--Advertisement--

एबीवीपी अधिवेशन में छाया सरकार के मुस्लिम तुष्टिकरण का मुद्दा

केशव विद्यापीठ में आयोजित अधिवेशन में महिलाओं पर अत्याचार, यौन शोषण, छेड़छाड़ की घटनाओं और भ्रष्टाचार पर भी जताई चिंता

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 03:50 AM IST

जयपुर. कांग्रेस पर मुस्लिम तुष्टिकरण का आरोप लगाने वाली भाजपा पर उसी के छात्र संगठन एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश की भाजपा सरकार पर मुस्लिम तुष्टिकरण के आरोप लगाए हैं। केशव विद्यापीठ में चल रहे एबीवीपी के प्रदेश अधिवेशन में कार्यकर्ताओं द्वारा तैयार किए गए प्रस्ताव में राज्य में उभरती चुनौतियों का जिक्र किया गया है। उधर इस मामले में एबीवीपी के प्रदेशाध्यक्ष का कहना है कि ये कार्यकर्ताओं का पक्ष है और उसे राज्य सरकार के समक्ष भेजा जाएगा।


- प्रस्ताव में कहा गया है कि सरकार व प्रशासन द्वारा समुदाय विशेष से बार-बार सहानुभूति व अवैध समझौते किए जा रहे हैं। जिससे कानून व्यवस्था बिगड़ रही है। हाल ही में जयपुर, प्रतापगढ़, निम्बाहेड़ा व भीलवाड़ा में इस तरह का घटनाक्रम चला। कर्फ्यू की स्थिति बनी।

- इसमें ये देखने में आया कि सरकार समुदाय विशेष से भयभीत या सहानुभूति रखती है। इन घटनाओं पर सख्त कार्रवाइयां नहीं हुई है। साथ ही धर्म स्थलों के मार्ग में आने पर भी भेदभाव किया जा रहा है। अधिवेशन में ये बात भी हुई कि महिलाएं पर अत्याचार, यौन शोषण, छेड़छाड़ की घटनाएं लगातार हो रही है।

- अवैध वसूली, नशा, माफिया, सरकारी व वन भूमि पर अतिक्रमण और भ्रष्टाचार के प्रकरण सामने आते हैं। विभिन्न आंदोलनों से जनजीवन अस्त-व्यस्त होने जैसी बातें होती है। हमारे समाज में इन बातों को जगह नहीं मिलनी चाहिए।

इसे राजनीतिक दृष्टि से नहीं देखें: एबीवीपी
एबीवीपी के तीन दिवसीय अधिवेशन में तीन प्रस्तावों पर चर्चा हुई । इसमें शिक्षा और विद्यार्थियों के जीवन में सुधार, राज्य में उभरती चुनौतियां और सामाजिक सरोकार में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका जैसे बिंदु शामिल है। ये खुला अधिवेशन था । ऐसे में कार्यकर्ताओं को लगता है कि सरकार किसी समुदाय विशेष के दबाव या सहानुभूति में आकर काम कर रही है तो उसे अपनी बात रखने देने का हक है। हमें उस पर चर्चा करनी है और ये बातें सरकार तक पहुंचानी है कि ये बातें, बिंदु और निष्कर्ष चर्चा में आए है। आगे का काम सरकार का है।
- राजेश यादव, अध्यक्ष, जयपुर प्रांत