--Advertisement--

8.5 Cr में से आधा फंड खर्च करने वाले सिर्फ 103 MLA, एक ने तो 6 लाख ही खर्च किए

विकास ही नहीं तो ये विधायक निधि किस काम की? चार साल बीत गए, लेकिन अपने फंड के साढ़े 8 करोड़ में से आधी राशि खर्च करने वा

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 05:04 AM IST

जयपुर. चार साल बीत गए। लेकिन जिस विकास की आस के साथ लोगों ने अपना विधायक चुना था, उनमें से अधिकांश अपने फंड का उपयोग ही नहीं कर पाए। नियम है कि हर विधायक अपने कोटे से प्रतिवर्ष सवा दो करोड़ रु. खर्च कर जनहित के काम करवा सकता है, लेकिन दैनिक भास्कर ने प्रदेश के दो सौ विधायकों के पिछले चार साल में कराए गए कार्यों का रिकॉर्ड खंगाला तो स्थिति चौंकाने वाली निकली।

- एक विधायक ने तो पिछले चार साल के साढ़े 8 करोड़ के फंड में से महज 6 लाख रु. ही खर्च किए।

- तीन विधायक (अशोक परनामी-92 लाख, राजपाल सिंह-6.17 लाख व नवीन पिलानिया-21 लाख) एक करोड़ का आंकड़ा भी नहीं छू पाए।

- आधी राशि यानी करीब चार करोड़ रु. पार करने वाले विधायकों की संख्या 103 रही। ऐसा कोई विधायक नहीं है, जिसने पूरी राशि खर्च की।

- यह स्थिति सत्ता पक्ष के साथ कांग्रेस के विधायकों की है।

- मंत्री भी राशि खर्च करने में फिसड्‌डी रहे। हालांकि, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे कई मंत्रियों से आगे रहीं। उन्होंने 5.62 करोड़ रु. खर्च किए हैं।

लक्ष्य पूरा करने वाला एक नहीं
एक करोड़ तक खर्च 3 विधायक
1 से 2 करोड़ के बीच 3 विधायक
2 से 4 करोड़ तक 26 विधायक
4 से 6 करोड़ खर्चने वाले 103 विधायक
6 से 7 करोड़ के बीच 65 विधायक
- हर विधायक को प्रतिवर्ष सवा दो करोड़ रु. जनहित के काम करवाने का फंड मिलता है। चार साल में करीब 8.5 करोड़ खर्च करने थे। लेकिन एक भी विधायक ऐसा नहीं कर पाया।
अब बोले- अंतिम साल में खर्चेंगे
- ज्यादातर विधायकों का तर्क हैं कि उन्होंने कोष को चुनावी साल के लिए बचा कर रखा हुआ है। वे अंतिम साल में इसे खर्च करेंगे। लेकिन... वित्तीय स्वीकृति, टेंडर में समय लगता है, 11 माह में राशि खर्च होने पर संशय।