--Advertisement--

राजसमंद लाइव मर्डर: दिन भर फूंकता था गांजा और देखता था भड़काऊ वीडियो

अफराजुल के कत्ल से पहले बना लिए थे वीडियो, अफराजुल निशाने पर नहीं आता तो हो सकता था कोई भी शिकार।

Danik Bhaskar | Dec 08, 2017, 12:41 AM IST
लव जिहाद नहीं, सनक के कारण मारा अफराजुल को शंभुलाल रेगर ने। - फाइल लव जिहाद नहीं, सनक के कारण मारा अफराजुल को शंभुलाल रेगर ने। - फाइल

राजसमंद/जयपुर. राजनगर में अफराजुल शेख के सनसनीखेज कत्ल मामले में सबसे बड़ी वजह हत्या के अभियुक्त शंभुलाल रेगर की सनक सामने आई है। यह कोई लव जिहाद का मामला नहीं है। पुलिस की अब तक की पड़ताल पर भरोसा करें तो न शंभु या उसके किसी परिजन की अफराजुल से कोई रंजिश थी और न ही उसके परिवार या रिश्तेदारी में किसी युवती ने किसी मुस्लिम से शादी ही की। इसके बावजूद शंभु ने लव जिहाद और दूसरे भड़काऊ मुद्दे उठाए।

राजस्थान लव जिहाद: मृतक की पत्नी की गुहार, दोषी को सरेआम फांसी दो

- भास्कर की पड़ताल में यह भी सामने आया है कि शंभु पर डेढ़ लाख रुपए का कर्ज था और इसमें से एक लाख रुपए उसने किसी महिला से ब्याज पर ले रखे थे।

- कर्ज देने वाले उससे रुपया लौटाने का तकाजा करते रहते थे। शंभु पिछले दो साल से कोई काम-धंधा भी नहीं करता था। उसका परिवार भारी आर्थिक संकट में था।

- पत्नी किसी तरह गुजर-बसर के लिए संसाधन जुटाती थी। शंभु खुद दिन भर गांजा फूंकता रहता था और मुफ्त के नेट पर धर्मांधता के भड़काऊ वीडियो देखता रहता था।

पहले ही भड़काऊ वीडियो बनवा लिए

- भास्कर की पड़ताल और पूछताछ में यह भी सामने आया है कि अफराजुल के कत्ल से पहले ही उसने भड़काऊ वीडियो बनवा लिए थे। ये वीडियो उसने पांच दिसंबर और उससे पहले बनाए।

- यह भी आशंका जताई जा रही है कि अगर उस दिन अफराजुल उसके निशाने पर नहीं आता तो वह किसी और को अपनी वहशियाना हरकत का शिकार बना सकता था।

- भास्कर टीम ने पुलिस के आला अफसरों और इस मामले में जांच में जुटी टीम से बातचीत के आधार पर जो तथ्य जुटाए हैं, वे बहुत चौंकाने वाली जानकारियां देते हैं। पढ़िए वह सब जो आप जानना चाहते हैं :

#भास्कर इन्वेस्टिगेशन : वह सब जो आप जानना चाहते हैं

अफराजुल का कत्ल क्यों ?
- पुलिस के अनुसार प्रारंभिक कारण वही हैं, जो वीडियो में वह बता रहा है। वीडियो में वह लव जिहाद, इतिहास से छेड़छाड़, पीके और पद्मिनी जैसी फिल्में, कश्मीर में धारा 370, सेना पर पत्थरबाजी, सैनिकों के सिर काट कर ले जाना, आरक्षण के नाम पर हिंदुओं को बांटना, पूरे हिंदू धर्म में कोई जातिवाद नहीं हो आदि बातें कर रहा है।

क्या अफराजुल से रंजिश थी ?
- पुलिस वजह की तलाश कर रही है, लेकिन अभी तक ऐसा कोई संकेत नहीं मिला है।

- शंभु से जब पूछा गया कि अफराजुल को क्यों मारा तो उसका जवाब था : ये लोग मुझे आए दिन परेशान किया करते थे। धमकी देते थे। मेरे मुहल्ले में रहने वाली लड़की को भी परेशान करते थे। वे उसे बंगाल ले गए थे। मैं उसे लेने गया तो उसने कहा, भैया आप चले जाओ। ये आपको मार देंगे। लेकिन यह घटना दो साल पहले की है और इसका बुधवार की वारदात से सीधा संबंध नहीं जुड़ रहा।

क्या शंभु का अफराजुल से कोई विवाद था ?
- ऐसा कोई संकेत सामने नहीं आया। खुद शंभु ने भी रंजिश से इनकार किया, लेकिन साथ ही कहा कि इन्होंने मुझे जान से मारने की धमकी दी थी। लेकिन यह नहीं बताया कि किन लोगों ने जान से मारने की धमकी दी।

