Home | Rajasthan | Jaipur | News | Pay scale equal to minimum wage of Panchayat assistants

‘यहां इतने ही पैसे मिलेंगे, गुजरात चले जाओ पंद्रह हजार दिला देंगे’

वेतनमान पर पंचायत सहायकों को प्रभारी सचिव की अजीब सलाह। पंचायत सहायकों ने की थी न्यूनतम मजदूरी के बराबर मानदेय की मांग

Bhaskar News| Last Modified - Dec 14, 2017, 05:39 AM IST

Pay scale equal to minimum wage of Panchayat assistants
‘यहां इतने ही पैसे मिलेंगे, गुजरात चले जाओ पंद्रह हजार दिला देंगे’

जालोर/जयपुर. कुछ महीने पहले नियुक्ति पाने वाले ग्राम पंचायत सहायकों ने बुधवार को न्यूनतम मजदूरी के बराबर वेतनमान की मांग की तो जिला प्रभारी सचिव कुंजीलाल मीणा ने अनूठे अंदाज में ही सलाह दे डाली। दरअसल, जिला मुख्यालय पर मैदान में रोजगार विभाग की ओर से कौशल, रोजगार एवं उद्यमिता शिविर का आयोजन किया हुआ था। जिसमें विभिन्न प्रकार की कंपनियों ने युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने के लिए काउंटर लगा रखे थे। 

 

जालोर दौरे पर आए प्रभारी सचिव कुंजीलाल मीणा भी बैठक के बाद शिविर का निरीक्षण करने पहुंच गए। उन्होंने सभी काउंटर पर कंपनियों के प्रतिनिधियों से जानकारी भी ली। बाद में रवानगी के दौरान प्रभारी सचिव मीणा को ज्ञापन देने के लिए ग्राम पंचायत सहायक संघ के पदाधिकारी पहुंच गए। 


सहायकों ने ज्ञापन में बताया कि न्यायालय की गाइडलाइन के मुताबिक न्यूनतम मजदूरी 17 हजार रुपए की हुई है, लेकिन पंचायत सहायकों को केवल छह हजार रुपए ही दिए जा रहे हैं। सहायकों ने उनका वेतनमान बढ़ाने की मांग की।

 

इस पर प्रभारी सचिव मीणा बोले कि यहां राजस्थान में तो फिलहाल इतने ही रुपए मिलेंगे। बाद में बोले कि गुजरात में चले जाओ वहां कई कंपनियां पन्द्रह हजार रुपए तक दे देगी। हालांकि, मीणा बाद में हंसते हुए बोले- मुझे दे दो ज्ञापन बात ऊपर तक पहुंचा दूंगा। जिस दौरान जब यह वाकया हुआ तब कलेक्टर बाबूलाल कोठारी, एडीएम नरेश बुनकर समेत कई अधिकारी भी मौजूद थे। मीणा के बयान से एकबारगी सभी चौंक गए।

 

 

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now