--Advertisement--

85 हैक्टेयर जमीन को बेचेगा JDA, 3000 करोड़ रुपए से ज्यादा की होगी कमाई

द्रव्यवती रिवर फ्रंट पर होटल-रेस्त्रां, रिसोर्ट व मल्टीस्टोरी बिल्डिंगें बनेंगी

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 04:58 AM IST

जयपुर. द्रव्यवती रिवर फ्रंट पर शास्त्रीनगर से विधानी तक आलीशान होटल, रेस्त्रां, रिसोर्ट और मल्टीस्टोरी बिल्डिंग बनेगी। जयपुर विकास प्राधिकरण (जेडीए) ने द्रव्यवती नदी के दोनों तरफ स्थित 85 हैक्टेयर जमीन चिह्नित की है। जेडीए की आरक्षित रेट से इस जमीन की कीमत 1712 करोड़ रुपए है, लेकिन बाजार में यह जमीन बिकने से जेडीए को करीब 3000 करोड़ की इनकम होने का अनुमान जताया जा रहा है। जबकि जेडीए द्रव्यवती प्रोजेक्ट पर 1470 करोड़ रुपए खर्च कर रहा है। ऐसे में जेडीए को प्रोजेक्ट की कीमत वसूल हो जाएगी।

फिजिकल वैरीफिकेशन कर रहे हैं
- द्रव्यवती नदी नाहरगढ़ पहाड़ी जैसल्या (किशनबाग) से ढूंढ नदी (गोनेर रोड) तक करीब 47 किलोमीटर में 150 से 450 फीट चौड़ाई में बह रही है।
- नदी की चौड़ाई की तय होने के बाद जेडीए, हाउसिंग बोर्ड, रीको, सिंचाई विभाग सहित अन्य सरकारी विभागों के रिकॉर्ड से 85 हैक्टेयर जमीन चिह्नित की है।
- इसमें से कुछ जमीन पर कुछ लोगों ने कब्जा कर रखा है। जेडीए जोन 2, 4, 5, 8 व 9 के डिप्टी कमिश्नर इस जमीन की फिजिकल वैरिफिकेशन करवा रहे हैं।

आवंटन के बजाए नीलामी से होगा फायदा
रिवर फ्रंट पर साइकिल ट्रैक बनाने के साथ ही वाई-फाई की सुविधा भी होगी। स्मार्ट लाइटिंग व 16 किमी में दोनों तरफ पिकनिक स्पॉट व वॉक-वे होंगे। जेडीए ने यहां होटल, रिसोर्ट, रेस्त्रां व कॉम्पलेक्स खोलने की प्लानिंग की है ताकि रिवर फ्रंट के आसपास की जमीन का उपयोग हो और घूमने आने वाले लोगों को सुविधा मिले। जेडीए जमीन आवंटन की कोशिश में लगा है, लेकिन रियल एस्टेट के जानकारों का कहना है कि नीलामी से बेहतर प्रतिस्पर्धा होने से जेडीए को ज्यादा आय होगी।

39% हुआ है प्रोजेक्ट का काम

- 1470 रुपए करोड़ खर्च होने है प्रोजेक्ट पर।

- 570 रुपए करोड़ का काम हो चुका है।

- 39% रुपए काम हो गया है। ज्यादातर जगह सीमेंट लाइनिंग का काम हो गया है।

रिवर फ्रंट के पास सड़क बनने के बाद बाकी जमीन को बेच कर प्रोजेक्ट का खर्चा वसूला जाएगा। जमीन के कॉमर्शियल या आवासीय उपयोग की जांच कर नीलामी की जाएगी।

- वैभव गालरिया, जेडीए कमिश्नर