तो अफराजुल को ही क्यों मारा ?
- इसके लिए गहन पूछताछ की जा रही है। पुलिस इस नजरिए से भी पड़ताल कर रही है कि शंभु ने तीन वीडियो 5 दिसंबर को बनाए और दो वीडियो घटना के दिन घटना से पहले और घटना के दौरान बनवाए। इससे यह भी लगता है कि उसने पहले वीडियो बनाया और अपना टारगेट बाद में तय किया।

- इस आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता कि अफराजुल के बजाय कोई और भी उसके निशाने पर आ सकता था। ऐसी जानकारी मिली है कि उसका मकसद हत्या से ज्यादा हत्या का प्रचार करना था।

इतनी नफरत आई कहां से ?
- अब तक मिली जानकारी के अनुसार वह दिन भर नशे में चूर रहता था। कभी गांजा और कभी शराब पीता था। उसके परिवार के लोगों को भी पता नहीं रहता था कि वह कब कहां है? किसी को वह कुछ बताता नहीं था। दो साल से घर में पैसा कभी नहीं देता था। लेकिन नशे के बावजूद वह परिवार में पत्नी या बच्चों से मारपीट नहीं करता था।

घर की हालत क्या है ?
- वह दो साल से काम नहीं करता था। बेरोजगार था। दो साल पहले वह मार्बल ट्रेडिंग का काम करता था। कुछ समय पहले उसने अपना एक मकान भी बेचा था। लेकिन पैसा उड़ा दिया। कुछ महीनों से उसके परिवार में उसके छोटे भाई की पत्नी, जो एक सरकारी कर्मचारी है, शंभु की पत्नी को तीन हजार रुपए प्रति माह की मदद देती थी। बदले में शंभु की पत्नी अपने देवर-देवरानी के बच्चों को रखती थी। कुछ समय से शंभु ने एक महिला से एक लाख रुपए का कर्ज भी ले रखा था। वहीं, पचास हजार रुपए का कर्ज छिटपुट लिया हुआ था। लोग पैसे के लिए तकाजा करते रहते थे।

इतनी कट्‌टरता क्यों ?
- नेट फ्री और सस्ता होने के बाद से वह दिन भर वीडियो देखता रहता था। उसे हिंदुत्ववादी वीडियाे देखना अधिक पसंद था।

इसका बैकग्राउंड क्या है ?
- उसके पिता रामलाल आणंद में मार्बल गोदाम पर हैंडिक्राफ्ट का काम करते हैं। कुछ समय से बिजनेस कमजोर हो गया तो वे मूर्तियां बनाने और मंदिरों का काम करने लगे। शंभु खुद भी आणंद आता-जाता था।

स्कूलिंग कहां की है ?
- वह सरकारी स्कूल में दसवीं तक पढ़ा है। दसवीं में वह फेल हो गया था।

वीडियो किसने बनाया ?
- वीडियो शंभू के भांजे उत्तम ने बनाया। शंभू ने मोबाइल में वीडियो ऑन करके दिया और वह वीडियो बनाता रहा। उत्तम महज 15 साल का है और छात्र है।

क्या उसे गिरफ्तार कर लिया ?
- उसे पुलिस ने फिलहाल डिटेन किया हुआ है।

क्या इस दौरान और लोग भी थे ?
- अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है कि ये तीन लोग थे या ज्यादा।


वायरल हुए पत्र की वर्तनी हिंदी और भाषा अंग्रेजी क्यों है? कहीं ऐसा तो नहीं कि यह पत्र अंग्रेजी जानने वाले किसी व्यक्ति ने उसे फोन पर या सामने बिठाकर डिक्टेट करवाया हो? शंभू दसवीं फेल है।
- पुलिस के पास ऐसी कोई सूचना नहीं है। भास्कर ने जब ये प्रश्न आईजी और एसपी से पूछा तो दोनों इस प्रश्न पर चौंक पड़े। पुलिस को अभी तक पत्र की जानकारी ही नहीं थी।

- दोनों अफसरों ने कहा कि वे अभी इस मामले में पूछताछ कर पता करेंगे कि यह पत्र कैसे और कब लिखा तथा इसकी भाषा अंग्रेजी होने के बावजूद यह देवनागरी में क्यों है ?

