--Advertisement--

सिनेमाघरों में प्रदर्शित नहीं होगी पद्मावत फिल्म, सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

वितरकों का फिल्म लाने से इनकार, सिनेमाघर भी प्रदर्शन को राजी नहीं

Dainik Bhaskar

Jan 23, 2018, 06:00 AM IST
सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी मिलने के बावजूद संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का प्रदेश में प्रदर्शन नहीं होगा। सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी मिलने के बावजूद संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का प्रदेश में प्रदर्शन नहीं होगा।

जयपुर. सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी मिलने के बावजूद संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का प्रदेश में प्रदर्शन नहीं होगा। करणी सेना की सिनेमाघरों में तोड़फोड़ और जनता कर्फ्यू लगाने जैसी धमकियों के बीच फिल्म वितरकों ने इस फिल्म से खुद को अलग कर लिया है। अधिकांश सिनेमाहॉल संचालकों ने भी कहा है कि भले ही सुरक्षा दी जाए, लेकिन वे फिल्म का प्रदर्शन नहीं करेंगे। इस बीच, पद्मावत फिल्म पर बैन को खारिज करने वाले सुप्रीम कोर्ट के अंतरिम आदेश के खिलाफ राज्य सरकार की याचिका स्वीकार हो गई है। इस पर सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को सुनवाई करेगा।

- उधर, गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि प्रदेश में अमन-चैन कायम रहे, इसके लिए सरकार सुप्रीम कोर्ट में अपना पक्ष रखने जा रही है।

- श्रीराजपूत करणी सेना के लोकेंद्र सिंह कालवी ने भी फिर चेताया कि फिल्म किसी हाल में रिलीज नहीं करने दी जाएगी। भंसाली के न्योते पर बोले- मैं फिल्म देखने को तैयार हूं।

- दूसरी ओर, खबर है कि श्रीराष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने फिल्म देखने से मना कर दिया है।
- गौरतलब है कि राजस्थान सहित चार राज्यों में इस फिल्म पर बैन लगाया गया था। करीब 8 दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने यह बैन हटाते हुए फिल्म को पूरे देश में प्रदर्शित करने की अनुमति दे दी थी। फिल्म का प्रदर्शन 25 जनवरी को तय किया गया है।

फिल्म वितरकों ने लिखित में दी जानकारी

- राजस्थान में प्रमुख फिल्म वितरकों ने फिल्म वितरण से इनकार कर दिया है। मरुधर साइन एंटरटेनमेंट ने अपने एक लाइन के प्रेस रिलीज में कहा है कि फिल्म पद्मावत का वितरण नहीं करेंगे।

- यशराज जय पिक्चर्स ने भी फिल्म के वितरण से इनकार किया है। फिल्म वितरक और कंपनी के निदेशक राज बंसल ने भी राज्य में वितरण से मना कर दिया है।

- फिल्म वितरकों ने राज्य सरकार को इसकी जानकारी लिखित में दी है। राजमंदिर सिनेमा हॉल के मैनेजर अशोक तंवर का कहना है कि वे पद्मावत फिल्म को सिनेमा हॉल में नहीं लगाएंगे।

- INOX के राजस्थान यूनिट हैड अमिताभ जैन ने कहा- फिल्म की एडवांस बुकिंग चालू नहीं की है। आगे से जो निर्देश मिलेंगे उसी के अनुसार काम किया जाएगा। आईनॉक्स की राजस्थान में 12 और जयपुर में छह स्क्रीन हैं।
- श्री राजपूत करणी सेना के जिलाध्यक्ष नारायण सिंह व महासचिव महेन्द्र सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने आइनॉक्स सहित कई सिनेमा हॉल के बाहर विरोध जताया।

मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश में कई जगह प्रदर्शन
- राजस्थान और गुजरात से सटे पश्चिमी मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में करणी सेना ने राजमार्गों पर चक्काजाम किया। तोड़फोड़ भी की गई। उप्र के मथुरा में प्रदर्शन हुए।

- गौतम बुद्ध नगर जिले में रविवार को हुए प्रदर्शनों को लेकर 200 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। गोरखपुर में भी कई जगह प्रदर्शन हुए।

याचिका में राजपूत संगठन भी साथ आते तो ठीक रहता : गृहमंत्री
- गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि राज्य सरकार पद्मावत फिल्म के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में गई है। मंगलवार को इस पर सुनवाई होगी। सरकार कोर्ट से प्रदेश में बैन हटाने के आदेश को निरस्त करने के आदेश पर पुनर्विचार की मांग कर रही है। हम चाहते थे कि करणी सेना और महाराणा अरविंद सिंह मेवाड़ भी सुप्रीम कोर्ट में पार्टी बनते। इससे कोर्ट में पक्ष और मजबूत रहता।

