Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Bollywood Actor Irrfan Khan Childhood And School Days Facts

बचपन से काफी शर्मीले थे बैक बेंचर इरफान, अक्सर स्कूल में मिलती थी सजा

पिंकसिटी में जन्मे इरफान खान अपनी स्कूलिंग के दौरान एक बिलो एवरेज स्टूडेंट थे।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Mar 07, 2018, 11:40 AM IST

  • बचपन से काफी शर्मीले थे बैक बेंचर इरफान, अक्सर स्कूल में मिलती थी सजा
    +5और स्लाइड देखें
    बचपन में इरफ़ान खान (बाएं तरफ से ) अपने भाई इमरान, बहन रुकसाना और भाई सलमान के साथ

    जयपुर. मुंबई. अभिनेता इरफान खान को ब्रेन कैंसर की अफवाह चल रही है। हालांकि, इसको लेकर कोई पुष्टि नहीं हो पाई है।

    क्लास में पीछे बैठ सपनों में खो जाते थे इरफान

    पिंकसिटी में जन्मे इरफान खान अपनी स्कूलिंग के दौरान एक बिलो एवरेज स्टूडेंट थे, लेकिन मैथ्स पर अच्छी पकड़ थी। शुरू से ही वे बैक बेंचर रहे। ये बात उन्होंने सिटी विजिट के दौरान शेयर की थी। साथ ही बताया था कि क्लास में पीछे बैठकर वे हमेशा सपने देखा करते थे। खुद से बातें करते और अपने ही ख्यालों में खोए रहते। अक्सर स्कूली माहौल से घबराहट होती थी और भागने का मन करता था।

    स्कूल के नाम से उसका चेहरा उतर जाता था

    जयपुर के टायर कारोबारी जमींदार खान के घर जन्में इरफान को लेकर परिवार फ्रिक्र में रहता कि उनके बेटे का मन पढ़ाई में नहीं लग रहा था। सुबह 6.30 बजे स्कूल जाना और दोपहर 4.00 बजे वापस आना उसे इतना उबाऊ काम लगता, जैसे उसे बहुत बड़ी सजा दी जा रही हो। स्कूल के नाम से उसका चेहरा उतर जाता था।

    बताया- स्कूल में मिलती थी सजा...
    इरफान के दिए एक इंटरव्यू के मुताबिक, पढ़ाई को लेकर उनके घर में हमेशा गंभीर माहौल रहा। जयपुर में शुरुआती पढ़ाई के लिए घर के नजदीकी सरकारी स्कूल में जाते थे, लेकिन मां चाहती थी कि वे इंग्लिश मीडियम स्कूल से बेहतरीन तालीम हासिल करें। तब पास के दूसरे कॉन्वेंट स्कूल में दाखिला करवा दिया। पहले कभी इंग्लिश से करीबी रिश्ता नहीं रहा, इसलिए लैंग्वेज समझने और बोलने में दिक्कतें होती थीं। पहली बार इंग्लिश में सभी को बात करते देखा। इंग्लिश में बात नहीं कर पाने की वजह से अक्सर स्कूल में सजा मिलती।"

    बचपन से काफी शर्मीला रहे थे इरफान

    उन्होंने बताया, "एक बार भागने की कोशिश भी की मगर इतना ज्यादा डर गया कि उस भागने को एन्जॉय ही नहीं कर सका। कभी सोचा नहीं था आगे जाकर फ्यूचर में क्या बनेंगे? एक बार स्क्रीन पर आर्टिस्ट को देखा तो काफी फैसिनेटिंग लगा। एक दिन दोस्तों के साथ रवींद्र मंच जाकर कहा कि हमें रोल चाहिए। एक वो वक्त भी था जब एन्जॉय करने के लिए हम छुप-छुपकर यूनिवर्सिटी के पीछे एक ढाबे पर जाया करते थे। मैं बचपन से काफी शर्मीला रहा हूं, मगर बगावती फितरत मेरे अंदर हमेशा रही।"

    क्रिकेट में करियर बनाने की इजाजत नहीं दी थी परिवार ने

    इरफान ने जैसे-तैसे 10वीं तक की पढ़ाई तो पूरी कर ली, लेकिन अब उनके पिता को दूसरी चिंता सताने लगी। उनका बेटा अब स्कूल से छुट्टी होते ही बैट उठाकर स्टेडियम में पहुंच जाता। अाखिरकार उनका सिलेक्शन सीके नायडू ट्रॉफी के लिए हो गया। कोई और परिवार होता तो इस बात से बहुत खुश होता, लेकिन परिवार ने उन्हें क्रिकेट में करियर बनाने की इजाजत नहीं दी। इससे इरफान का मन टूट गया। उन्होंने क्रिकेट खेलना छोड़ दिया और ग्रैजुएशन करने में जुट गए। उन्हें 1984 में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) में एडमिशन के लिए स्कॉलरशिप मिल गई। यहीं से उनकी जिंदगी की दिशा ही बदल गई।

  • बचपन से काफी शर्मीले थे बैक बेंचर इरफान, अक्सर स्कूल में मिलती थी सजा
    +5और स्लाइड देखें
  • बचपन से काफी शर्मीले थे बैक बेंचर इरफान, अक्सर स्कूल में मिलती थी सजा
    +5और स्लाइड देखें
  • बचपन से काफी शर्मीले थे बैक बेंचर इरफान, अक्सर स्कूल में मिलती थी सजा
    +5और स्लाइड देखें
  • बचपन से काफी शर्मीले थे बैक बेंचर इरफान, अक्सर स्कूल में मिलती थी सजा
    +5और स्लाइड देखें
  • बचपन से काफी शर्मीले थे बैक बेंचर इरफान, अक्सर स्कूल में मिलती थी सजा
    +5और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Bollywood Actor Irrfan Khan Childhood And School Days Facts
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×