Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Jaipur Fire Brigade System Inspection By Mayor

5 जिंदगियां राख हो गईं तो मेयर सिस्टम जांचने निकले, दमकल के पाइप का नोजल चॉक हो गया

विद्याधर नगर हादसे पर भास्कर इन्वेस्टिगेशन में खुलासा हुआ तो सोमवार रात फायर ब्रिगेड टीम को मूल काम सौंपा

भरत सिसोदिया | Last Modified - Jan 16, 2018, 04:13 AM IST

  • 5 जिंदगियां राख हो गईं तो मेयर सिस्टम जांचने निकले, दमकल के पाइप का नोजल चॉक हो गया
    +2और स्लाइड देखें

    जयपुर. शहर में पिछले एक सप्ताह में दो बड़े अग्निकांड हुए। इनमें फायर ब्रिगेड टीम फेल हुई। भास्कर ने वजह जानी -क्यों? फायर ब्रिगेड अपना मूल काम कर ही नहीं रही। अभी नगर निगम को स्वच्छता सर्वे और उसके नंबरों की चिंता ज्यादा है, इसलिए जिन अफसरों का काम आग बुझाने, अग्निशमन उपकरणों की जांच करने और फायर ड्रिल करने का है वे स्वच्छता एप डाउनलोड करवा रहे हैं। तड़के 4 बजे से देर रात तक उन्हें सौंपे गए वार्डों में सफाई करवा रहे हैं। शहरवासियों से सफाई पर फीडबैक ले रहे हैं। इन फायर फाइटर्स की गाड़ियों पर स्वच्छता के गाने बज रहे हैं। दोनों अग्नि हादसों में फायर ब्रिगेड की टीम समय पर इसलिए नहीं नहीं पहुंची। पहुंची तो सीधे सफाई करते कराते- स्लीपर व चप्पल पहनकर। बिना किसी तैयारी के।


    नगर निगम के अधीन फायर ब्रिगेड का नेतृत्व करने वाले सीएफओ व तीन एएफओ के अधीन 5-5 फायर फाइटर की टीमें सफाई में लगाई हुई हैं। फायर उपायुक्त भी सफाई व्यवस्था सुधारने में जुटी हुई हैं। मेयर अशोक लाहोटी ने 8 जनवरी को फायर शाखा की विशेष मीटिंग लेकर सीएफओ जलज घसीया, एएफओ राजेंद्र नागर, एएफओ देवांग यादव और एएफओ उषा शर्मा को स्वच्छता की जिम्मेदारी दी। इसके लिए उपायुक्त फायर की तरफ से कार्यालय आदेश जारी किया गया। सफाई की इस मॉनिटरिंग की रोजाना रिपोर्ट उपायुक्त फायर शिप्रा शर्मा को सौंपनी पड़ती हैं। विद्याधर नगर अग्निकांड के बाद निगम प्रशासन को होश आया।

    भास्कर इन्वेस्टिगेशन की भनक लगी तो सोमवार देर रात निगम कमिश्नर रवि जैन ने चारों फायर ऑफिसर का वर्क डिविजन करने के आदेश जारी किए। फायर स्टेशन बनीपार्क, घाटगेट और सीएम हाउस का चार्ज जलज घसीया मुख्य अग्निशमन अधिकारी, बाई गोदाम, आमेर, वीकेआई का चार्ज एएफओ राजेंद्र सिंह को, मानसरोवर, बिंदायका, झोटवाड़ा का चार्ज एएफओ देवांग यादव को, मालवीय नगर, सीतापुरा फायर स्टेशन का चार्ज एएफओ उषा शर्मा को सौंपा गया है। शहर में 10 फायर स्टेशन व एक चौकी है। इन पर 8 एएफओ के पद स्वीकृत है लेकिन अधिकारियों की कमी के चलते तीन एएफओ को तीन-तीन फायर स्टेशनों का चार्ज सौंपा गया है।

    आग लगी क्यों? हीटर का बॉयलर बंद होने से वायर जल गए थे

    विद्याधर नगर 9 सेक्टर में सरिया व्यापारी संजीव गर्ग के घर पर हुए दर्दनाक हादसे ने शहर के सभी लोगों के रोंगटे खड़े कर दिए। घर के पीछे वाले हिस्से में दो कमरे बने हुए हैं। एक कमरे में महेन्द्र गर्ग और दूसरे में अर्पिता व अपूर्वा सो रही थी। महेन्द्र गर्ग के कमरे में रूम हिटर चल रहा था। एफएसएल एक्सपर्ट ने अपनी प्रारंभिक जांच में माना है- हिटर का बॉयलर बंद हो गया था और उसका तापमान बढ़ गया। इससे हिटर के वायर जल गए और चिंगारी महेन्द्र के बेड पर लग गई। इसके बाद कुछ ही पल में आग पूरे कमरे में फैल गई। इसके बाद कारपेट ने आग पकड़ी और पूरा ग्राउंड फ्लोर आग में घिर गया।

    एक्सपर्ट की जांच में सामने आया कि ग्राउंड फ्लोर पर हाॅल में और कमरों में फर्नीचर था और दीवारों पर भी लगा हुआ था। इसके अलावा छत पर फॉल सिलिंग लगी हुई थी। फर्नीचर के सनमाइका की जगह पॉलिश शीट लगी हुई थी। ऐसे में फर्नीचर ने आग बहुत जल्दी पकड़ ली और विकराल रूप ले लिया। अनिमेश रात 2 बजे बाद सोया था। उसने 2 बजे तक वाट्सएप पर अपने दोस्तों के साथ चेटिंग की थी और साथ पतंग उड़ाने की बातें की थीं।

    मानवाधिकार आयोग का कड़ा रुख जरूरत के वक्त अत्यावश्यक सेवाएं नकारा ही साबित होती हैं

    राज्य मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष जस्टिस प्रकाश टाटिया ने कहा है- अत्यावश्यक सेवाओं की जब अत्यन्त जरूरत होती है उसी समय वह नाकारा साबित होती है। विद्याधर नगर में 5 लोगों के जिंदा जलने की घटना पर उन्होंने कलेक्टर, पुलिस कमिश्नर, निगम कमिश्नर से रिपोर्ट तलब की है। अगली सुनवाई 1 फरवरी को होगी।

    मुख्य अग्निशमन अधिकारी की सभी अग्निशमन कार्यों, पत्रावली के समयबद्ध निस्तारण और सभी एएफओ के पर्यवेक्षण व समन्वय की जिम्मेदारी होगी। सभी अधिकारी अपने-अपने फायर स्टेशन पर एक लीडिंग फायरमैन नियुक्त करेंगे। प्रतिदिन सभी वाहनों व उपकरणों की जांच के लिए फायर ड्रिल करवाएंगे। इसी रिपोर्ट उपायुक्त फायर को सौंपी जाएगी।

    - रवि जैन, कमिश्नर नगर निगम

  • 5 जिंदगियां राख हो गईं तो मेयर सिस्टम जांचने निकले, दमकल के पाइप का नोजल चॉक हो गया
    +2और स्लाइड देखें
  • 5 जिंदगियां राख हो गईं तो मेयर सिस्टम जांचने निकले, दमकल के पाइप का नोजल चॉक हो गया
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Jaipur Fire Brigade System Inspection By Mayor
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×