--Advertisement--

महिला को इलाज के बहाने तांत्रिक ने डेढ़ महीने रखा कैद, बदबू से खुला मौत का राज

बेटी को अंधविश्वास के चलते मार दिया गया, तंत्रिकों के कहने पर फैमिली ने उसका इलाज नहीं करवाया।

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 12:35 AM IST
मृतका अनीता का फाइल फोटो और घर पर पड़ा मृतका का शव। मृतका अनीता का फाइल फोटो और घर पर पड़ा मृतका का शव।

गंगापुर सिटी(जयपुर). 35 साल की एक महिला को तांत्रिक उसके घर में ही जिंदा करने की कोशिश में लगे थे। तांत्रिकों ने महिला को इलाज करने के लिए डेढ़ महीने तक कमरे में बंद करके रखा था। बदबू नहीं आए, इसलिए हर रोज अगरबत्ती जलाते और खुशबू लगाते रहे। ज्यादा बदबू आने पर अनीता की बहन मोहिनी को इस बात का पता चला। बहन ने पूरी कहानी अपने भाई श्याम सिंह को बताई तो मामले का खुलासा हुआ। जिसके बाद भाई ने थाने में मामला दर्ज कराया है। ऐसे पकड़े गए चारों आरोपी...

- पुलिस ने मकान में जाकर देखा तो युवती की लाश कमरे में पड़ी थी, उस पर कपड़े भी नहीं थे और जगह-जगह पट्टियां बंधी हुई थीं ।

- मृतका की फैमिली ने बताया कि तांत्रिक उन्हें लगातार डराते रहे और बेटी अनीता का इलाज नहीं करवाने दिया।

- अनीता की बहन मोहिनी घर से भाग कर अलग रह रहे भाई को हकीकत बताने गई थी।

- फिर दोनों भाई बहन पुलिस को लेकर घर पहुंच गए, जहां चारों आरोपी मौजूद थे।

मोहिनी को ढूंढने गया आरोपी हुआ फरार
- जब मोहिनी घर से बाहर चली गई तो मुख्य आरोपित गजेंद्र उर्फ पप्पू उसे तलाशने के लिए कस्बे में चला गया।

- वापस लौटा तो उसने घर के बाहर पुलिस को देखा। यह देखकर वह पूरी स्थिति समझ गया और वहां से फरार हो गया।

परिवार को ऐसे फंसाया
- तांत्रिकों ने मां उर्मिला देवी व पिता ताराचंद को पूरी तरह अंध विश्वास में डुबो दिया था। उन्होंने अनीता का इलाज कर उसमें देवी का प्रवेश होना बताया।

- गद्दी पर बैठाकर अनीता के जरिये लोगों का इलाज करने लगे। घर में लोगों की आवाजाही बढ़ गई थी।

बेटों को घर छोड़ना पड़ा
- ताराचंद के तीनों बेटे श्याम सिंह, गजेंद्र सिंह घर में तांत्रिकों के आने से नाराज थे।

- उन्होंने माता-पिता को समझाने की खूब कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने। आखिर वे खुद घर छोड़कर किराये के मकाने में रहने लगे थे।

कहते रहे अनीता जिंदा है
- डेढ़ माह से अनीता कमरे में बंद थी। मकान से बदबू आ रही थी, लेकिन माता-पिता को जरा भी शक नहीं हुआ।

- वे तांत्रिक की बात पर विश्वास करते रहे-फिक्र मत करो अनीता जिंदा है और छोटी बेटी की बात भी नहीं मानी।

- पुलिस ने सपोटरा निवासी गजेंद्र उर्फ पप्पू शर्मा, पत्नी मंजू शर्मा, धूलवास निवासी गोपाल सिंह, मथुरा निवासी बंटी उर्फ संदीप शर्मा, महुकलां निवासी नीटू पुत्र हनुमान चौधरी के खिलाफ धारा 304 व 120बी में मामला दर्ज किया और मकान को भी सीज कर दिया।

मृतका का मकान जहां वारदात को अंजाम दिया गया। मृतका का मकान जहां वारदात को अंजाम दिया गया।
पुलिस गिरफ्त में तंत्र क्रिया करने वाले आरोपी। पुलिस गिरफ्त में तंत्र क्रिया करने वाले आरोपी।
घर पर पड़ा मृतका का शव। घर पर पड़ा मृतका का शव।
अॉटो से हॉस्पिटल पहुंचाया गया मृतका का शव। अॉटो से हॉस्पिटल पहुंचाया गया मृतका का शव।
X
मृतका अनीता का फाइल फोटो और घर पर पड़ा मृतका का शव।मृतका अनीता का फाइल फोटो और घर पर पड़ा मृतका का शव।
मृतका का मकान जहां वारदात को अंजाम दिया गया।मृतका का मकान जहां वारदात को अंजाम दिया गया।
पुलिस गिरफ्त में तंत्र क्रिया करने वाले आरोपी।पुलिस गिरफ्त में तंत्र क्रिया करने वाले आरोपी।
घर पर पड़ा मृतका का शव।घर पर पड़ा मृतका का शव।
अॉटो से हॉस्पिटल पहुंचाया गया मृतका का शव।अॉटो से हॉस्पिटल पहुंचाया गया मृतका का शव।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..