जयपुर

--Advertisement--

देशद्रोही को दंड: पाक जासूस को 7 साल कैद और एक लाख रुपए जुर्माने की सजा

उसके घर की तलाशी में कई आपत्तिजनक दस्तावेज और पाकिस्तान के कई नंबर मिले।

Danik Bhaskar

Jan 18, 2018, 03:52 AM IST

जयपुर. मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने देश की सामरिक महत्व की सूचनाएं कोडवर्ड में दुश्मन देश पाकिस्तान भेजने वाले जासूस अली खां उर्फ अली शेर को शासकीय गुप्त बात अधिनियम, 1923 की धारा 3 के अपराध में सात साल के कठोर कारावास एवं एक लाख रुपए जुर्माने की सजा दी है।

कोर्ट ने आदेश में कहा कि अभियुक्त पर दुश्मन देश की सहायता करना प्रमाणित हुआ है और यह भारतीय नागरिक के लिए शर्मनाक स्थिति है। मामले के अनुसार, सीआईडी को 26 जनवरी, 2011 को मुखबिर से सूचना मिली थी कि अभियुक्त अली खां महाजन फायरिंग रेंज एवं आस-पास के क्षेत्र में सेना से जुड़ी गोपनीय जानकारियों को पाकिस्तान स्थित अपने हैंडलिंग अफसर को भेजता है।

पुलिस ने अभियुक्त के मोबाइल को छह माह तक सर्विलांस पर रख कर बातचीत रिकॉर्ड की। बाद में 22 जून, 2011 को अारोपी को बीकानेर स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया। जासूसी सिद्ध हुई तो दंड मिला। और उसके घर की तलाशी में कई आपत्तिजनक दस्तावेज व पाकिस्तान के कई नंबर मिले। जिस पर पुलिस ने अली खां के पास नहरों की जानकारी, आर्मी कैम्प, युद्धाभ्यास के लिए आने-जाने, असला बारुद सहित अन्य जानकारी देने के मामले को लेकर स्पेशल पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज करवाया।

जांच में पता चला कि वह हथियारों, टेंकों, ट्रेनिंग क्षेत्रों एवं अफसरो से संबंधित जानकारी कोडवर्ड बब्बर शेर व हिरण जैसे शब्दों के जरिए पाकिस्तान को देता था।

Click to listen..