--Advertisement--

जेडीए का अकाउंटेंट घूस लेते पकड़ा तो हो गया बेहोश

जोन कार्यालय में डॉक्टर को बुलाकर गिरधारी लाल अग्रवाल को दवा दी गई।

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 03:42 AM IST

जयपुर. पट्टे की लीज एस्टीमेट के चार्जेज कम करने की एवज में 5 हजार रुपए घूस लेते जेडीए जोन-10 के अकाउंटेंट को एसीबी ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। एसीबी टीम ने आरोपी अकाउंटेंट गिरधारी लाल अग्रवाल से रिश्वत की राशि बरामद कर ली। घटनाक्रम के दौरान खास बात यह रही कि आरोपी रिश्वत मुस्कराते हुए ले रहा था। लेकिन एसीबी का छापा पड़ा तो आरोपी गिरधारी बेहोश हो गया। ऐसे में एसीबी के अधिकारियों जेडीए के अधिकारियों व एंबुलेंस को बुलाया। जोन कार्यालय में डॉक्टर को बुलाकर गिरधारी लाल अग्रवाल को दवा दी गई। जब गिरधारी लाल अग्रवाल की हालत में सुधार हुआ तो एसीबी के अधिकारियों ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

- एसीबी के आईजी वीके सिंह ने बताया कि इन्द्राज मीणा की ऑटोमोबाइल नगर में दुकान है। दुकान का जेडीए पट्टा लेने के लिए जोन-10 में आवेदन किया था।

- पट्टा जारी होने से पहले ली एस्टीमेट चार्जेज जेडीए में जमा होते हैं। ऐसे में इन्द्राज मीणा से चार्जेज कम करने व उस राशि में से 50 फीसदी राशि रिश्वत के रूप में देने की अकाउंटेंट गिरधारी लाल डिमांड कर रहा था।

- शिकायत पर एडिशनल एसपी नरोत्तम वर्मा के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई और गिरधारी लाल को घूस लेते गिरफ्तार कर लिया। एसीबी की टीम के जेडीए कार्यालय में दबिश देने की सूचना पर हड़कंप मच गया।