जयपुर

--Advertisement--

शर्मिला टैगोर ने कहा- हम फिल्मी दुनिया से हैं, पर फिल्मी दुनिया में नहीं रहते

सोहा के ग्रेजुएशन पर टाइगर पटौदी बहुत खुश हुए थे, क्योंकि क्रिकेट के कारण वे खुद ग्रेजुएशन नहीं कर पाए थे।

Danik Bhaskar

Jan 29, 2018, 05:50 AM IST

जयपुर. 'हम लोग फिल्मी दुनिया से भले ही हैं, लेकिन हमेशा फिल्मी दुनिया में नहीं रहते। हमारे अपने परिवार और अपनी दुनिया भी है। घर पर हम कभी भी आपस में फिल्मों के बारे में बात नहीं करते।' यह कहना था सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष रही प्रसिद्ध अभिनेत्री शर्मिला टैगोर का।

- वे जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में अपनी बेटी सोहा अली खान की किताब 'पीरिल्स ऑफ सेलेब्रिटी' पर आधारित एक सत्र में सोहा अली खान और संजोय के.रॉय क साथ बातचीत कर रही थीं।

- उन्होंने कहा, "सेलिब्रिटी के बच्चों को बार-बार मौका कोई नहीं देता। एक बार मौका मिलने के बाद दूसरी बार बच्चों को खुद अपने को साबित करना पडता है, वरना कोई काम नहीं देता।'
- उन्होंने कहा कि सोहा के ग्रेजुएशन पर टाइगर पटौदी बहुत खुश हुए थे, क्योंकि क्रिकेट के कारण वे खुद ग्रेजुएशन नहीं कर पाए थे।
- शर्मिला ने कहा, "मैंने कई बार सोचा कि किताब लिखूं, फिर लगा कि कौन पढ़ेगा मेरी किताब? अब तो हालांकि समय ही नहीं है।'

मां ने सिखाया बहुत कुछ
- सोहा ने अपनी पहली किताब 'द पीरिल्स ऑफ सेलिब्रिटी' किताब को लेकर बात की।
- सोहा ने कहा, "इस किताब में मैंने वही सब कुछ लिखा है जो अपने परिवार में मैंने अनुभव किया है। मेरी मां मेरी सबसे अच्छी दोस्त है। उन्होंने मुझे हर चीज सिखाई है और इसी से मैं जीवन में आगे बढ़ पाई हूं।'
- उन्होंने कहा कि एक फिल्म बनाने में टीम वर्क होता है, लेकिन किताब लिखने में केवल लिखने वाले के अनुभव का योगदान होता है। इसमें राइटर और लेपटॉप होता है।
- उन्होंने कहा, "मेरी फैमिली अनोखी फैमिली है और इस फैमिली में हर कोई अचीवर है। इसका भी फायदा मुझे मिला है।'

Click to listen..