Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Policemen Untrained Who Handling Jaipur Airport Security

CISF की रिपोर्ट : एयरपोर्ट की सुरक्षा संभाल रहे पुलिसकर्मी अप्रशिक्षित!

अतिसंवेदनशील कैटेगरी में जोधपुर एयरपोर्ट 18वें तो संवेदनशील है उदयपुर एयरपोर्ट

शिवांग चतुर्वेदी | Last Modified - Dec 29, 2017, 06:48 AM IST

CISF की रिपोर्ट : एयरपोर्ट की सुरक्षा संभाल रहे पुलिसकर्मी अप्रशिक्षित!

जयपुर. देशभर के एयरपोर्ट्स पर शहरों की तरफ से (सिटी साइड) आतंकी हमले या किसी अन्य वारदात को रोकने के लिए पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम नहीं हैं। देश में गुवाहाटी और जयपुर में शहरों की तरफ से एयरपोर्ट की सुरक्षा सबसे कमजोर है। सीआईएसएफ की इस रिपोर्ट ने राजस्थान के जयपुर और जोधपुर में कमिश्नरेट की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर दिया है।

- रिपोर्ट में गुवाहटी और जयपुर एयरपोर्टस को अतिसंवेदनशील एयरपोर्ट की श्रेणी में पहले, दूसरे और जोधपुर एयरपोर्ट को 18वें नंबर पर रखा गया है। वहीं, संवेदनशील एयरपोर्ट के मामले में चंडीगढ़ 3, उदयपुर 25वें और भोपाल 34वें नंबर पर है।

- इस बात का खुलासा सीआईएसएफ द्वारा गृह मंत्रालय को भेजी गई रिपोर्ट में हुआ है। दूसरी ओर 2014 में गृह मंत्रालय द्वारा एयरपोर्टस के आसपास (सिटी साइड) की सुरक्षा सीआईएसएफ को देने का फैसला किया गया था, लेकिन तीन साल होने के बाद भी इस पर अमल नहीं हो पाया है। यह योजना अभी तक भी कागजों में ही घूम रही है। फिलहाल एयरपोर्टस के पास की सुरक्षा की जिम्मेदारी राज्य सरकार के पुलिसकर्मी निभा रहे हैं। जो पूरी तरह प्रशिक्षित भी नहीं हैं। यह बेहद चिंताजनक स्थिति है। काउंटर टेरेरिस्ट कंटिंजेंसी प्लान के तहत सभी एयरपोर्ट की सिटी साइड की सुरक्षा की समीक्षा की गई थी।

टॉप 5 एयरपोर्ट अतिसंवेदनशील
1. गुवाहाटी
2. जयपुर
3. अमृतसर
4. चेन्नई
5. कोलकाता


संवेदनशील
1. आगरा
2. भुंटेर
3. चंडीगढ़
4. शिमला
5. कानपुर


सिटी साइड 4 एयरपोर्ट की रैंकिंग अति संवेदनशील
जोधपुर 18
संवेदनशील
पटना 10
संवेदनशील
रांची 22
संवेदनशील
उदयपुर 25

होना यह चाहिए था
- कमांडो तैनात हों, नए अत्याधुनिक हथियार मिले।
- टर्मिनल से 100 मीटर पहले बैरिकेटिंग कर वाहन की जांच
- वाहन में बैठे लोगों की पूरी प्रोफाइलिंग होनी चाहिए
- टर्मिनल के बाहर बुलेटप्रूफ मोर्चा, अत्याधुनिक हथियारों वाले जवान
- क्विक एरिक्शन टीम में कमांडो की तैनाती
- डॉग स्क्वायड और बम डिस्पोजल स्क्वायड


...और 3 साल से सिर्फ बैठकें और प्रस्ताव
- 11 जून 2014 को विमानन मंत्रालय ने सिटी साइड की सुरक्षा पर पहली बैठक की। मंत्रालय द्वारा गठित समिति ने 19 एयरपोर्ट की सिटी साइड को सीआईएसएफ के हवाले करने का फैसला किया। इस बाबत एक प्रस्ताव ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी (बीसीएएस) के पास भेजा गया। यह प्रस्ताव अभी तक बीसीएएस के पास लंबित।
- इसके बाद दिसंबर 2016 में नए आदेशों के तहत समिति ने फिर प्रस्ताव बीसीएएस को भेजा। 11 अप्रैल 2017 को समिति के प्रस्तावों पर गृह मंत्रालय ने कुछ स्पष्टीकरण मांगे। {2 मई 2017 को गृह मंत्रालय के पास जवाब भेजे गए, तब से प्रस्ताव लंबित पड़ा हुआ है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×