जयपुर

--Advertisement--

सदन में सवाल पूछते समय रो पड़ी विधायक सोना देवी, बोली- मेरा चचेरा भाई कब मिलेगा?

कांग्रेस की शकुंतला रावत उनको सीट से उठाकर सदन से बाहर ले गईं और ढांढस बंधाकर चुप कराया।

Danik Bhaskar

Mar 01, 2018, 06:59 AM IST

जयपुर. जमीदारां पार्टी की विधायक सोना देवी बुधवार को विधानसभा में सवाल पूछते समय सदन में फफक-फफक कर रो पड़ी। उन्होंने कहा कि मेरा चचेरा भाई कब मिलेगा? 17 साल पहले वर्ष 2000 में कांग्रेस के कार्यकाल में मेरे भाई का अपहरण हुआ था, लेकिन आज तक वह नहीं मिला।


तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने तो कुछ किया नहीं, लेकिन मौजूदा सरकार से उम्मीद है। सोनादेवी रोते हुए अपनी सीट पर बैठ गईं। बाद में पीलीबंगा की विधायक द्रौपती ढांढस बंधाने उनकी सीट तक पहुंची तो वह उन्हें पकड़कर रोने लगी। कांग्रेस की शकुंतला रावत उनको सीट से उठाकर सदन से बाहर ले गईं और ढांढस बंधाकर चुप कराया। यह वाकया तब हुआ, जब प्रश्नकाल चल रहा था। बच्चों और महिलाओं के अपरण, गुम होने को लेकर सवाल किए जा रहे थे। सोनादेवी के यूं अचानक रोने के कारण कुछ समय के लिए सदन में गमगीन सा माहौल हो गया।

3 साल में आठ हजार बच्चों, साढ़े छह हजार महिलाओं का अपहरण
भाजपा विधायक चंद्रभान सिंह आक्या की ओर से लगाए गए प्रश्न के जवाब में गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने बताया कि पिछले साल में 2015, 2016, 2017 राज्य में 8056 बच्चों का अपरण हुआ। इसमें से पुलिस ने 7561 बच्चों को बरामद कर लिया। 6683 महिलाओं के अपहरण हुए। इनमें से 5952 बच्चों की पुलिस ने बरामद किया। गृहमंत्री ने बताया कि तीन साल में 476 बच्चों के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज की गई। इसमें से 434 बच्चे मिल भी गए। तीन साल में 21869 महिलाओं के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज हुई है।

Click to listen..