Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Rajasthan Enact Law For Life Sentence For Dushkarm Of Girls Below 15 Years

15 साल तक की बच्ची से रेप पर फांसी की सजा, मसौदा तैयार

सीएम वसुंधरा राजे की घोषणा के एक माह के भीतर गृह विभाग ने नए कानून का मसौदा लगभग तैयार कर लिया है।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 01, 2018, 04:19 AM IST

15 साल तक की बच्ची से रेप पर फांसी की सजा, मसौदा तैयार

जयपुर.राजस्थान में 15 साल या इससे कम उम्र की बालिकाओं के साथ दुष्कर्म या सामूहिक दुष्कर्म करने वालों को फांसी की सजा होगी। बड़े जुर्माने का भी प्रावधान किया गया है। नए साल में इस कठोर कानून के पीछे सरकार की मंशा है कि महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा और बेहतर हो।

सीएम वसुंधरा राजे की घोषणा के एक माह के भीतर गृह विभाग ने नए कानून का मसौदा लगभग तैयार कर लिया है। जल्द ही इसे विधि विभाग में भेजा जाएगा। सीआरपीसी व आईपीसी में संशोधन का यह बिल विधानसभा के बजट सत्र में पारित होने की संभावना है।

इसके बाद राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। दुष्कर्मियों के खिलाफ ऐसा कठोर कानून लाने वाला राजस्थान देश में मप्र के बाद दूसरा राज्य होगा। मप्र में 12 साल या इससे कम उम्र की बच्चियां इस कानून के दायरे में हैं।

दुष्कर्म की सजा में ये बदलाव

अभी :16 साल से कम उम्र की बच्ची से दुष्कर्म पर आजीवन कारावास तक, जुर्माना भी।
प्रस्तावित :15 साल या इससे कम उम्र की बालिका से दुष्कर्म पर फांसी या न्यूनतम 14 साल कठोर कारावास या आजीवन कारावास की सजा।
...और सामूहिक दुष्कर्म पर ये
अभी सजा : न्यूनतम 20 साल का कठोर कारावास या आजीवन कारावास, जुर्माना भी।
प्रस्तावित :15 साल या कम आयु की बालिका से सामूहिक दुष्कर्म पर फांसी या न्यूनतम 20 साल या आजीवन कारावास एवं जुर्माना।
858 केस दर्ज हुए 2016 में
वर्ष देश में राजस्थान
2016 19765 858
2015 19654 771
2014 18661 906
(स्रोत : नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो)
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 15 saal tak ki bachchi se rep par faansi ki sjaa, msaudaa taiyaar
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×