--Advertisement--

फर्जी महिला संगठन बना रसदकर्मियों ने 14 हजार क्विंटल गेहूं बेच दिया

जिस आवेदन पर दुकानें आवंटित हुईं उस पर आवेदकों का नाम-पता और फोटो तक नहीं

Dainik Bhaskar

Jan 19, 2018, 04:42 AM IST
Logistics workers made fake women s organization sell wheat

अलवर. गरीबों के लिए आवंटित 40 हजार लीटर केरोसीन और 14 हजार क्विंटल गेहूं ब्लैक में बाजार में बेचने के ढाई साल पुराने मामले में एसीबी ने रिटायर्ड जिला रसद अधिकारी अलित जैन और प्रवर्तन निरीक्षक बनवारी लाल शर्मा समेत 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोपियों ने फर्जी तरीके से राशन की दो दुकानों का आवंटन कराया और एक साल में 40 हजार लीटर केरोसीन और 14 हजार क्विंटल गेहूं बेच दिया। राशन हड़पने का यह खेल अप्रैल 2014 में शुरू हुआ और करीब एक साल तक चला।

इस प्रकरण में अमरदीप महिला समूह की अध्यक्ष कृष्णा देवी और गौरव संस्था की राजबाला, दुकान संचालक सूबे खान तथा दीपक अग्रवाल को भी आरोपी बनाया है। हैरानीजनक यह कि 10 उचित मूल्य की दुकानों का आवंटन महिला स्वयं सहायता समूहों को होना था। जिला रसद अधिकारी कार्यालय ने 18 सितंबर 2013 को एक-एक दुकान अमरदीप महिला सहायता समूह शिकारी बास और गौरव महिला स्वयं सहायता समूह साहब जोहड़ अलवर को भी आवंटित किया। लेकिन इनके आवेदन में नाम, पता, फोटो और संबंधित दस्तावेज ही नहीं थे।

रजिस्टर में राशन कार्ड दर्ज ही नहीं

एसीबी को 27 मई 2015 को गुमनाम शिकायत मिली कि वरिष्ठ लिपिक राजेश वर्मा ने गौरव महिला स्वयं सहायता समूह एवं ईओ छोटे लाल मीणा ने अमरदीप महिला स्वयं सहायता समूह के नाम से महिला सोसायटी बनाई है। दाेनों ने मार्च 2014 में रसद विभाग से राशन की दुकान संख्या 92 एवं 93 के लाइसेंस लिए। रसद विभाग ने दोनों दुकानों को गेहूं व केरोसिन आवंटन किया। मगर इन दोनों दुकानों का धरातल पर कोई पता नहीं है। इनके वितरण रजिस्टर भी खाली हैं। गेहूं व केरोसिन का वितरण स्टॉक रजिस्टर में ही काट दिया जाता है। दुकानों पर यूनिट रजिस्टर में एक भी राशन कार्ड अंकित नहीं है।

39000 लीटर केरोसीन भी बेचा

एसीबी ने दोनों दुकानों का रिकॉर्ड प्राप्त कर यूनिट रजिस्टरों को जब्त किया। दुकान संख्या 93 के संचालक दीपक अग्रवाल व सूबे खान के अलावा दुकान मालिक गिर्राज मीणा व मदन सिंह के बयान दर्ज किए। एसीबी ने बताया अमरदीप व गौरव महिला स्वयं सहायता समूह को रसद विभाग ने 24420 लीटर केरोसिन एवं 13288 क्विंटल गेहूं आवंटित किया गया था। समूह अध्यक्षों ने अफसरों से मिलीभगत कर आवंटित में 36960 लीटर केरोसीन एवं 14031 क्विंटल गेहूं हड़प लिया। एसीबी को फर्जी दुकानों के लिए रसद विभाग द्वारा चीनी आवंटित किए जाने के संबंध में कोई रिकार्ड नहीं मिला।

मामले की जांच के बाद सबकुछ सामने होगा
एसीबी ने मामला दर्ज किया है। जांच में पूरी स्थिति सामने आ जाएगी। मेरे द्वारा कोई अनियमितता करने का कोई सवाल ही नहीं उठता। मैंने कोई अनियमितता नहीं बरती है। जांच के बाद सब साफ हो जाएगा।

-ललित जैन, तत्कालीन जिला रसद अधिकारी

X
Logistics workers made fake women s organization sell wheat
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..