Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» कारोबारी की जड़ें तो भ्रष्टाचार के मामले में नेताओं से भी गहरीं : मुनि तरुण सागर

कारोबारी की जड़ें तो भ्रष्टाचार के मामले में नेताओं से भी गहरीं : मुनि तरुण सागर

आचार्य मुनि तरुण सागर महाराज ने कहा है कि हमें जीवन में सुख-शांति के लिए सद्कर्मों करने चाहिए। राशिफल, ज्योतिष व...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 03:05 AM IST

कारोबारी की जड़ें तो भ्रष्टाचार के मामले में नेताओं से भी गहरीं : मुनि तरुण सागर
आचार्य मुनि तरुण सागर महाराज ने कहा है कि हमें जीवन में सुख-शांति के लिए सद्कर्मों करने चाहिए। राशिफल, ज्योतिष व तंत्र-मंत्र पर विश्वास नहीं करना चाहिए। साथ ही नीरव मोदी, माल्य सहित अन्य कारोबारियों का जिक्र करते हुए वर्तमान में भ्रष्टाचार को एक गंभीर समस्या भी बताया। उन्होंने कहा विधानसभा में भूत का साया नहीं बल्कि भ्रष्टाचार का भूत जरूर है।

महाराज ने बुधवार को प्रेस वार्ता में यह विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि राशि तो राम और रावण, ओबामा-ओसामा, कृष्ण और कंस की एक ही थी, लेकिन वही राशि एक के लिए श्राप बनी तो दूसरे के लिये वरदान। फर्क था केवल कर्म का। हमें सद्कर्म करते हुए जीवन व्यतीत करना चाहिए । उन्होंने कहा कि वर्तमान में भ्रष्टाचार एक गंभीर समस्या है। नीरव मोदी, माल्या जैसे कारोबारी की जड़ें तो भ्रष्टाचार के मामले में नेताओं से भी गहरी हैं। उन्होंने कहा कि समाज के प्रत्येक नागरिक को सतर्क रहते हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज बुलंद करनी चाहिए। यदि देश में से भ्रष्टाचार खत्म हो जाता है तो कुछ ही अवधि में विकसित देशों की श्रेणी में आ जाएगा।

तरुण सागरजी ने कहा कि बाबर एक सामाजिक आक्रांता था। हिन्दुस्तान में वह किसी भी रूप में लोगों के लिए आदर्श नहीं बन सकता है। यदि कुछेक उसको आदर्श मानते हैं तो किसी भी सूरत में हिन्दूस्तानी नहीं हो सकते हैं। उन्होंने रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर कहा कि न्यायालय से ही इसका हल निकाला जा सकता है। उन्होंने आतंकवाद पर बोलते हुए कहा कि आतंकवाद किसी समस्या का हल नहीं। देश में एकता और मानवता का पाठ पढ़ाना जरूरी है।

21वीं सदी में भूत-प्रेत पर विश्वास समझदारी नहीं

विधानसभा में भूत-प्रेत का साया मामले पर कहा कि 21वीं सदी में भूत-प्रेत पर विश्वास करना समझदारी नहीं है। विधानसभा में भ्रष्टाचार का भूत जरूर है, उसे निकाला जाना आवश्यक है। नेताओं को डर भूतों से नहीं बल्कि भूतपूर्व होने से है। उन्होंने कहा कि राजस्थान विधानसभा बहुत सुंदर होने के साथ अभूतपूर्व है। उन्होंने तीन तलाक के मुद्दे पर कहा कि यह बिल महिलाओं के हित में है। जो लोग इस बिल का विरोध कर रहे हैं, असल में वो महिलाओं के सशक्तिकरण के विरोधी हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: कारोबारी की जड़ें तो भ्रष्टाचार के मामले में नेताओं से भी गहरीं : मुनि तरुण सागर
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×