे बड़े उत्सव जैसा है।

bhaskar news | Last Modified - Dec 30, 2017, 08:07 AM IST

  • आज से टूरिज्म का गोल्डन वीकेंड, ट्रैफिक जाम-पार्किंग प्रॉब्लम... कतारों के लिए रहिए तैयार

    जयपुर.अगले दो दिन यानी शनिवार और रविवार को वीकेंड के साथ ही नए साल की तैयारियों के जश्न में पूरा गुलाबी शहर डूबा रहेगा। फिर जिस शहर के लिए पर्यटन ही कमाई का सबसे बड़ा जरिया हो उसके लिए तो ये साल के सबसे बड़े उत्सव जैसा है। मगर इस उत्सवी रंग में भंग भी पड़ना तय है। इंडस्ट्री के जानकारों का मानना है कि इन दो दिनों में जितने पर्यटक जयपुर के टूरिस्ट स्पॉट्स पर पहुंचेंगे, उतने 6 महीने में नहीं पहुंचते। मगर दैनिक भास्कर ने टूरिज्म के इस गोल्डन वीकेंड से एक दिन पहले शुक्रवार को व्यवस्थाओं का जायजा लिया तो पता चला कि इतनी बड़ी तादाद में पर्यटकों को संभालने के लिए इंतजाम नाकाफी हैं।

    त्रिमूर्ति सर्किल से आमेर तक ऐसी रही भास्कर की यात्रा
    10:45 पर त्रिमूर्ति सर्किल पर अटके हमनेसुबह 10:45 बजे जेएलएन मार्ग पर सफर शुरू किया तो सबसे पहले त्रिमूर्ति सर्किल पर ही जाम में अटक गए। ये चौराहा पार कर रामनिवास बाग से होते हुए सांगानेरी गेट तक पहुंचने में 25 मिनट लग गए।

    बड़ी चौपड़ ठप :
    बड़ी चौपड़ पर मेट्रो के काम से ट्रैफिक ठप पड़ गया। रेंगते ट्रैफिक की वजह से रामगढ़ मोड़ तक पहुंचने में 40 मिनट लग गए।

    - 2000 टूरिस्ट के करीब प्रतिदिन बढ़ रहे हैं शहर में, आज-कल आएंगे सबसे ज्यादा पर्यटक
    - 13500 टूरिस्ट शुक्रवार को आमेर महल पहुंचे, वर्ल्ड हैरिटेज जंतर-मंतर आए 9000 टूरिस्ट

    रामगढ़ मोड़ पर सड़क पर खड़ी गाड़ियां
    रामगढ़ मोड़ पर ट्रैफिक डायवर्जन। पता चला आगे जाम लगा है। आमेर के रास्ते में कई गाड़ियों में टूरिस्ट मिले। कई जगह तो लोगों ने सड़क के किनारे ही वाहन खड़े कर दिए थे।

    डेढ़ घंटे में पहुंचे आमेर, पार्किंग नहीं मिली
    आखिर डेढ़ घंटे में हम आमेर तो पहुंचे मगर यहां पार्किंग के लिए मारामारी दिखी। महल के लिए अधिकृत पार्किंग के लिए अलावा सूखे मावठे में भी गाड़ियां खड़ी की जा रहीं थीं। ऊपर महल तक जाने का वाहनों का रास्ता गाड़ियों से अटा पड़ा था। ऊपर तक पहुंचने में 15 मिनट और लग गए। यहां टिकट विंडो पर भी पर्यटकों की लंबी लाइन लगी हुई थी। मावठे के पास सड़क किनारे ही गाड़ियां छोड़कर पर्यटक पैदल आगे बढ़ रहे थे।

    जलेब चौक आने में लगे 45 मिनट
    आमेर से वापस हवामहल के लिए निकले। रास्ते पर वाहनों की संख्या पहले से ज्यादा हो चुकी थी। अब हम आमेर से जलेब चौक तक करीब 45 मिनट में पहुंचे। हर कहीं जाम में फंसना-रेंगना पड़ा। चौक से जंतर-मंतर के लिए जाने वाले संकरे गेट पर जाम लगा मिला। यहां बसों और गाड़ियों की पार्किंग की समस्या आमेर से भी ज्यादा नजर आई। यहां भी जंतर-मंतर और सिटी पैलेस के टिकट विंडो पर लंबी कतार लगी हुई थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×