--Advertisement--

पुलिस अरेस्ट करने पहुंची तो लापता हुए तोगड़िया, 11 घंटे बाद सड़क पर बेहोश मिले

हंगामा हुआ तो राजस्थान पुलिस ने टीम वापस बुलाई

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 04:13 AM IST

जयपुर/गंगापुर सिटी/अहमदाबाद. विहिप के फायर ब्रांड नेता प्रवीण भाई तोगड़िया के सोमवार को रहस्यमयी तरीके से लापता होने और बाद में बेहोशी की हालत में सड़क पर मिलने का हाईप्रोफाइल घटनाक्रम चला। इसके बाद उन्हें गिरफ्तार करने पहुंची सवाईमाधोपुर जिले के गंगापुर पुलिस खाली हाथ लौट आई। राजस्थान के साथ गुजरात पुलिस को भी सफाई देनी पड़ी कि तोगड़िया की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इससे पहले उनकी गिरफ्तारी की अफवाह और लापता होने की खबरों के बीच अहमदाबाद समेत कई जगह प्रदर्शन शुरू हो गए।

- बताया जा रहा है कि तोगड़िया किसी आदमी के साथ ऑटो में निकले थे। बाद में अनजान आदमी ने उनके सड़क पर पड़े होने की सूचना दी। उन्हें अहमदाबाद के अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस का कहना है कि उनका शुगर लेवल कम हो गया था। उनका इलाज जारी है।

‘सियासत’ आड़े आई, डीजीपी का स्पष्टीकरण- राजस्थान पुलिस ने नहीं किया गिरफ्तार
- तोगड़िया को लेकर गुजरात में बवाल मचने के बाद राजस्थान पुलिस के अफसरों ने अपनी टीम को वापस बुला लिया। शाम को राजस्थान के डीजीपी ओपी गल्होत्रा ने स्पष्टीकरण जारी किया कि तोगड़िया की गिरफ्तारी की बातें असत्य और निराधार हैं।
- आनन-फानन में जारी डीजीपी के बयान पर 15 की जगह 3 जनवरी की डेट डाल दी गई। बाद में डेट संशोधित कर फिर बयान जारी किया गया।


यह है मामला

गंगापुर में वर्ष 2002 में हुए सांप्रदायिक तनाव के दौरान कर्फ्यू लगा था। तोगड़िया ने उल्लंघन करते हुए यहां आम सभा की थी। केस दर्ज हुआ, लेकिन वे पेशियों पर नहीं पहुंचे। अब कोर्ट ने अंतिम अवसर देते हुए पुलिस से कहा- गिरफ्तारी वारंट से तामील कराएं।

बड़ा सवाल : 24 घंटे 36 जवानों की सुरक्षा, फिर गायब कैसे ?
तोगड़िया को जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है। 24 घंटे 36 जवान तैनात रहते हैं।