Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Tantrik Kept Lock A Sick Woman In The Room For One And Half Months

मौत के बाद भी तांत्रिक डेढ़ महीने तक करते रहे झाड़-फूंक, बदबू से खुला मौत का राज

बेटी को अंधविश्वास के चलते मार दिया गया, तंत्रिकों के कहने पर फैमिली ने उसका इलाज नहीं करवाया।

Bhaskar News | Last Modified - Mar 01, 2018, 07:24 PM IST

    • मृतका अनीता का फाइल फोटो और घर पर पड़ा मृतका का शव।

      गंगापुर सिटी(जयपुर).35 साल की एक महिला को तांत्रिक उसके घर में ही जिंदा करने की कोशिश में लगे थे। तांत्रिकों ने महिला को इलाज करने के लिए डेढ़ महीने तक कमरे में बंद करके रखा था। बदबू नहीं आए, इसलिए हर रोज अगरबत्ती जलाते और खुशबू लगाते रहे। ज्यादा बदबू आने पर अनीता की बहन मोहिनी को इस बात का पता चला। बहन ने पूरी कहानी अपने भाई श्याम सिंह को बताई तो मामले का खुलासा हुआ। जिसके बाद भाई ने थाने में मामला दर्ज कराया है। ऐसे पकड़े गए चारों आरोपी...

      - पुलिस ने मकान में जाकर देखा तो युवती की लाश कमरे में पड़ी थी, उस पर कपड़े भी नहीं थे और जगह-जगह पट्टियां बंधी हुई थीं ।

      - मृतका की फैमिली ने बताया कि तांत्रिक उन्हें लगातार डराते रहे और बेटी अनीता का इलाज नहीं करवाने दिया।

      - अनीता की बहन मोहिनी घर से भाग कर अलग रह रहे भाई को हकीकत बताने गई थी।

      - फिर दोनों भाई बहन पुलिस को लेकर घर पहुंच गए, जहां चारों आरोपी मौजूद थे।

      मोहिनी को ढूंढने गया आरोपी हुआ फरार
      - जब मोहिनी घर से बाहर चली गई तो मुख्य आरोपित गजेंद्र उर्फ पप्पू उसे तलाशने के लिए कस्बे में चला गया।

      - वापस लौटा तो उसने घर के बाहर पुलिस को देखा। यह देखकर वह पूरी स्थिति समझ गया और वहां से फरार हो गया।

      परिवार को ऐसे फंसाया
      - तांत्रिकों ने मां उर्मिला देवी व पिता ताराचंद को पूरी तरह अंध विश्वास में डुबो दिया था। उन्होंने अनीता का इलाज कर उसमें देवी का प्रवेश होना बताया।

      - गद्दी पर बैठाकर अनीता के जरिये लोगों का इलाज करने लगे। घर में लोगों की आवाजाही बढ़ गई थी।

      बेटों को घर छोड़ना पड़ा
      - ताराचंद के तीनों बेटे श्याम सिंह, गजेंद्र सिंह घर में तांत्रिकों के आने से नाराज थे।

      - उन्होंने माता-पिता को समझाने की खूब कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने। आखिर वे खुद घर छोड़कर किराये के मकाने में रहने लगे थे।

      कहते रहे अनीता जिंदा है
      - डेढ़ माह से अनीता कमरे में बंद थी। मकान से बदबू आ रही थी, लेकिन माता-पिता को जरा भी शक नहीं हुआ।

      - वे तांत्रिक की बात पर विश्वास करते रहे-फिक्र मत करो अनीता जिंदा है और छोटी बेटी की बात भी नहीं मानी।

      - पुलिस ने सपोटरा निवासी गजेंद्र उर्फ पप्पू शर्मा, पत्नी मंजू शर्मा, धूलवास निवासी गोपाल सिंह, मथुरा निवासी बंटी उर्फ संदीप शर्मा, महुकलां निवासी नीटू पुत्र हनुमान चौधरी के खिलाफ धारा 304 व 120बी में मामला दर्ज किया और मकान को भी सीज कर दिया।

    • मौत के बाद भी तांत्रिक डेढ़ महीने तक करते रहे झाड़-फूंक, बदबू से खुला मौत का राज
      +4और स्लाइड देखें
      मृतका का मकान जहां वारदात को अंजाम दिया गया।
    • मौत के बाद भी तांत्रिक डेढ़ महीने तक करते रहे झाड़-फूंक, बदबू से खुला मौत का राज
      +4और स्लाइड देखें
      पुलिस गिरफ्त में तंत्र क्रिया करने वाले आरोपी।
    • मौत के बाद भी तांत्रिक डेढ़ महीने तक करते रहे झाड़-फूंक, बदबू से खुला मौत का राज
      +4और स्लाइड देखें
      घर पर पड़ा मृतका का शव।
    • मौत के बाद भी तांत्रिक डेढ़ महीने तक करते रहे झाड़-फूंक, बदबू से खुला मौत का राज
      +4और स्लाइड देखें
      अॉटो से हॉस्पिटल पहुंचाया गया मृतका का शव।
    Topics:
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Tantrik Kept Lock A Sick Woman In The Room For One And Half Months
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×