Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Rally And Protest Ban In Jaipur City In Morning And Evening Time

जयपुर में सुबह 9 से 12 और शाम 4 से 8 बजे तक नहीं निकाल सकेंगे रैली-जुलूस

हाईकोर्ट ने राज्य सरकार की पाबंदी हटाने की अपील नहीं मानी, धार्मिक आयोजनों पर पाबंदी नहीं

Bhaskar News | Last Modified - Dec 09, 2017, 04:13 AM IST

जयपुर में सुबह 9 से 12 और शाम 4 से 8 बजे तक नहीं निकाल सकेंगे रैली-जुलूस

जयपुर.हाईकोर्ट ने जयपुर शहर में सुबह 9 से दोपहर 12 बजे और शाम 4 बजे से रात 8 बजे के बीच रैलियां व जुलूस निकालने और प्रदर्शन करने की मंजूरी देने से इनकार कर दिया। हालांकि, अदालत ने धार्मिक आयोजनों व यात्राओं पर किसी तरह की पाबंदी नहीं लगाई है।

- न्यायाधीश केएस झवेरी व इंद्रजीत सिंह की खंडपीठ ने यह निर्देश शुक्रवार को सिटीजन प्रोटेक्शन सोसायटी के अध्यक्ष डॉ. कौस्तुभ दाधीच की याचिका व राज्य सरकार के प्रार्थना पत्र का निपटारा करते हुए दिया।

- कोर्ट ने सरकार से यह भी कहा कि वह सुनिश्चित करे कि रैली-प्रदर्शनों के दौरान आमजन को परेशानी नहीं हो। अदालत ने मंशा जताई कि धरने-प्रदर्शन की बजाय क्या कोई ऐसा सिस्टम विकसित नहीं हो सकता जिसके तहत कोई पांच आदमी ही जाकर संबंधित अफसर को ज्ञापन सौंप आएं।

सरकार ने जनता का हक बताया
- अदालत ने 14 जुलाई 2017 को अंतरिम आदेश दिए थे कि शहरी सीमा के भीतर कार्य दिवसों में रैली, विरोध-प्रदर्शन व जुलूसों का आयोजन नहीं होना चाहिए। सरकार ने इसी के खिलाफ याचिका लगाई थी।

-सरकार की ओर से एएसजी जीएस गिल ने कहा था कि रैली निकालना व प्रदर्शन करना आमजन का लोकतांत्रिक हक है, इसलिए पाबंदी हटाई जाए।

- जवाब में प्रार्थी के अधिवक्ता आरबी माथुर ने कहा कि वे इसे नियंत्रित करने की बात कह रहे हैं, जिससे कि आमजन को परेशानी नहीं हो।

- अदालत ने दोनों पक्षों को सुनकर रैली, धरने व प्रदर्शनों पर लगी पाबंदी को हटाने से इनकार कर दिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: jypur mein subah 9 se 12 aur shaam 4 se 8 bje tak nahi nikal sakenge raili-julus
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×