Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» पंजाबी गबरू रंधावा की हाई रेटेड परफॉर्मेंस

पंजाबी गबरू रंधावा की हाई रेटेड परफॉर्मेंस

रविवार का दिन जयपुर यंगस्टर्स के लिए कुछ खास रहा। दो दिन से चल रहे पंजाबी म्यूजिक फेस्टिवल में पंजाब की धुनों में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:40 AM IST

पंजाबी गबरू रंधावा की हाई रेटेड परफॉर्मेंस
रविवार का दिन जयपुर यंगस्टर्स के लिए कुछ खास रहा। दो दिन से चल रहे पंजाबी म्यूजिक फेस्टिवल में पंजाब की धुनों में रमे यंगस्टर्स का उत्साह तब चरम पर पहुंच गया जब शर्ली सेतिया और गुरु रंधावा ने स्टेज संभाला। दो दिन करीब 30 पंजाबी कलाकारों ने जेईसीसी को कुछ घंटों के लिए पंजाब के रंग में रंग दिया। चाहे वो परमिश वर्मा हो या फिर युवराज हंस अपने गानों से दर्शकों के दिल में उतर गए। हर कलाकार ने अपनी परफॉर्मेंस से दर्शकों को सुरों की सैर करवाई। जब शर्ली ने स्टेज पर एंट्री की तो युवाओं का जोश और बढ़ गया। शर्ली ने ‘ये काली काली आंखें’, ‘ओ -ओ जाने जाना ढूंढ़े तुझे दीवान’ जैसे रिमिक्स गानों को आवाज दी। इन गानों की परफॉर्मेंस से 90 के दशक की यादें ताजा कर दीं। गौरतलब है कि गाना क्रॉसब्लैड पंजाबी और दैनिक भास्कर की ओर से जेईसीसी में आयोजित पंजाबी फेस्टिवल का समापन हुआ। दूसरे दिन पंजाबी मीट्स राजस्थान, सूफी एक्ट बाय रूप सिधु, डॉली सिधु, शर्ली सेतिया और गुरू रंधावा की प्रस्तुति हुई।

Musical Night

jaipur, monday, 02/04/2018

जब गाने लिखे तो लोगों ने बोला नहीं चलेंगे

यंगस्टर्स अगर किसी का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे, तो वो गुरू रंधावा थे। इस हाई रेटेड गबरू ने पल भर भी फैन्स को इंतजार नहीं करवाया। इस सिंगर की खासियत थी परफॉर्मेंस के बीच अपने स्ट्रगल के किस्से फैन्स से साझा करना। जैसे ही जदों निकले हाय नि, जदों निकले, जदों निकले पटोला बनके मुड़ेयां दी जान ते बने शुरू किया तो एक जोश की लहर दर्शकों के बीच दौड़ना लाजिमी था। इसके बाद गुरु ने कहा, जब मैंने अपना कॅरिअर शुरू किया तो लोगों ने मुझे टोका कि ऐसे गाने नहीं चलेंगे। मैंने खुद पर विश्वास रखा और रिजल्ट आपके सामने है। इसके बाद बन जा तू मेरी रानी तेनु महल दवा दूंगा, बन मेरी महबूबा मैं तेनु ताज पवा दूंगा शुरू किया।

लिरिक्स में शामिल हुआ जयपुर

जयपुराइट्स के दिलों में कैसे उतरना है ये गुरु अच्छे से जानते थे तभी तो उन्होंने अपने गाने के लिरिक्स में से पंजाब हटा कर जयपुर शामिल किया। कभी वो इमोशनल हुए तो कभी हाई एनर्जी बीट छेड़ कर लोगों को थिरकने पर मजबूर कर दिया। ओ लगदी लाहौर दी आ जिस हिसाब नाल हँसदी आ ओ लगदी जयपुर दी आ जिस हिसाब नाल लग दी सहित हिट नम्बर्स की पूरे एक घंटे तक प्रस्तुति दी।

फोटो : मनोज श्रेष्ठ

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×