पद्मावती फिल्म के विरोध से इस मर्डर का क्या संबंध है? उसने वीडियो में कहा है कि इतिहास से लोग छेड़छाड़ कर रहे हैं।
- पुलिस इसका भी जवाब तलाश कर रही है।

क्या यह लव जिहाद का मामला है? क्या शंभू के परिवार या रिश्तेदारी में किसी लड़की को किसी मुस्लिम ने लव जिहाद का शिकार बनाया?
- आईजी आंनद श्रीवास्तव ने कहा : इस तरह का कोई मामला नहीं है। इसे सीधे-सीधे लव जिहाद से जुड़ा मामला नहीं कहा जा सकता, क्योंकि हाल के समय में ऐसी कोई घटना नहीं हुई है। इसके परिवार के साथ भी ऐसी कोई घटना नहीं हुई है।

क्या भांजा और नाबालिग बेटी भी अपराधी हैं?
- भांजे ने वीडियो बनाया है। इसलिए वह अपराध का भागीदार है। जांच के अाधार पर उस पर धाराएं तय होंगी।

- शंभु की नाबालिग बेटी के बारे में पुलिस का कहना है कि वह घटना के दौरान साथ नहीं थी और घर पर थी। भड़काऊ वीडियो में वह साथ थी। इसलिए अभी पुलिस ने उसे डिटेन कर रखा है।

किसके खिलाफ आईपीसी का कौन-सा सेक्शन लगाया है?
शंभु : 302 हत्या और 201 साक्ष्य मिटाना। इसमें अभी उसके खिलाफ और सेक्शन लगाए जाएंगे। ये सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने और आईटी एक्ट से संबंधित हो सकते हैं। भांजे के खिलाफ भी इन्हीं धाराओं में प्रकरण दर्ज है।

स्कूटी और बाइक के ओनर कौन हैं?
- स्कूटी का मालिक शंभु है और बाइक का अफराजुल।

पेट्रोल किस पेट्रोल पंप से लिया? क्या बोतलों में खुला पेट्रोल दिया जा सकता है?
- पुलिस अभी पूछताछ कर रही है।

पत्नी कौन है? क्या कहती है?
- पत्नी सीता गृहिणी है। कहती है कि घर चलाने के लिए अब मजदूरी करनी होगी। और कोई चारा नहीं। वह हैरान है कि उसके पति से ऐसा क्यों किया।

बच्चे कितने?
- बच्चे तीन हैं। बड़ी बेटी अस्मिता 11वीं में पढ़ती है। सबसे छोटा बेटा सुमित पांचवीं में है। मंझली बेटी किट्टू मंदबुद्धि है और उसका इलाज चल रहा है।

शंभुलाल का परिवार
- शंभुलाल राजनगर में संयुक्त परिवार में रहता है। उसकी पत्नी, सोलह साल की बड़ी बेटी, तेरह साल की बेटी और ग्यारह साल का बेटा, दो शादीशुदा छोटे भाइयों की पत्नियां, उनके बच्चे साथ रहते हैं। सब दुखी हैं। छोटा बच्चा सुमित मां और बुआ को रोते हुए देखकर गुमसुम-सा है। वह बार-बार यही पूछ रहा है, पापा कब घर आएंगे।

- उसकी बहन ने कहा कि हम तो शव पड़ा होने की सूचना पर खेत पर गए थे। हमें क्या पता था, हत्या हमारे भाई के हाथों हुई है। उसने कहा, हम किसी धर्म-समाज में नहीं, बस इंसानियत में विश्वास रखते हैं। पत्नी कहती है कि वे (शंभुलाल) बच्चों को डांटने तक नहीं देते थे।

अफराजुल का परिवार
- राजसमंद में दामाद और छोटे भाई के साथ रहता था। तीन लड़कियों में दो की शादी हो चुकी है। दोनों के दामाद साथ रहते हैं। पत्नी का निधन हो चुका है। पश्चिम बंगाल के कुछ लोगों के साथ यहीं मजदूरी करता था। उसका भाई शव लेकर बुधवार शाम को गांव रवाना हो गया।

- सोशल मीडिया पर इस नृशंस हत्याकांड की सभी ने निंदा की। खुद डीजी के साथ पुलिस के आला अधिकारियों ने घटना से जुड़े वीडियो वायरल नहीं करने की अपील की।

अफराजुल के कत्ल से पहले बना लिए थे वीडियो, अफराजुल निशाने पर नहीं आता तो हो सकता था कोई भी शिकार। - फाइल अफराजुल के कत्ल से पहले बना लिए थे वीडियो, अफराजुल निशाने पर नहीं आता तो हो सकता था कोई भी शिकार। - फाइल
शंभुलाल का परिवार। शंभुलाल का परिवार।
भास्कर टीम ने पुलिस के आला अफसरों और इस मामले में जांच में जुटी टीम से बातचीत के आधार पर तथ्य जुटाए हैं। भास्कर टीम ने पुलिस के आला अफसरों और इस मामले में जांच में जुटी टीम से बातचीत के आधार पर तथ्य जुटाए हैं।
अफराजुल का परिवार। अफराजुल का परिवार।
शंभु दिन भर नशे में चूर रहता था।  - फाइल शंभु दिन भर नशे में चूर रहता था। - फाइल