--Advertisement--

500 बैड का मल्टीसुपरस्पेशलिटी सरकारी हॉस्पिटल जुलाई तक शुरू होगा

एसएमएस व जयपुरिया जैसा एक और नया हॉस्पिटल, एसएमएस पर भार कम होगा, दिल्ली की तर्ज पर बनेगा इंडियन स्पाइनल इंजरी सेन्टर

Danik Bhaskar | Mar 05, 2018, 03:58 AM IST

जयपुर. प्रताप नगर स्थित आरयूएचएस कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज का 125 करोड़ रुपए की लागत से 500 बैडेड के सरकारी मल्टी सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल की सुविधा मरीजों को जुलाई के अंत तक मिलनेे लगेगी। इनमें आउटडोर, इनडोर, ऑपरेशन थिएटर, इमरजेन्सी, ब्लड बैंक व गंभीर मरीजों को जीवन रक्षक उपकरणों से सुसज्जित आईसीयू की सुविधा उपलब्ध रहेगी।


दुर्घटना से घायलों के लिए एक ही छत के नीचे सुविधा

टोंक रोड, प्रतापनगर, शिवदासपुरा व अन्य क्षेत्रों से सड़क दुर्घटना से होकर आने वाले घायलों को एक छत के नीचे जांच (ब्लड, यूरीन, ईसीजी, डिजिटल एक्सरे, सोनोग्राफी), विशेषज्ञ डॉक्टर (न्यूरोलोजी फिजिशियन, न्यूरोसर्जन, आर्थोपेडिक्स, गायनी, कार्डियोलोजिस्ट, प्लास्टिक सर्जन) की 24 घंटे सातों दिन सुविधा उपलब्ध रहेगी।

स्पाइनल सेन्टर बनेगा

आरयूएचएस प्रवक्ता डॉ.ए.चौगले के अनुसार इंडियन स्पाइनल इंजरी सेन्टर दिल्ली की तर्ज पर लकवा ग्रस्त मरीजों के इलाज के लिए स्पाइनल सेन्टर बनेगा। प्रशासनिक अधिकारी व डॉक्टर मरीजों की ऑनलाइन मॉनिटरिंग कर सकेंगे। ऑपरेशन थिएटर व आईसीयू संक्रमण रहित होंगे। हरेक फ्लोर पर सैंपल कलेक्शन व ड्रग स्टोर की सुविधा।

किसके कितने बैड व विभाग

आईसीयू : मेडिकल, सर्जरी, पीडियाट्रिक्स व इन्टेनसिव केयर यूनिट के दस-दस बैड

आईसीयू : मेडिसन व सर्जरी के 120-120 बैड, गायनी व आर्थोपेडिक्स के 60-60 बैड, पीडियाट्रिक्स के 60 बैड, दस-दस बैड (ऑफ्थेल्मिक, ईएनटी, डर्मेटोलोजी, साइकेट्री, चेस्ट एंड टीबी),

आईसीयू : 20 बैड, 1500 बैड प्रस्तावित : अस्पताल को 1500 बैड और एमआरआई व सीटी स्कैन और डायलिसिस यूनिट, ट्रोमा सेन्टर, कैथ लैब, रीट्रिवल सेन्टर खुलेगा।