--Advertisement--

गर्माहट के लिए नवजात को मशीन में रखा, शार्ट सर्किट से मशीन जली; नवजात झुलसा, मौत

2 साल से नहीं हुआ था मशीन का मेंटेनेंस, झुलसे नवजात को जेके लोन ले गए जहां बर्न वार्ड ही नहीं

Danik Bhaskar | Dec 13, 2017, 03:21 AM IST
मशीन चलाते ही धमाके के साथ पिघल गई। मशीन चलाते ही धमाके के साथ पिघल गई।

जयपुर. छोटी-सी लापरवाही ने एक परिवार की खुशियां छीन ली। घटना सोमवार रात 1 बजे की है। कालवाड़ रोड स्थित चिरायु अस्पताल में न्यू बॉर्न बेबी को गर्माहट देने के लिए मशीन में रखा गया था। शार्ट सर्किट से मशीन में आग लग गई और नवजात बुरी तरह झुलस गया। अस्पताल में बर्न वार्ड न होने के कारण उसे जेके लोन ले जाया गया लेकिन वहां भी बर्न वार्ड न होने के कारण बच्चे को एसएमएस अस्पताल में दाखिल कराया गया। मंगलवार को सुबह छह बजे बच्चे की मौत हो गई।


- घटना के बारे में कालवाड़ एचएसओ रमेश सैनी ने बताया, बिन्दायका के रहने वाले सुभाष चन्द गोस्वामी की पत्नी निर्मला को सोमवार शाम 5 बजे चिरायु हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया था। शाम करीब 6 बजे प्री-मेच्योर डिलेवरी करवाई गई। बच्चा काफी कमजोर था। उसे रात को वार्मर में रखा गया। रात करीब 1 बजे वार्मर में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। इस घटना में नवजात भी गंभीर रूप से झुलस गया। बच्चे को एसएमएस में दाखिल कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवाया है।

- दूसरी ओर, चिरायु अस्पताल में जिस कमरे में नवजात रखा हुआ था, उसे को सील कर दिया गया है। हॉस्पिटल प्रशासन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज मामले की जांच की जा रही है।

#अस्पताल डायरेक्टर डॉ मनोज एवं मोहित चौधरी ने कहा-लापरवाही नहीं, शॉट सर्किट से आग लगी...यह दुर्घटना है

Q. बच्चे को जिस मशीन में रख रखा था, उसमें आग लगने की क्या वजह रही?
A.
शार्ट सर्किट से मशीन में आग लग गई थी, अभी मैं बिजी हूं, बात करने की स्थिति में नहीं।

Q. शॉर्ट सर्किट की क्या वजह रही, क्या मशीन का मेंटीनेंस नहीं हुआ था?
A.
शीन में हीटर की तरह दो स्प्रिंग लगी होती है। शायद उसमें शार्ट सर्किट हुआ है। मेंटीनेंस तो होता रहता है, हर मशीन के मेंटीनेंस की डेट याद थोड़ी रखेंगे।

Q. क्या घटिया कंपनी की मशीन होने से शार्ट सर्किट की वजह रही ?
A.
यह तो पता नहीं, लेकिन जो मशीन थी, वह जनरल इलेक्ट्रिकल कंपनी की थी।

Q. बच्चे की मौत पर क्या अस्पताल प्रशासन की लापरवाही नहीं?
A.
मौत पर अस्पताल प्रशासन की कोई लापरवाही नहीं, शार्ट सर्किट होने से आग लगी है। यह दुर्घटना है।

मशीन चलाते ही धमाके के साथ पिघल गई, मां के मन में खीस भी न पिला पाने की टीस

- शाम 6 बजे निर्मला ने बेटे को जन्म दिया। कमजोर था, डॉक्टरों ने ऑब्जर्वेशन में रखने को कहा।

- निर्मला इंतजार कर रही थी कि बच्चा उसकी गोद में आएगा और वह उसे आंचल में भर लेगी। ...खबर बहुत बुरी मिली। प्रसव से निढाल निर्मला अपने बच्चे की मौत की खबर से सदमे में है।

पुलिस- मशीन में आग लगने की वजह प्रथमदृष्टया वार्मर में हाई वॉल्टेज आना है। कमरे में कई वार्मर मशीनें लगी हैं। मशीनें दो साल पुरानी है। कभी मशीनों का मेंटेनेंस नहीं हुआ। पावर कंट्रोल के लिए स्टैप्लाइजर भी नहीं था। हाई वॉल्टेज से आग लग गई।

मां के मन में खीस भी न पिला पाने की टीस। मां के मन में खीस भी न पिला पाने की टीस।