--Advertisement--

अरे छोरा नंदजी का फागण में रास रचा जा रे

News - होली की पूर्व संध्या बुधवार को छोटी काशी के मंदिरों में फागोत्सव की धूम रही। इसी क्रम में बड़ी चौपड़ स्थित लक्ष्मी...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:05 AM IST
अरे छोरा नंदजी का फागण में रास रचा जा रे
होली की पूर्व संध्या बुधवार को छोटी काशी के मंदिरों में फागोत्सव की धूम रही। इसी क्रम में बड़ी चौपड़ स्थित लक्ष्मी नारायण बाई जी मंदिर में ठाकुर श्रीलक्ष्मी नारायण जी को रंग बिरंगी गुलाल से तैयार पोशाक धारण कराई गई। गुलाल के रंगों में रंगी फूल मालाओं से आकर्षक शृंगार किया गया। ठाकुरजी के गर्भगृह को विभिन्न तरह की गुलाल से भरे थाल से सजाया गया। इसके बाद फागुनी रचनाओं का दौर चला जो देर शाम तक जारी रहा। राधे श्याम शुक्ला, शुभम् शुक्ला ने गणेश वंदना, गुरु वंदना के साथ फागोत्सव का शुभारंभ किया। उन्होंने ओ रे छोरा नंद जी का फागण में रास रचा जा रे, बाबा श्याम के दरबार मची रे होली , तुम झोली भर लो रंग और गुलाल से होली खेलन का आपा गिरधर गोपाल से, नैना नीचा करले श्याम ने रिझावली काई...जैसे फागुनी भजन सुनाकर श्रद्धालुओं को नाचने पर मजबूर कर दिया। श्रीकृष्ण, राधा, गोपी, ग्वाले के स्वरूप बने बालकों ने फूलों की होली के बीच नृत्य किया।

नहर के गणेशजी के दरबार में गूंजे फाग गीत

नहर के गणेशजी महाराज मंदिर में बुधवार को नृत्य गायन, वादन के साथ फागोत्सव मनाया गया। मंदिर महंत पं. जय शर्मा के सान्निध्य में सुबह मंगला आरती से ही भक्तों ने गणेशजी महाराज की फागुणियां झांकी के दर्शन करने शुरू कर दिए। रात होते-होते तो हजारों भक्तों ने झांकी के दर्शन कर महाराज के दरबार में हाजरी लगाई। वही, जाने-माने संगीतज्ञों और लोक कलाकारों ने अपनी फाग गीतों, भजनों और नृत्यों की प्रस्तुतियों से मंदिर परिसर को गूंजायमान कर दिया।

बंगाली बाबा गणेशजी मंदिर में फागोत्सव

श्रीप्रेमभाया मंडल समिति व बंगाली बाबा चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में बुधवार को रामगढ़ मोड पर श्री बंगाली बाबा गणेशजी का मंदिर में फागोत्सव मनाया गया। समिति के संरक्षक ललित किशोर शर्मा ने चलो वृषभानदुलारी खेलत फाग मुरारी... के साथ फागोत्सव शुरुआत की। इसके बाद ‘नंदबाबा रा लाडला होली का रसिया सांवरा...’ ‘सावरिया आवो जी, सजीली चितवन में...’ फाग गीतों की प्रस्तुतियां दी गईं।

अाराध्य गोविंददेवजी आज भक्तों संग खेलेंगे होली

अाराध्य देव गोविंददेवजी गुरुवार को भक्तों के साथ गुलाल होली खेलेंगे। भक्त ठाकुरजी को अरारोट मिली गुलाल अर्पित करेंगे। वहीं ठाकुरजी भी भक्तों पर गुलाल उड़ाकर होली खेलेंगे। इसके बाद महाप्रभु चैतन्य देव जयंती भी मनाई जाएगी। प्रवक्ता मानस गोस्वामी ने बताया कि महंत अंजन कुमार गोस्वामी के सान्निध्य में निज मंदिर प्रांगण में राजभोग आरती के बाद गुलाल होली खेली जाएगी। बुधवार को मंदिर प्रांगण में होली पद गायन हुआ।

X
अरे छोरा नंदजी का फागण में रास रचा जा रे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..