जयपुर

--Advertisement--

हाइवे पर लूट के दो और आरोपित गिरफ्तार

चंदवाजी पुलिस ने जयपुर दिल्ली राजमार्ग पर अमेटी यूनिवर्सिटी के पास जयपुर के एक परिवार के साथ 19 फरवरी को हुई लूटपाट...

Danik Bhaskar

Mar 04, 2018, 02:35 AM IST
चंदवाजी पुलिस ने जयपुर दिल्ली राजमार्ग पर अमेटी यूनिवर्सिटी के पास जयपुर के एक परिवार के साथ 19 फरवरी को हुई लूटपाट के दो और आरोपियों को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया। इससे पहले पुलिस ने घटना के छठवें दिन की लूट की घटना का पर्दाफाश करते हुए तत्परता दिखाते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था।

चंदवाजी थाना अधिकारी अमीर हसन के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम में एसआई मनोज कुमार, एएसआई रामचंद्र, हेडकांस्टेबल सुभाषचंद्र, शंकरलाल, कांस्टेबल रामस्वरूप, रोहिताश की टीम ने अपने गोपनीय सूत्रों के आधार पर मोबाइल तकनीकी का इस्तेमाल करते हुए घटना के छठवें दिन ही लूट के तीन आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए घटना का पर्दाफाश कर दिया था। शेष आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस आरोपियों का जोर शोर से तलाश कर रही थी।

थाना अधिकारी अमीर हसन ने बताया कि 19 फरवरी की रात को हुई लूटपाट की घटना के आरोपी विक्रम रावत, सिकंदर, विकास उर्फ कालू योगी को गिरफ्तार किया गया था। जिन के कब्जे से पीड़ित जयपुर निवासी कलीम अहमद की लूटी हुई कार, एक डाटाकार्ड, पांच मोबाइल, चार डंडे, एक एयरगन बरामद की गई थी। आरोपियों से घटना में प्रयुक्त थाना नसीराबाद से लूटी स्विफ्ट डिजायर कार, थाना भिनाय अजमेर से लूटी एक वैगनआर कार भी बरामद की गई। आरोपियों की पीड़ित परिवादी द्वारा केंद्रीय कारागार में शिनाख्त परेड करवाई जाकर पुणे पुलिस अभिरक्षा में लिया जाकर शेष लूट के माल की बरामदगी के प्रयास किए गए। आरोपियों से अन्य वारदातों के संबंध में पूछताछ की गई, जिसमें उन्होंने घटना में सात आरोपी होना बताया। जिनमें से शनिवार को आरोपियों के घर पर दबिश देते हुए पुलिस टीम ने महिपाल उर्फ कालू पुत्र रामकुमार गुर्जर, सुरेश कुमार पुत्र कैलाश चंद गुर्जर निवासी इश्क पूरा थाना सिंघाना झुंझुनूं को बापर्दा गिरफ्तार किया गया। घटना के शेष दो आरोपियों की सरगमी से तलाश की जा रही है।

चंदवाजी. पुलिस गिरफ्त में लूट के दो आरोपित।

भास्कर न्यूज | चंदवाजी

चंदवाजी पुलिस ने जयपुर दिल्ली राजमार्ग पर अमेटी यूनिवर्सिटी के पास जयपुर के एक परिवार के साथ 19 फरवरी को हुई लूटपाट के दो और आरोपियों को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया। इससे पहले पुलिस ने घटना के छठवें दिन की लूट की घटना का पर्दाफाश करते हुए तत्परता दिखाते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था।

चंदवाजी थाना अधिकारी अमीर हसन के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम में एसआई मनोज कुमार, एएसआई रामचंद्र, हेडकांस्टेबल सुभाषचंद्र, शंकरलाल, कांस्टेबल रामस्वरूप, रोहिताश की टीम ने अपने गोपनीय सूत्रों के आधार पर मोबाइल तकनीकी का इस्तेमाल करते हुए घटना के छठवें दिन ही लूट के तीन आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए घटना का पर्दाफाश कर दिया था। शेष आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस आरोपियों का जोर शोर से तलाश कर रही थी।

थाना अधिकारी अमीर हसन ने बताया कि 19 फरवरी की रात को हुई लूटपाट की घटना के आरोपी विक्रम रावत, सिकंदर, विकास उर्फ कालू योगी को गिरफ्तार किया गया था। जिन के कब्जे से पीड़ित जयपुर निवासी कलीम अहमद की लूटी हुई कार, एक डाटाकार्ड, पांच मोबाइल, चार डंडे, एक एयरगन बरामद की गई थी। आरोपियों से घटना में प्रयुक्त थाना नसीराबाद से लूटी स्विफ्ट डिजायर कार, थाना भिनाय अजमेर से लूटी एक वैगनआर कार भी बरामद की गई। आरोपियों की पीड़ित परिवादी द्वारा केंद्रीय कारागार में शिनाख्त परेड करवाई जाकर पुणे पुलिस अभिरक्षा में लिया जाकर शेष लूट के माल की बरामदगी के प्रयास किए गए। आरोपियों से अन्य वारदातों के संबंध में पूछताछ की गई, जिसमें उन्होंने घटना में सात आरोपी होना बताया। जिनमें से शनिवार को आरोपियों के घर पर दबिश देते हुए पुलिस टीम ने महिपाल उर्फ कालू पुत्र रामकुमार गुर्जर, सुरेश कुमार पुत्र कैलाश चंद गुर्जर निवासी इश्क पूरा थाना सिंघाना झुंझुनूं को बापर्दा गिरफ्तार किया गया। घटना के शेष दो आरोपियों की सरगमी से तलाश की जा रही है।

Click to listen..