Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Woman Semi Burnt Dead Body Revored By Police

पत्नी का हत्यारा पति कुएं में कूदा ताे लोगों ने बचाया, पुलिस ने चिता से निकाली महिला की लाश

सबूत नष्ट करने गांववालों ने महिला के शव का दाह संस्कार कर चिता को आग लगा दी थी ।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 14, 2018, 09:04 AM IST

पत्नी का हत्यारा पति कुएं में कूदा ताे लोगों ने बचाया, पुलिस ने चिता से निकाली महिला की लाश

सवाई माधोपुर. सूरवाल थाना क्षेत्र के बंधा गांव में शनिवार को एक पति ने पत्नी के साथ गंभीर मारपीट कर हत्या कर दी। मारपीट में सात वर्षीय बच्चा भी गंभीर घायल हो गया। पत्नी व बच्चे के साथ मारपीट करने के बाद पति खुद भी कुए में कूद गया। घटना के बाद ग्रामीणों ने पति को कुएं से निकाला तथा सबूत नष्ट करने के लिए महिला के शव का दाह संस्कार कर चिता को आग लगा दी। महिला का शव पूरा जलता इससे पहले ही शमशान घाट पहुंची सूरवाल थाना पुलिस ने अधजले शव को चिता से निकाल कर अपने कब्जे में किया।

कारण : खेत में काम करते समय पति-पत्नी में हुआ विवाद
सूत्रों की मानें तो पति गंदयोड़ा मीना व पत्नी में खेत पर काम करते समय ही किसी बात को लेकर विवाद हो गया। इसके बाद पति ने पत्नी रमेशी (30) व बच्चे के साथ गंभीर मारपीट की। इसमें पत्नी की मौत हो गई, जबकि बालक गंभीर घायल हो गया। घटना के बाद खुद पति भी कुए में कूद गया। लेकिन ग्रामीणों ने पति गंदयोड़ा को कुए से सुरक्षित बाहर निकाल लिया। उधर सर में गंभीर चौट आने के कारण बच्चे को ग्रामीणों ने जिला मुख्यालय स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां से चिकित्सकों ने बच्चे के हेडइंजरी होने के कारण जयपुर रेफर कर दिया।


यूं चला पता : दाह संस्कार करने से पहले पुलिस को आया फोन
सूरवाल थानाधिकारी अनूप सिंह चौधरी से प्राप्त जानकारी के अनुसार किसी ने सूरवाल थाने में शाम को साढे चार बजे लेंड लाइन पर फोन किया कि ग्राम बंधा में महिला की हत्या कर ग्रामीणों द्वारा शव को जलाने की तैयारी की जा रही है। इस पर सूरवाल थाना पुलिस मौके पर पहुंची। वहां देखा तो श्मशान घाट में एक चिता जल रही थी। उन्होंने बताया कि मृतका रमेशी मीना पत्नी गंदयोड़ा मीना निवासी बंधा है। पुलिस घटना के हर पहलुओं पर जांच कर मामले की तह में जाने का प्रयास कर रही है।

जब भाई पहुंंचा तो जल रही थी चिता
पुलिस थानाधिकारी ने बताया कि श्मासन में मृतका का भाई रामराज भी मौजूद था। मृतका के भाई ने पुलिस को बताया कि बंधा गांव में ही रहने वाली उसकी दूसरी बहन रेखा ने उसे फोन पर बताया कि बहन रमेशी एवं बेटे अभिषेक को उसके पति ने मार दिया। सूचना पर वह भी गांव पहुंचा, यहां लोग उसकी बहन रमेशी के शव को चिता पर रखकर अंतिम संंस्कार कर रहे थे।

इस मामले में अभी तक परिवार की तरफ से रिपोर्ट नहीं मिली है। मृतका के परिजन आ गए हैं। उसके भाई से भी बात की है। शव काफी हद तक जल चुका है। इसके बावजूद उसका काफी हिस्सा बाकी है। कल पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। पुलिस ने पूरी कार्रवाई फोन पर मिली सूचना के आधार पर ही की है। आगे की सारी बात जांच के बाद ही पता चलेगी।

दहशत : गांव के सारे पुरुष फरार
महिला की हत्या एवं उसके अंतिम संस्कार के दौरान पुलिस द्वारा चिता से शव को निकलवाने की घटना के बाद गांव में दहशत का माहौल है। हत्या और उसके बाद गांव वालों की मौजूदगी में बिना पुलिस को सूचित किए अंतिम संस्कार में शामिल होना भी अपराध की श्रेणी में आता है। ऐसे में इस घटना के बाद से सभी लोग इस बात से आतंकित है कि कही उनका नाम इस में किसी प्रकार शामिल नहीं हो जाए। इस भय के कारण जहां गांव के पुरूष यहां वहां गायब हो गए वहीं महिलाएं भी अपना मुंह बंद कर घरों में दुबक गई। मोहल्ले के अधिकांश घरों में कोई नहीं था। लोग घर छोड़ कर भाग गए। जिन हथाईयों पर देर तक वार्ता के दौर चलते थे, आज वहां एक भी व्यक्ति नहीं मिला। गांव के अधिकांश लोग या तो छिपे हुए है या गांव से बाहर चले गए है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×