आरएसएस और विहिप भी विरोध में उतरे, तोगड़िया का ऐलान- यह हिंदू महिलाओं के सम्मान का मामला, फिल्म नहीं चलने देंगे आरएसएस और विहिप भी विरोध में उतरे, तोगड़िया का ऐलान- यह हिंदू महिलाओं के सम्मान का मामला, फिल्म नहीं चलने देंगे

अब तक सिर्फ राजपूतों की ओर से फिल्म पद्मावत का विरोध हो रहा था लेकिन अब आरएसएस और विश्व हिंदू परिषद जैसे संगठन भी विरोध में आए गए हैं। विहिप के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने ऐलान किया है कि किसी भी कीमत पर देश में यह फिल्म रिलीज नहीं होेने देंगे। यह प्रश्न सिर्फ राजपूतों का नहीं, सभी हिंदुओं के स्वाभिमान का है। क्योंकि जौहर में सभी हिंदू जातियों की महिलाओं ने बलिदान दिया था। जनता कर्फ्यू लगाएंगे। संघ के राजस्थान क्षेत्र के संघचालक डॉ. भगवती प्रकाश ने कहा है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर इतिहास के साथ खिलवाड़ गलत है। 

जयपुर आने पर सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी को दी जाएगी सुरक्षा जयपुर आने पर सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी को दी जाएगी सुरक्षा

गृह मंत्री ने कहा कि सेंसर बोर्ड के चेयरमैन प्रसून जोशी को सरकार पूरी सुरक्षा देगी। जोशी आगामी 25 जनवरी से जयपुर में आयोजित जेएलएफ में हिस्सा लेने आने वाले हैं। दिन-भर सोशल मीडिया पर जोशी को जेड प्लस सुरक्षा दिए जाने की खबरें चलती रही। गृह मंत्री एवं गृह विभाग ने स्पष्ट किया कि ऐसा कोई आदेश राज्य सरकार ने नहीं निकाला है। कटारिया ने जोशी को सुरक्षा दिए जाने का पूरा भरोसा दिलाया है।

जान देने को टावर पर चढ़ा: भीलवाड़ा में करणी सेना का पंचायत पदाधिकारी उपेन्द्र सिंह पेट्रोल लेकर सुबह 5 बजे 350 फीट ऊंचे मोबाइल टावर पर चढ़ गया। फिल्म पर रोक नहीं लगाने पर आत्महत्या की धमकी दी। पुलिस समझाती रही। दोपहर सवा दो बजे वह नीचे उतरा। जान देने को टावर पर चढ़ा: भीलवाड़ा में करणी सेना का पंचायत पदाधिकारी उपेन्द्र सिंह पेट्रोल लेकर सुबह 5 बजे 350 फीट ऊंचे मोबाइल टावर पर चढ़ गया। फिल्म पर रोक नहीं लगाने पर आत्महत्या की धमकी दी। पुलिस समझाती रही। दोपहर सवा दो बजे वह नीचे उतरा।
X
सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी मिलने के बावजूद संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का प्रदेश में प्रदर्शन नहीं होगा।सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी मिलने के बावजूद संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का प्रदेश में प्रदर्शन नहीं होगा।
आरएसएस और विहिप भी विरोध में उतरे, तोगड़िया का ऐलान- यह हिंदू महिलाओं के सम्मान का मामला, फिल्म नहीं चलने देंगेआरएसएस और विहिप भी विरोध में उतरे, तोगड़िया का ऐलान- यह हिंदू महिलाओं के सम्मान का मामला, फिल्म नहीं चलने देंगे
जयपुर आने पर सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी को दी जाएगी सुरक्षाजयपुर आने पर सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी को दी जाएगी सुरक्षा
जान देने को टावर पर चढ़ा: भीलवाड़ा में करणी सेना का पंचायत पदाधिकारी उपेन्द्र सिंह पेट्रोल लेकर सुबह 5 बजे 350 फीट ऊंचे मोबाइल टावर पर चढ़ गया। फिल्म पर रोक नहीं लगाने पर आत्महत्या की धमकी दी। पुलिस समझाती रही। दोपहर सवा दो बजे वह नीचे उतरा।जान देने को टावर पर चढ़ा: भीलवाड़ा में करणी सेना का पंचायत पदाधिकारी उपेन्द्र सिंह पेट्रोल लेकर सुबह 5 बजे 350 फीट ऊंचे मोबाइल टावर पर चढ़ गया। फिल्म पर रोक नहीं लगाने पर आत्महत्या की धमकी दी। पुलिस समझाती रही। दोपहर सवा दो बजे वह नीचे उतरा।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..