Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Vishal Bhandara At Jaipur Santha Hanuman Mandir

8000 Kg शक्कर के लड्डू, 120 क्विंटल आटे और 150 टीन घी से तैयार की प्रसाद

अलवर-मेवात क्षेत्र से पहुंचे हजारों मेव समाज के लोग, पेश की सामाजिक समरसता की मिसाल

Bhaskar News | Last Modified - Jan 31, 2018, 01:49 AM IST

  • 8000 Kg शक्कर के लड्डू, 120 क्विंटल आटे और 150 टीन घी से तैयार की प्रसाद
    +4और स्लाइड देखें

    जयपुर. हनुमान मंदिर पर आयोजित भागवत कथा के समापन पर मंगलवार को विशाल भंडारे का आयोजन हुआ। इसमें आसपास के करीब 50 से अधिक गांवों सहित अलवर और मेवात क्षेत्र के मेव समाज के हजारों महिला-पुरुषों ने पहुंचकर सामाजिक समरसता की मिसाल कायम की, जहां उन्होंने पंगत प्रसादी पाईं।


    - महवाउपखंड के ग्राम सांथा से जुड़े दर्जनों गावों में जहां समूचे गांव को निमंत्रण भेजा गया। वहीं, महवा के आस पास सहित मेवात क्षेत्र के मेव समाज के प्रबुद्ध लोगों को आमंत्रित किया गया।

    - भंडारे में प्रत्येक पंचायत व मेवात क्षेत्र से ट्रैक्टर ट्रॉली, जुगाड़, जीपों में भरकर पुरुष ढोल नगाड़े व आतिशबाजी करते हुए व महिलाएं मंगल गीत गाती हुई प्रसादी पाने पहुंची।
    - जहां गांव के पंच पटेलों, प्रबुद्धगणों ने राजनीतिक, सामाजिक लोगों, एसडीएम अजय आर्य, डीएसपी राजेन्द्र सिंह शेखावत, तहसीलदार बृजेश मंगल, विकास अधिकारी नाहर सिंह मीणा, थानाधिकारी कालूराम मीणा का माल्यार्पण व साफा बंधवाकर स्वागत किया गया। मंगलवार प्रातः से शुरू हुआ प्रसादी वितरण का दौर देर शाम तक जारी रहा।

    150 हलवाइयों ने संभाली कमान, देर शाम तक चला कार्यक्रम

    - जानकारी के अनुसार, सांथा में भागवत कथा समापन पर आयोजित भंडारे में 50 से अधिक गांवों के लोगों के लिए भंडारे में 80 क्विंटल चीनी के लड्डू, 120 क्विंटल आटे की पूरियां, डेढ़ सौ देसी घी के पीपे से प्रसादी तैयार की गई।

    - प्रसादी तैयार करने के लिए करीब डेढ़ सौ हलवाई सोमवार दोपहर से ही प्रसादी बनाने में जुट गए।

    संभाली भंडारे की बागडोर
    - साथा में हुए विशाल भंडारे को लेकर ग्रामीणों ने सामूहिक रूप से प्रसादी वितरण, लोगों के आवागमन, स्वागत सत्कार सहित अन्य जिम्मेदारी संभाली। जिसे लेकर गांव के सभी महिला पुरुष व युवाओं को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई।


    विश्व शांति की कामना
    - भागवत कथा के समापन पर भंडारे से पूर्व यज्ञ का आयोजन हुआ। जिसमें समाज के लोगों ने आहूतियां देकर सामूहिक रूप से विश्व कल्याण व समृद्धि की कामना की।

  • 8000 Kg शक्कर के लड्डू, 120 क्विंटल आटे और 150 टीन घी से तैयार की प्रसाद
    +4और स्लाइड देखें
  • 8000 Kg शक्कर के लड्डू, 120 क्विंटल आटे और 150 टीन घी से तैयार की प्रसाद
    +4और स्लाइड देखें
  • 8000 Kg शक्कर के लड्डू, 120 क्विंटल आटे और 150 टीन घी से तैयार की प्रसाद
    +4और स्लाइड देखें
  • 8000 Kg शक्कर के लड्डू, 120 क्विंटल आटे और 150 टीन घी से तैयार की प्रसाद
    +4और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×