--Advertisement--

शंभुलाल की पत्नी बोली- भरोसा नहीं होता वे ऐसा कर सकते हैं, उन्होंने तो कभी मुझसे भी मारपीट नहीं की

शराब के नशे का आदी था शंभुलाल, लेकिन नहीं करता था कभी बच्चों या पत्नी से मारपीट, परिवार चलाने के लिए अब कमाऊ नहीं

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 05:48 AM IST
शंभु की पत्नी सीता शंभु की पत्नी सीता

राजसमंद. अफराजुल की हत्या के बाद शंभु लाल रेगर की गिरफ्तारी के बाद उसके परिवार के संकट भी बढ़ गए हैं। शंभु ने अफराजुल के परिवार को तो तबाह किया ही है, उसने अपने परिवार को भी सड़क पर ला दिया है। शंभुलाल के घर में अब कोई कमाऊ नहीं बचा है। घर में उसकी पत्नी सीता है और तीन छोटे बच्चे हैं। शंभु की बड़ी बेटी दसवीं में पढ़ती है और अब उसके सामने भी स्कूल जाने की राह में कई तरह के संकट हैं। वह सोचती है कि अब वह बाकी बच्चों को क्या जवाब देगी।

- शंभु की पत्नी सीता कहती है, मैंने तो कभी सपने में भी सोचा कि वह (शंभुलाल) ऐसा कर देगा। घटना वाले दिन शंभु सुबह ही खाना खाकर घर से निकला था और उसके हावभाव या बातचीत से ऐसा कुछ नहीं लग रहा था कि वह ऐसा कुछ करेगा। उन्हें तो घटना की तब भी आशंका नहीं हुई जब दोपहर में उनके पड़ोसियों ने बताया कि तुम्हारे खेत पर किसी का शव पड़ा है। यह सुना तो हम सब परिवार वाले सन्न रह गए और डर गए। इसके बाद मेरा देवर और दूसरे लोग दौड़कर खेत पहुंचे तो वहां जला हुआ शव पड़ा था। सीता बोली, इसके बाद भी नहीं लगा कि यह शंभु ने किया होगा। कुछ देर बाद वीडियो में शंभुलाल को हत्या करते देखा तो भी विश्वास ही नहीं हुआ। वीडियो में खुद हत्या करते हुए दिख रहे हैं तो कोई कैसे कह देगा कि किसी दूसरे ने ऐसा किया है।

लड़की को लेने दो साल पहले पश्चिम बंगाल गए थे

- सीता ने बताया, कुछ साल से मार्बल का काम बंद होने से वे कुछ काम नहीं कर रहे थे। इस कारण डेढ़ लाख रुपए का कर्जा लेना पड़ा। एक महिला से तो एक लाख रुपए कर्ज लिया थे। सीता कहने लगी, अब घर में कोई कमाने वाला नहीं बचा है। मजदूरी कर बच्चों को पालने, घर चलाने की नौबत आ गई है। इसके सिवाय और कोई रास्ता नहीं बचा है। अब मुझे ही मजूरी करनी होगी।

- शंभुलाल की पत्नी सीता ने बताया कि वे लड़की को लेने दो साल पहले पश्चिम बंगाल गए थे। अफराजुल से किसी झगड़े की बात पर सीता ने कहा कि, कोई झगड़ा तो मैंने नहीं सुना। मैंने तो कभी देखा तक नहीं। मेरे से कभी ऐसी बात नहीं करते थे।

पड़ोसियों ने बताया था, तुम्हारे खेत पर शव पड़ा है
शंभुलाल का खेत कलेक्ट्री से सिर्फ सात सौ मीटर की दूरी पर है। वह अफराजुल को वहां कुछ काम होने की बात कहकर ले गया था। पड़ोसियों ने घर वालों को बताया कि, तुम्हारे खेत पर शव पड़ा है।

आरोपी शंभू आरोपी शंभू