--Advertisement--

बहन को गद्दी पर बिठा लोगों का इलाज करते थे तांत्रिक, मां-बाप से कहा- भूत का है साया

घटना डरावनी, लेकिन पढ़ना जरूरी है...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 01:19 AM IST
सड़ चुका था युवती का शव सड़ चुका था युवती का शव

गंगापुर सिटी (जयपुर). तांत्रिकों ने 35 साल की एक युवती को उसके घर में ही जिंदा करने की कोशिश कर रहे थे। परेशान होकर मृत युवती की बहन ने किसी तरह भागकर अलग रह रहे अपने भाई को इस बात की जानकारी दी और दोनों ने पुलिस तो जाकर ये बात बताई। पुलिस के पहुंचने के बाद सबके सामने ये करतूत सामने आई। बता दें कि तांत्रिकों ने डेढ़ महीने तक महिला को कमरे में बंद करके रखा था। बदबू नहीं आए, इसलिए हर रोज अगरबत्ती जलाते और सेंट लगाते थे। भाई ने बयां की तांत्रिकों की करतूत...

- भाई ने बताया कि मेरा नाम श्याम सिंह है और हम तीन भाई हैं। मेरा एक भाई गोविंद फैमिली के साथ नहर रोड पर किराये से रहता है। तीसरा भाई हरियाणा वल्लभगढ़ में रहता है।

- मेरी मां उर्मिला व पिता ताराचंद व दो बहनें अनीता व मोहिनी गंगापुर सिटी में पुश्तैनी मकान में रहते हैं।

- तांत्रिक मिलकर मेरी बहन अनीता का यह कहकर इलाज कर रहे थे कि-अनीता पर भूत का साया है।

- इलाज करने के कुछ समय बाद तांत्रिकों ने कहा- अनीता अब ठीक हो गई है। इसमें अब देवी का प्रवेश हो गया है।

घर में बनवाया था मंदिर

- तांत्रिक ने हमारे घर में एक मंदिर बनवाया और फिर अनीता (मृतका) को गद्दी पर बैठाकर लोगों का इलाज करते थे।

- तांत्रिक गजेंद्र, गोपाल, मंजू, बंटी व नीटू तंत्र-मंत्र का काम करते हैं।

- आगे बताया कि हमारे घर कई लोग इलाज कराने आते थे। यह सिलसिला 10-12 साल से चल रहा है।

ये कहते थे तांत्रिक

- भाई ने बताया कि 14 जनवरी को मेरी बहन अनीता बीमार हो गई थी। जिसकाे तांत्रिकों ने उसे डॉक्टर के पास नहीं ले जाने दिया।

- मां को इतना डरा दिया था कि अगर अनीता को हॉस्पिटल या डॉक्टर के पास ले गए तो वो मर जाएगी।

- आगे बताया कि 15 जनवरी को मेरी बहन अनीता बेहोश हो गई। तांत्रिकों ने अनीता को मकान की पहली मंजिल पर एक कमरे में बंद कर दिया और तांत्रिक क्रिया करते रहे।

- फैमिली के किसी सदस्य को बाहर नहीं जाने देते थे। सिर्फ मेरी मां को कमरे में ले जाते और कहते-अनीता डेढ़ माह में वापस आ जाएगी। बस मेरी बहन को घर से बाहर नहीं जाने देते थे।

- 27 फरवरी को मेरी बहन मोहिनी मौका पाकर घर से निकली और किराये के मकान में रहने वाले भाई श्याम सिंह को इस बात की जानकारी दी।

- उसने बताया की बड़ी दीदी (अनीता) की मौत हो चुकी है। घर से बहुत ज्यादा बदबू आ रही है।

मृतका अनीता की फाइल फोटो। मृतका अनीता की फाइल फोटो।
पुलिस की गिरफ्त में तांित्रक मंजू, बंटी, नीटू चौधरी, गाेपाल सिंह (बाएं से) पुलिस की गिरफ्त में तांित्रक मंजू, बंटी, नीटू चौधरी, गाेपाल सिंह (बाएं से)
घटना के बारे में पता लगने के बाद लोगों की जमा भीड़। घटना के बारे में पता लगने के बाद लोगों की जमा भीड़।
घर सीज करने के बाद भी घर पर पुलिस का पहरा था। घर सीज करने के बाद भी घर पर पुलिस का पहरा था।
मृतका के पिता ताराचंद और मां उर्मिला मृतका के पिता ताराचंद और मां उर्मिला
शव को हॉस्पिटल लाने के बाद पंचनामा बनाते पुलिसकर्मी। शव को हॉस्पिटल लाने के बाद पंचनामा बनाते पुलिसकर्मी।
मृतका का मकान जहां वारदात को अंजाम दिया गया। मृतका का मकान जहां वारदात को अंजाम दिया गया।
X
सड़ चुका था युवती का शवसड़ चुका था युवती का शव
मृतका अनीता की फाइल फोटो।मृतका अनीता की फाइल फोटो।
पुलिस की गिरफ्त में तांित्रक मंजू, बंटी, नीटू चौधरी, गाेपाल सिंह (बाएं से)पुलिस की गिरफ्त में तांित्रक मंजू, बंटी, नीटू चौधरी, गाेपाल सिंह (बाएं से)
घटना के बारे में पता लगने के बाद लोगों की जमा भीड़।घटना के बारे में पता लगने के बाद लोगों की जमा भीड़।
घर सीज करने के बाद भी घर पर पुलिस का पहरा था।घर सीज करने के बाद भी घर पर पुलिस का पहरा था।
मृतका के पिता ताराचंद और मां उर्मिलामृतका के पिता ताराचंद और मां उर्मिला
शव को हॉस्पिटल लाने के बाद पंचनामा बनाते पुलिसकर्मी।शव को हॉस्पिटल लाने के बाद पंचनामा बनाते पुलिसकर्मी।
मृतका का मकान जहां वारदात को अंजाम दिया गया।मृतका का मकान जहां वारदात को अंजाम दिया गया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..