Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» पारसी नाटक ‘ताेता अाैर आईना’ में दिखी पावर की लालसा

पारसी नाटक ‘ताेता अाैर आईना’ में दिखी पावर की लालसा

जयपुर | रवींद्र मंच पर चल रहे थिएटर अाेलिंपिक में जम्मू के माेती लाल केमू निर्देशित नाटक ‘ताेता अाैर आईना’ का मंचन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 03:05 AM IST

पारसी नाटक ‘ताेता अाैर आईना’ में दिखी पावर की लालसा
जयपुर | रवींद्र मंच पर चल रहे थिएटर अाेलिंपिक में जम्मू के माेती लाल केमू निर्देशित नाटक ‘ताेता अाैर आईना’ का मंचन हुआ। मंच का पर्दा उठते ही नजर अाता है घने जंगल जैसा दृश्य जिसमें दाे पात्र अदारंग अाैर सदारंग डरते हुए मंजीरा अाैर ढाेल बजाते चले जा रहे हैं। दाेनाें किरदार कहते हैं शरण उस अादिदेव के हाे जाअाे जाे सब विघ्न दूर करे। इसके बाद नाटक अागे बढ़ता हुअा कई गंभीर संवादाें के जरिए नाैकरशाही में पावर की लालसा रखने वालाें की प्रवृत्ति काे उजागर करता है।

संवादों में तुकबंदी

नाटक का प्रस्तुतिकरण पारसी शैली के अंदाज में था जिसमें संवादाें में तुकबंदी का समावेश सुनने याेग्य था। सबसे प्रभावशाली दृश्य था जब राजा विक्रमादित्य और उनके सेवक को एक साधु से वरदान मिलता है कि वे अपने शरीर को छोड़कर दूसरे के शरीर में जा सकते हैं। एक दिन जंगल से गुजरते हुए राजा यह देखकर कि मादा तोते का साथी किसी शिकारी के तीर का शिकार हो गया है और मादा दुखी है, तोते की देह धारण कर लेता है। सेवक, राजा की देह में प्रवेश कर जाता है ताकि अपनी देह का अंतिम संस्कार करके राजगद्दी पर बैठ जाए। समाराेह के समापन पर रविवार शाम 7 बजे रंग सारथी संस्था, फरीदाबाद के कलाकार अशाेक एस.भगत के निर्देशन में नाटक शस्त्र संतान का मंचन करेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×