--Advertisement--

कांग्रेस के नए अध्यक्ष राहुल गांधी की टीम में दिख सकता है राजस्थान का दबदबा

पूर्व सीएम अशोक गहलोत, पूर्व केंद्रीय मंत्री भंवर जितेंद्र सिंह, सीपी जोशी, ज्योति मिर्धा हो सकते हैं शामिल

Dainik Bhaskar

Dec 22, 2017, 07:45 AM IST
ज्योति मिर्धा ज्योति मिर्धा

जयपुर. कांग्रेस के नए अध्यक्ष राहुल गांधी की टीम में राजस्थान का दबदबा देखने को मिलेगा। राहुल की टीम में आधा दर्जन से अधिक नेताओं को शामिल किया जा सकता है, जोकि देश भर में पार्टी के जनाधार को बढ़ाने और विस्तार के लिए नीति बनाने के लिए कार्य करेंगे। इसमें राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व केंद्रीय मंत्री भंवर जितेंद्र सिंह, सीपी जोशी जैसे दिग्गज नेताओं को कोर टीम में लिए जाने की संभावना जताई जा रही है।


- माना जा रहा है कि इन तीनों ही नेताओं के अनुभव का लाभ पार्टी राष्ट्रीय स्तर पर ले सकती है, जिससे आने वाले दिनों में देश के दूसरे राज्यों में कांग्रेस की सरकार बनाने में आसानी हो सके।

- कांग्रेस का अध्यक्ष बनने के बाद से अब राहुल गांधी के नए टीम बनाने की सुगबुगाहट शुरू हो गई है।

राहुल के साथ कांग्रेस के हाथ को ताकत देंगे प्रदेश के ये नेता

- राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद से उनकी नई टीम बनाने की सुगबुगाहट शुरू हो गई है। राहुल की टीम में टीम राजस्थान की भूमिका महत्वपूर्ण होगी।

- गुजरात चुनाव में गहलोत का साथ, कई राज्यों में जोशी का प्रभार और प्रदेश के युवा नेताओं की सक्रियता इसी कयास को बल दे रही है।

कहां-कहां होंगे आने वाले समय में चुनाव
- मेघालय, नागालैंड और त्रिपुरा विधानसभा का कार्यकाल मार्च 2018 में समाप्त हो रहा हैं। ऐसे में इन तीनों ही राज्यों में विधानसभा चुनाव फरवरी-मार्च के बीच होने की संभावना है।
- कर्नाटक विधानसभा का कार्यकाल 2018 के मई में खत्म होगा। ऐसे में अप्रैल में यहां चुनाव हो सकते हैं। कर्नाटक में सरकार को बचाने के लिए कांग्रेस को रणनीति की जरूरत पड़ेगी।
- राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा का कार्यकाल दिसंबर 2018 में पूरा हो रहा है। यहां दिसंबर 2018 तक चुनाव होंगे। ये तीनों राज्य अभी भाजपा के पास है।

ज्योति मिर्धा

- महिला के तौर पर राजस्थान से नागौर की पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा को शामिल किया जा सकता है। यह काफी तेज तर्रार मानी जाती हैं।

- पार्टी के भीतर इनके नाम की चर्चा तेजी से चल रहा है। जबकि मोहन प्रकाश, जुबेर खान, हरीश चौधरी पहले से ही राष्ट्रीय स्तर पर कार्य कर रहे हैं। राहुल गांधी की टीम में पहले की तरह कार्य करते रहेंगे।

सीपी जोशी सीपी जोशी

 पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी जोशी के पास पहले से ही कई राज्यों का प्रभार है। वे पार्टी के भीतर राष्ट्रीय स्तर पर और मजबूत होंगे। इसका कारण यह है कि वह राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन से ललित मोदी को बाहर करने में सफल रहे हैं। इसका लाभ जोशी को कांग्रेस में भी मिलेगा। जोशी भी राहुल गांधी के करीबी में माने जाते हैं। ऐसे में उनका दायित्व और बढ़ सकता है। 

 

भंवर जितेंद्र सिंह भंवर जितेंद्र सिंह

पूर्व केंद्रीय मंत्री भंवर जितेंद्र सिंह राहुल गांधी के करीबी माने जाते हैं। अभी तक उनके पास महत्वपूर्ण जिम्मेदारी नहीं थी। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के चुनाव में टिकट वितरण की कमान सौंपी गई थी। भंवर जितेंद्र सिंह के सुसर और हिमाचल के रहने वाले विजेंद्र सिंह और राजीव गांधी के बीच दोस्ती दून स्कूल से ही थी। भंवर को पार्टी में महासचिव बनाकर कुछ राज्यों की कमान दी जा सकती है।

राहुल के साथ कांग्रेस के हाथ को ताकत देंगे प्रदेश के ये नेता राहुल के साथ कांग्रेस के हाथ को ताकत देंगे प्रदेश के ये नेता

राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद से उनकी नई टीम बनाने की सुगबुगाहट शुरू हो गई है। राहुल की टीम में टीम राजस्थान की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। गुजरात चुनाव में गहलोत का साथ, कई राज्यों में जोशी का प्रभार और प्रदेश के युवा नेताओं की सक्रियता इसी कयास को बल दे रही है।

अशोक गहलोत अशोक गहलोत

गहलोत ने जिस तरह से गुजरात में भाजपा के खिलाफ आक्रामक रणनीति बनाने में सफलता पाई है। उससे कांग्रेस के भीतर नए चाणक्य के तौर पर उभरकर सामने आए हैं। गहलोत ने पंजाब विधानसभा चुनाव में भी टिकट वितरण की महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी,  गुजरात चुनाव के बाद गहलोत राहुल गांधी के और करीब आ गए हैं। आने वाले चुनावों में गहलोत की रणनीति का लाभ कांग्रेस को मिल सकता है। 

 

X
ज्योति मिर्धाज्योति मिर्धा
सीपी जोशीसीपी जोशी
भंवर जितेंद्र सिंहभंवर जितेंद्र सिंह
राहुल के साथ कांग्रेस के हाथ को ताकत देंगे प्रदेश के ये नेताराहुल के साथ कांग्रेस के हाथ को ताकत देंगे प्रदेश के ये नेता
अशोक गहलोतअशोक गहलोत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..