--Advertisement--

धारदार मांझे से श्वास नली तक गला कटा, मदद के लिए तड़पता रहा

मदद के लिए तड़पता रहा, लोगों ने हॉस्पिटल पहुंचाया, लेकिन बच नहीं सका

Danik Bhaskar | Jan 17, 2018, 03:37 AM IST

जयपुर. सीकर रोड ढेहर के बालाजी चौराहे के पास मंगलवार दोपहर धारदार मांझे से बाइक सवार व्यक्ति का गला कट गया। बाइक सवार भट्टा बस्ती निवासी पंकज जांगिड़ ने गले पर मांझा देखकर बाइक रोकी और मदद के लिए दौड़कर पास की एक दुकान में गया। श्वास नली कट जाने से आए खून से लथपथ युवक को देखकर दुकानदार भी घबरा गया, मदद के लिए इधर-उधर हाथ-पैर मारे, लेकिन सेनेट्री की दुकान होने के कारण कुछ नहीं मिला।

इस दौरान पंकज गला पकड़े-पकड़े दुकान से बाहर निकला और बेहोश होकर सीढ़ी पर गिर गया। दुकानदारों ने मदद के लिए टैक्सी व ऑटो रुकवाने का प्रयास भी किया, लेकिन कोई नहीं रुका तो एक दुकानदार दूर खड़ी वैन लाया और घायल पंकज को बैठाकर हॉस्पिटल के लिए रवाना हो गया। इस दौरान पंकज ने रास्ते में सोनी मणिपाल हॉस्पिटल की तरफ इशारा किया तो वहां ले गए। जहां उसकी मौत हो गई।

घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची मुरलीपुरा थाना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवाया और घटनास्थल से साक्ष्य जुटाकर जांच शुरू की। पुलिस ने पंकज का गला काटने वाले मांझे को समेटकर जब्त कर लिया। जिसकी जांच करवाई जाएगी।


थानाधिकारी नवीन खण्डेलवाल ने बताया कि पंकज कुछ दिनों से हरमाड़ा इलाके में बालाजी कॉलेज के पास नया मकान बनाकर परिवार के साथ रहकर अकाउंटेंट का काम करता था। मंगलवार को दोपहर में तीन बजे पंकज बाइक से 14 नंबर से चौमू पुलिया की तरफ जा रहा था। इस दौरान ढेहर के बालाजी तीन दुकान के पास दोपहर 3:15 बजे रोड पर अचानक मांझा आने से श्वास नली तक उनका गला कट गया।

मदद करने वाले दुकानदार महेन्द्र सैनी, पवन व पंकज खण्डेलवाल ने बताया कि युवक दौड़कर दुकान में आया तो खून बहता देखकर वे घबरा गए थे। युवक ने गले पर बांधने के लिए कपड़ा मांगा था। हमारी दुकान में कपड़ा नहीं मिला तो दौड़कर पास की दुकान से बर्फ लाकर सेंक करते हुए उसे अस्पताल ले गए, लेकिन पंकज बच नहीं सका।

झोटवाड़ा में पतंग उड़ाते समय छत से गिरा व्यक्ति, इलाज के दौरान मौत

झोटवाड़ा की अवधपुरी कॉलोनी में तीन दिन पहले पतंग उड़ाते समय छत से गिरने वाले व्यक्ति की इलाज के दौरान एसएमएस हॉस्पिटल में मंगलवार को मौत हो गई। सूचना पर मौके पर पहुंची झोटवाड़ा थाना पुलिस ने मृतक अजमेर निवासी नवनीत (30) के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सुपुर्द कर दिया।

एसआई मानसिंह ने बताया कि नवनीत मकर संक्रांति मनाने के लिए परिवार सहित अजमेर से जयपुर के झोटवाड़ा की अवधपुरी कॉलोनी स्थित ससुराल आया था। जहां 13 जनवरी को बच्चों के साथ पतंग उड़ाते समय अनियंत्रित होकर दूसरी मंजिल से नीचे गिर गया था। तब परिजनों ने उनको एसएमएस हॉस्पिटल में भर्ती करवाया था। मौत के बाद परिजनों ने उनकी आंखें दान की हैं।