Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Now Warning On Wine Bottle Do Not Drink And Drive

अब शराब की बोतल पर होगी चेतावनी- डू नॉट ड्रिंक एंड ड्राइव

शराब पीकर गाड़ी चलाने से 2016 में 673 सड़क हादसे हुए।

मोहर सिंह मीणा | Last Modified - Jan 10, 2018, 02:38 AM IST

अब शराब की बोतल पर होगी चेतावनी- डू नॉट ड्रिंक एंड ड्राइव

जयपुर. जल्द ही शराब की बोतल पर स्वास्थ्य संबंधी चेतावनी के साथ ही शराब पीकर गाड़ी न चलाने की भी सचित्र हिदायत लिखी मिलेगी। पूरे देश में अल्कोहल युक्त पेय पदार्थों में अल्कोहल की मात्रा भी समान होगी। इन दोनों ही विषयों पर फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) ने फाइनल ड्राफ्ट प्रपोजल केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को भेजा है। केंद्रीय स्वाथ्य मंत्रालय की ही स्वायत्तशासी संस्था एफएदेश भर में अल्कोहल के समान स्टैंडर्ड में 7 से 15.5, देशी शराब में 19 से 43 प्रतिशत तक अल्कोहल रखने की सीमा निश्चित की जा रही है।

एफएसएसएआई के प्रपोजल का दूसरा हिस्सा पूरे देश में अल्कोहल के समान स्टैंडर्ड से जुड़ा है। फिलहाल हर राज्य व संघ शासित क्षेत्र में अलग-अलग तरह की शराब में अल्कोहल की मात्रा अलग-अलग होती है। एफएसएसएआई- एक्ट 2006 के अनुसार ही अल्कोहल कंटेंट लिमिट के स्टेंडर्ड को ड्राफ्ट में शामिल किया गया है।

अल्कोहलिक ब्रेवरेजेज स्टेंडर्ड रेगुलेशन-2018 का प्रपोजल लागू होने के बाद हर राज्य में अल्कोहल का स्टैंडर्ड एक होगा। प्रस्तावित स्टैंडर्ड के मुताबिक बीयर (रेगुलर) में 5 प्रतिशत अल्कोहल, बीयर (स्ट्रॉन्ग) में 5 से 8, व्हिस्की में 36 से 50 और वाइन (रेड एंड व्हाइट) सएसएआई का ये प्रस्ताव मंजूर होने की पूरी संभावना है, क्योंकि दोनों ही विषय जनस्वास्थ्य से जुड़े हैं।

शराब पीकर वाहन चलाने से सिर्फ राजस्थान में रोज दो हादसे...1 मौत

मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाइवे की रिपोर्ट के अनुसार शराब पीकर गाड़ी चलाने से 2016 में 673 सड़क हादसे हुए। इनमें 716 घायल हुए, 372 की मौत हुईं। 2015 में 667 सड़क हादसों में 338 घायल हुए तो 343 लोगों की जान गई।

पूर्व निर्धारित आकार में ही लगेगा लेबल
एफएसएसएआई के प्रपोजल के मुताबिक शराब की बोतल पर स्वास्थ्य संबंधी चेतावनी के साथ ही “बी सेफ...डू नॉट ड्रिंक एंड ड्राइव” का भी सचित्र लेबल लगाया जाएगा। इस लेबल को एक पूर्व निर्धारित आकार में लगाना अनिवार्य होगा। ऐसा न करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।

मिलेगा 6 महीने का वक्त
एफएसएसएआई इस ड्राफ्ट को करीब 1 साल से ज्यादा समय से तैयार करने के लिए कार्य कर रही था। केंद्र सरकार से अप्रूवल के बाद नोटिफिकेशन जारी कर सभी शराब निर्माता कंपनियों को लेबल व अल्कोहल और एलिमेंट लिमिट संबंधी बदलाव करने के लिए 6 महीने का वक्त दिया जाएगा।

अप्रूवल होते ही एक माह में नोटिफिकेशन जारी करेंगे
हमने इसके लिए फाइनल ड्राफ्ट तैयार करके स्वास्थ्य मंत्रालय भेज दिया है। स्वास्थ्य मंत्री से अप्रूवल होते ही माह भर में नोटिफिकेशन जारी कर देंगे।
- पंकज कुमार अग्रवाल (सीईओ, फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया, दिल्ली)

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ab shraab ki botl par hogai chetaavni- du not drink end draaiv
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×